सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

संभावित सूखों का निदान

इस भाग में संभावित सूखों का निदान से संबंधित जानकारी दी गई है।

प्राप्त अनुभवों के आधार पर हमारे कृषि चक्रों के विभिन्न अवस्थाओं के लिए आने वाले सूखों की चेतावनी भरे संकेतों की पहचान की गई है। ये निम्नलिखित हैं:

खरीफ़ के लिए ( जून से अगस्त तक बुआई)

  • दक्षिणी-पश्चिमी मॉनसून आने में विलंब
  • दक्षिणी-पश्चिमी मॉनसून के क्रियाकलापों में लंबी "अंतराल"
  • जुलाई माह के दौरान कम वर्षा
  • चारा के मूल्य में वृद्धि
  • जलाशय स्तर में बढ़ने की प्रवृत्ति खत्म होना
  • ग्रामीण पीने के पानी की आपूर्ति के स्रोतों का सूखना
  • "सामान्य वर्षों" के संगत आंकड़ों की तुलना में सप्ताह दर सप्ताह की जाने वाली बुआई की प्रगति में कमी की प्रवृत्ति

रबी के लिए ( नवंबर से जनवरी तक बुआई)

  • दक्षिणी-पश्चिमी मॉनसून (30 सितंबर) के लिए समाप्त आँकड़ों में कमी,
  • "सामान्य वर्षों" के आँकड़ों की तुलना में जमीन के अंदर के पानी के स्तर में गंभीर कमी,
  • "सामान्य वर्षों" के संगत आँकड़ों की तुलना में जलागार के स्तर में कमी- दक्षिणी-पश्चिमी मॉनसून के बाद ठीक से नहीं भरा होने के लक्षण,
  • चिह्नित मिट्टी की नमी के तनाव का लक्षण,
  • चारा के मूल्य में वृद्धि,
  • टैंकरों की मदद से पानी के फैलाव में वृद्धि,
  • (तमिलनाडु और पांडिचेरी के लिए महत्वपूर्ण अवधि उत्तर पूर्वी मॉनसून - अक्टूबर से दिसंबर होती है)


अन्य मौसम

गुजरात, मध्य प्रदेश, मराठवाड़ा और उत्तरी आंतरिक कर्नाटक क्षेत्रों के लिए महत्वपूर्ण अवधि मार्च/अप्रैल होती है जिस समय पानी संबंधी सूखा के कारण कई क्षेत्रों में पीने का पानी गंभीर रुप से कम हो जाता है।
कुछ विशेष राज्यों और खास फसलों के लिए वर्षा की कुछ खास अवधि होती है जिस समय वर्षा का होना बहुत महत्वपूर्ण होता है। जैसे बागानी फसलों के लिए केरल में फरवरी में वर्षा होना।

स्त्रोत

  • पोर्टल विषय सामग्री टीम
3.00952380952
सितारों पर जाएं और क्लिक कर मूल्यांकन दें

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
Back to top

T612020/02/18 06:02:2.592157 GMT+0530

T622020/02/18 06:02:2.614335 GMT+0530

T632020/02/18 06:02:2.805428 GMT+0530

T642020/02/18 06:02:2.805933 GMT+0530

T12020/02/18 06:02:2.567266 GMT+0530

T22020/02/18 06:02:2.567461 GMT+0530

T32020/02/18 06:02:2.567628 GMT+0530

T42020/02/18 06:02:2.567774 GMT+0530

T52020/02/18 06:02:2.567865 GMT+0530

T62020/02/18 06:02:2.567941 GMT+0530

T72020/02/18 06:02:2.568704 GMT+0530

T82020/02/18 06:02:2.568898 GMT+0530

T92020/02/18 06:02:2.569125 GMT+0530

T102020/02/18 06:02:2.569343 GMT+0530

T112020/02/18 06:02:2.569390 GMT+0530

T122020/02/18 06:02:2.569483 GMT+0530