सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / कृषि / मछली पालन / सफल उदाहरण / जैविक झींगा पालन– एक कृषक का अनुभव
शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

जैविक झींगा पालन– एक कृषक का अनुभव

यहाँ जैविक झींगा पालन– एक कृषक का अनुभव का वर्णन है.

जैविक झींगा पालन– एक कृषक का अनुभव

झींगा के किसान, जोसेफ कोरा, अपने परिवारजन के साथ

केरल में स्थित कुट्टनाड, एक मानव-निर्मित शुष्क भूमि पारिस्थितिकी तंत्र, जिसमें पर्याप्त मात्रा में पानी एवं उपजाऊ ज़मीन है। यह क्षेत्र धान की पैदावार के लिए आदर्श माना जाता है। लेकिन, अब परिदृश्य बदल चुका है। ऊंची लागत, श्रमिकों की कमी एवं उत्पादों की उचित पारिश्रमिक न मिलना बड़ी चुनौतियां हैं जिनसे क्षेत्र के धान किसानों को जूझना पड़ता है।
जब किसान अधीरता से कम लागत वाले विकल्प की तलाश कर रहे थे, उसी समय जैविक धान की खेती करने वाले किसान श्री जोसेप कोरा ने अपने चार हेक्टेयर क्षेत्र में झींगा की खेती कर उससे लाभ कमाने वाले अग्रणी किसान बन कर उभरे।

बेहतरी के लिए बदलाव
द मेरीन प्रॉडक्ट्स एक्स्पोर्ट डेवलपमेंटल ऑथोरिटी (MPEDA) एवं अन्य विकासोन्मुख एजेंसियों ने उन्हें डिब्बाबन्द मसालेदार झींगे के साथ जैविक जल जीवों की पैदावार का सुझाव दिया एवं उन्होंने इसके लिए प्रयास करने का निश्चय किया। उनके चार हेक्टेयर क्षेत्र में लगभग 11 लाख डिब्बाबन्द मसालेदार झींगे के बीज बढ़ाए गए। बीजों की व्यवस्था करने, पोषण, सलाह एवं व्यक्तिगत दौरों के रूप मे अधिकारियों ने मदद की। लगभग 7 महीने बाद अपने 04 हेक्टेयर क्षेत्र से करीब 1,800 किलोग्राम डिब्बाबन्द मसालेदार झींगे पैदा किये, जिनमें प्रत्येक का वज़न लगभग 30 ग्राम था।

अधिक जानकारी के लिए सम्पर्क करें-
श्री जोसेफ कोरा,
करिवेलिथरा, रमनकारी, पीओ- 689-595,
कुट्टनाड, एल्लेप्पी, फोन: 0477-2707375, मोबाइल: 9495240886

श्री आर. हली,
फोन: 04070-2622453, मोबाइल:9947460075.

स्रोत: द हिन्दू, दिनांक 8 जनवरी,  2009

2.91428571429

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
Back to top

T612018/05/24 17:27:48.115268 GMT+0530

T622018/05/24 17:27:48.137212 GMT+0530

T632018/05/24 17:27:50.572614 GMT+0530

T642018/05/24 17:27:50.573041 GMT+0530

T12018/05/24 17:27:48.083508 GMT+0530

T22018/05/24 17:27:48.083684 GMT+0530

T32018/05/24 17:27:48.083824 GMT+0530

T42018/05/24 17:27:48.083965 GMT+0530

T52018/05/24 17:27:48.084065 GMT+0530

T62018/05/24 17:27:48.084135 GMT+0530

T72018/05/24 17:27:48.084902 GMT+0530

T82018/05/24 17:27:48.085132 GMT+0530

T92018/05/24 17:27:48.085337 GMT+0530

T102018/05/24 17:27:48.085559 GMT+0530

T112018/05/24 17:27:48.085603 GMT+0530

T122018/05/24 17:27:48.085692 GMT+0530