सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

मत्स्य पालन

इस भाग में मछली पालन से संबंधित केंद्रीय और राज्य सरकार की विभिन्न नीतियों और योजनाओं की जानकारी प्रस्तुत की गई हैं।

मत्स्यपालन का महत्व

देश की बढ़ती आबादी, बेरोजगारी तथा पौष्टिक आहार की कमी के परिप्रेक्ष्य में मत्स्यपालन का महत्व दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। प्रदेष तथा जिले में भी मत्स्योद्योग, उत्तरोत्तर विकास की ओर अग्रसर है ग्रामीण क्षेत्रों में मत्स्यपालन बेरोजगारी दूर करने का सषक्त माध्यम हैं जिसे कम समय एवं कम लागत में अधिक आय देने वाले सहायक व्यवसाय के रूप में अपनाया जा रहा है। मत्स्य पालन एक फायदेमंद खेती है जिसे आम आदमी आसानी से कर सकता है खेती की तरह न तो इसमें अधिक मजदूरी लगती है न ही बीमारी लगने की संभावना रहती है। अधिक वर्षा, ओले या पाले का डर नही रहता है मत्स्य पालन की सबसे बड़ी विषेषता यह है कि जरूरत पड़ने पर हर साइज मछली का मूल्य मिल जाता है।प्रदेश में हेतु प्रचुर जलसंसाधन लगभग 3.56 लाख हेक्टर जलक्षेत्र उपलब्ध है जिसमें से 2.92लाख हेक्टर जलक्षेत्र जलाषयों का तथा 0.57 लाख हेक्टर जलक्षेत्र ग्रामीण तालाबों का है। राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य में राष्ट्रीय जलक्षेत्र .......... लाख हेक्टर की तुलना में अपना राज्य .........वें स्थान पर है।

राज्‍य योजनायें

  • मत्‍स्‍य पालन प्रसार
  • मत्‍स्‍यबीज उत्‍पादन
  • सिंचाई जलाषयों में मत्स्योद्योग का विकास
  • शिक्षण प्रशिक्षण - मछुआरों का प्रशिक्षण
  • शिक्षण प्रशिक्षण - मछुआरों का अध्ययन भ्रमण
  • मछुआ सहकारिता
  • मत्‍स्‍यालय एवं अनुसंधान
  • फिशेर्मन क्रेडिट कार्ड योजना
  • राष्ट्रीय कृषि विकास योजना (R.K.V.Y.)

मात्स्यिकीय प्रशिक्षण एवं प्रसार

  • प्रगतिशील मत्‍स्‍य पालकों का प्रशिक्षण भ्रमण
  • मत्‍स्‍य कृषकों के प्रशिक्षण केन्‍द्र की स्‍थापना

स्रोत: Department of Animal Husbandry, Dairying and Fisheries, Government of India

2.91666666667

Dinesh kumar Dec 27, 2017 09:56 PM

Machhli palan ke bare me sarkari yojnaye ke bare me bataye.

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
Back to top

T612018/02/19 23:02:24.782610 GMT+0530

T622018/02/19 23:02:24.802724 GMT+0530

T632018/02/19 23:02:24.890933 GMT+0530

T642018/02/19 23:02:24.891441 GMT+0530

T12018/02/19 23:02:24.759885 GMT+0530

T22018/02/19 23:02:24.760101 GMT+0530

T32018/02/19 23:02:24.760275 GMT+0530

T42018/02/19 23:02:24.760427 GMT+0530

T52018/02/19 23:02:24.760523 GMT+0530

T62018/02/19 23:02:24.760603 GMT+0530

T72018/02/19 23:02:24.761330 GMT+0530

T82018/02/19 23:02:24.761517 GMT+0530

T92018/02/19 23:02:24.761730 GMT+0530

T102018/02/19 23:02:24.761942 GMT+0530

T112018/02/19 23:02:24.761991 GMT+0530

T122018/02/19 23:02:24.762087 GMT+0530