सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / कृषि / सर्वोत्कृष्ट कृषि पहल
शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

सर्वोत्कृष्ट कृषि पहल

यह भाग स्थायी कृषि, पशुपालन, मत्स्य पालन, कृषि आधारित उद्यम केस अध्ययनों के रुप में अपनाई जाने वाले विस्तार तरीकों और विशेषज्ञों एवं पेशेवर के अनुभवों की जानकारी देता है।

एस.आर.आई (श्री)
यह भाग श्री विधि पर जानकारी प्रस्तुत करता है।
सुस्थिर कृषि
इस लेख में सुस्थिर कृषि के सभी तथ्यों के ऊपर जानकारी दी गयी है जिसका फायदा पूरे देश के किसानों ने उठाया है| साथ ही आत्मनिर्भरता और महिलाओं की भागीदारी भी सुनिश्चित की गयी है|
कृषि आधारित व्यवसाय
इस लेख में समय के साथ कृषि क्षेत्र में बढ़ रहे तकनीकों का विश्लेषण है जिनमें आधुनिक नर्सरी की स्थापना, मधुमक्खी पालन, रेशम उत्पादन और नयी सब्जियों के उत्पादन पर विशेष जोर दिया गया है।
विस्तार प्रथाएं
किसानों द्वारा अपनाई विस्तार प्रथाओं और नई प्रौद्योगिकियों में के रुप में अपनाए जा रहे नवाचारों को प्रस्तुत किया गया है।
जैविक खेती
इस भाग में जैविक खेती के बारे में विस्तृत जानकारी देने के साथ जैविक खाद के प्रयोग तथा देश में सफलतापूर्वक उपयोग में लाये जाने के बारें में अवगत कराया गया है।
कृषि की नवीनतम अवधारणाएँ
इस भाग में कृषि से सम्बंधित नवीन पहलुओं तथा उससे जुड़ीं अद्यतन जानकारी दी गई है।
पारम्परिक प्रौद्योगिकी पद्धतियाँ
इस खंड में देश में प्रचलित पारंपरिक प्रौद्योगिकी पद्धतियों के बारे में बताया गया है।
झारखण्ड में बागवानी फसलों की जैविक कृषि
इस भाग में झारखण्ड में बागवानी फसलों के जैविक कृषि, कीटनाशक ओर कम्पोस्ट के बारे में उल्लेख किया गया है|
किसानों की अभिनव पहल
इस भाग में किसानों द्वारा खेती में सुधार हेतु अपनाई जा रहीं अभिनव पहल को प्रस्तुत किया गया है।
फलों की खेती- उत्कृष्ट प्रयास
इस भाग में विभिन्न फलों की खेती को सफलतापूर्वक अपना रहे उन किसानों के उत्कृष्ट प्रयासों को प्रस्तुत किया जा रहा है जिनसे प्रेरित होकर अन्य किसानों ने भी इन्हें अपनाया।

नेवीगेशन
Back to top

T612018/01/24 09:09:3.555219 GMT+0530

T622018/01/24 09:09:3.573730 GMT+0530

T632018/01/24 09:09:3.573839 GMT+0530

T642018/01/24 09:09:3.574117 GMT+0530

T12018/01/24 09:09:3.533472 GMT+0530

T22018/01/24 09:09:3.533649 GMT+0530

T32018/01/24 09:09:3.533792 GMT+0530

T42018/01/24 09:09:3.533943 GMT+0530

T52018/01/24 09:09:3.534043 GMT+0530

T62018/01/24 09:09:3.534116 GMT+0530

T72018/01/24 09:09:3.534727 GMT+0530

T82018/01/24 09:09:3.534896 GMT+0530

T92018/01/24 09:09:3.535112 GMT+0530

T102018/01/24 09:09:3.535317 GMT+0530

T112018/01/24 09:09:3.535375 GMT+0530

T122018/01/24 09:09:3.535475 GMT+0530