सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

पशु प्रबंध

इस पृष्ठ में पशु प्रबंध कैसे कर सकते है, इसकी जानकारी दी गयी है।

परिचय

श्री राजकुमार के पास 25  पशुओं के लिए आवास व्यवस्था है साथ ही पशुओं को काफी खुला स्थान भी दिया गया जहाँ पशु समय-2 पर आराम कर सकें। श्री राज ने अलग से 20 बछड़ियों  को पाल रखा है जिन्हें वह गाय बनाकर बेचना चाहता है। ये अपने पशुओं को समय-समय पर अन्तः परजीवियों के लिए दवाई देते हैं परजीवियों को नियंत्रण में रखने के लिए दवाई लगाते हैं। श्री राजकुमार पशुओं को बीमारी से बचाने के लिए खुर पका मुहँ पका वैक्सीन प्रति वर्ष एक  बार व गोलगोटू वैक्सीन प्रति वर्ष एक बार लगाई जाती है। पशुओं की सफाई का विशेष ध्यान रखा जाता है। पशुओं के लिए साफ पानी की व्यवस्था है। श्री राजकुमार  अपने  पशुओं का अधिक से अधिक हरा चारा उपलब्ध कराते हैं व स्वयं बनाकर दाना उपलब्ध कराते हैं।

पशु प्रजनन

श्री राज कुमार  अपने पशुओं को कृत्रिम गर्भाधान द्वारा गाभिन कराते हैं। जिसके लिए पशु व्यवस्था राष्ट्रीय डेरी अनुसन्धान, करनाल विभाग उत्तरप्रदेश व् हैसर गट्टा (कर्नाटका) से करते हैं। श्री राजकुमार अपने पशुओं के अतिरिक्त गाँव के पशुओं का भी कृत्रिम गर्भाधान करते हैं।

दूध उत्पादन एवं इससे आर्थिक लाभ

श्री राज कुमार प्रतिदिन 100 लीटर दूध पशुओं से प्राप्त करके बेचते हैं। वे भैंस 13 रु. प्रति लीटर व गायों का दूध 10 रु. लीटर बेचते हैं व प्रतिमाह लगभग हजार रु. का शुद्ध लाभ पशुपालन से कमाते हैं। इसके अतिरिक्त वे कुछ कमाई गर्भाधान एवं प्राथमिक पशु चिकित्सा करके भी प्राप्त करते हैं।

स्त्रोत:  कृषि विभाग, झारखण्ड सरकार

 

 

 

3.23076923077

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
Back to top

T612018/10/15 21:12:3.936907 GMT+0530

T622018/10/15 21:12:3.965419 GMT+0530

T632018/10/15 21:12:4.003379 GMT+0530

T642018/10/15 21:12:4.003859 GMT+0530

T12018/10/15 21:12:3.872311 GMT+0530

T22018/10/15 21:12:3.872520 GMT+0530

T32018/10/15 21:12:3.872676 GMT+0530

T42018/10/15 21:12:3.872825 GMT+0530

T52018/10/15 21:12:3.872919 GMT+0530

T62018/10/15 21:12:3.873009 GMT+0530

T72018/10/15 21:12:3.873851 GMT+0530

T82018/10/15 21:12:3.874058 GMT+0530

T92018/10/15 21:12:3.874298 GMT+0530

T102018/10/15 21:12:3.874540 GMT+0530

T112018/10/15 21:12:3.874589 GMT+0530

T122018/10/15 21:12:3.874699 GMT+0530