सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

टमाटर

इस पृष्ठ में टमाटर के फसल की विकसित किस्मों की जानकारी दी गयी है।

स्वर्ण लालिमा

  • फल गहरे लाल, गोल (120-125 ग्राम) एवं कुल घुलनशील ठोस पदार्थ 4-5%
  • जीवानुज मुरझा रोग  प्रतिरोधी  तथा सिमित बढ़वार वाली किस्म
  • पौधशाला में बुआई का समय फरवरी-अप्रैल एवं जुलाई-सितम्बर
  • रोपाई की दूरी 60 सेंटीमीटर X 50 सेंटीमीटर
  • बीज दर 150-200 ग्राम प्रति/हे.
  • रोपाई के 55-60  दिन बाद फल प्रथम तुड़ाई के लिए तैयार
  • उपज 600 -700 क्वि./हे.
  • बिहार और  झारखण्ड खेती के लिए हेतु अनुमोदित

स्वर्ण नवीन

  • फल गहरे लाल रंग के अंडाकार (60-70 ग्राम) एवं कुल घुलनशील पदार्थ 5%
  • जीवानुज मुरझा रोग  प्रतिरोधी  तथा असिमित बढ़वार वाली किस्म
  • पौधशाला में बुआई का समय अप्रैल-मई  एवं जुलाई-सितम्बर
  • रोपाई की दूरी 60 सेंटीमीटर X 50 सेंटीमीटर
  • बीज दर 150-200 ग्राम प्रति/हे.
  • रोपाई के 60-65  दिन बाद फल प्रथम तुड़ाई के लिए तैयार
  • उपज 600 -650 क्वि./हे.
  • बिहार, झारखण्ड एंव सीमावर्ती क्षेत्रों में खेती के लिए अनुमोदित

स्वर्ण वैभव (संकर)

  • फल गहरे लाल रंग के गोल (140-150 ग्राम) ठोस एवं कुल घुलनशील पदार्थ 5%
  • दूरवर्ती  बाजार और प्रसंस्करण के लिए उपयुक्त, एवं सिमित बढ़वार वाली किस्म
  • पौधशाला में बुआई का समय सितम्बर-अक्टूबर
  • रोपाई की दूरी 60 सेंटीमीटर X 40 सेंटीमीटर
  • बीज दर 125-150 ग्राम प्रति/हे.
  • रोपाई के 55-60  दिन बाद फल प्रथम तुड़ाई के लिए तैयार
  • उपज 900 -1000 क्वि./हे.
  • बिहार, झारखण्ड, पंजाब एंव उत्तर प्रदेश में खेती के लिए अनुमोदित

स्वर्ण समृद्धि (संकर)

  • फल लाल, ठोस (70-80 ग्राम) एवं कुल घुलनशील पदार्थ 5-6%
  • जीवानुज मुरझा और अगेती अंगमारी रोगों के लिए   प्रतिरोधी  एवं सिमित बढ़वार वाली किस्म
  • पौधशाला में बुआई का समय अप्रैल-मई  एवं अगस्त-सितम्बर
  • रोपाई की दूरी 60 सेंटीमीटर X 40 सेंटीमीटर
  • बीज दर 125-150 ग्राम प्रति/हे.
  • रोपाई के 55-60  दिन बाद फल प्रथम तुड़ाई के लिए तैयार
  • उपज 1000 -1050 क्वि./हे.
  • बिहार, झारखण्ड  एंव उत्तर प्रदेश में खेती के लिए अनुमोदित

स्वर्ण सम्पदा (संकर)

  • फल गोल, लाल, बड़े (120-13 0 ग्राम) एवं कुल घुलनशील पदार्थ 4-5-5.0%
  • जीवानुज मुरझा और अगेती अंगमारी रोगों के लिए   प्रतिरोधी  एवं सीमित बढ़वार वाली किस्म
  • पौधशाला में बुआई का समय अगस्त-सितम्बर एवं फरवरी-मई
  • रोपाई की दूरी 60 सेंटीमीटर X 40 सेंटीमीटर
  • बीज दर 125-150 ग्राम प्रति/हे.
  • रोपाई के 55-60  दिन बाद फल प्रथम तुड़ाई के लिए तैयार
  • उपज 1000 -1050 क्वि./हे.
  • बिहार, झारखण्ड, पंजाब एंव उत्तर प्रदेश में खेती के लिए अनुमोदित

स्त्रोत एवं सामग्रीदाता : कृषि विभाग, झारखण्ड सरकार

3.07575757576

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
Back to top

T612019/10/23 13:28:49.045415 GMT+0530

T622019/10/23 13:28:49.066422 GMT+0530

T632019/10/23 13:28:49.092559 GMT+0530

T642019/10/23 13:28:49.092918 GMT+0530

T12019/10/23 13:28:49.021736 GMT+0530

T22019/10/23 13:28:49.021896 GMT+0530

T32019/10/23 13:28:49.022050 GMT+0530

T42019/10/23 13:28:49.022192 GMT+0530

T52019/10/23 13:28:49.022278 GMT+0530

T62019/10/23 13:28:49.022362 GMT+0530

T72019/10/23 13:28:49.023097 GMT+0530

T82019/10/23 13:28:49.023285 GMT+0530

T92019/10/23 13:28:49.023502 GMT+0530

T102019/10/23 13:28:49.023710 GMT+0530

T112019/10/23 13:28:49.023769 GMT+0530

T122019/10/23 13:28:49.023860 GMT+0530