सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / ई-शासन / डिजिटल भुगतान / डिजिटल भुगतान संबंधी नवीनतम समाचार
शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

डिजिटल भुगतान संबंधी नवीनतम समाचार

इस भाग में डिजिटल भुगतान संबंधी नवीनतम समाचार दिये गये हैं।

डिजिटल भुगतान को प्रोत्साहित करने के लिए नीतिआयोग द्वारा योजनाओं का शुभारंभ

नीति आयोग ने निजी उपभोग पर व्‍यय के लिए डिजिटल भुगतान माध्‍यमों का प्रयोग करने वाले व्‍यापारियों तथा उपभोक्‍ताओं को नकद पुरस्‍कार देने की लक्‍की ग्राहक योजना और डिजिटल धन व्‍यापार योजना की घोषणा की है। इस स्‍कीम का मुख्‍य लक्ष्‍य गरीब, निम्‍न मध्‍यम वर्ग और छोटे व्‍यापारियों को डिजिटल भुगतान के दायरे में लाना है। यह इस निर्णय के अनुसार राष्‍ट्रीय पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) इस स्‍कीम को लागू करने वाली मुख्य एजेंसी होगी जिसे भारत को नकदी-रहित बनाने की दिशा में मार्गदर्शक की जिम्‍मेदारी दी गई है।

इन योजनाओं का मुख्‍य लक्ष्‍य डिजिटल लेनदेन को प्रोत्‍साहित करना है जिससे की समाज के सभी वर्ग, विशेष रूप से गरीब और मध्‍यम वर्ग इलेक्‍ट्रॉनिक भुगतानों को अपना सकें। इसे समाज के सभी वर्गों और उनके उपयोग की जरूरतों को ध्‍यान में रखकर बनाया गया है। उदाहरण के लिए, गरीब से भी गरीब, व्‍यक्ति यूएसएसडी उपयोग करके पुरस्‍कारों के लिए पात्र होगा। ग्रामीण इलाकों के लोग इस स्‍कीम में  एईपीएस के माध्‍यम से प्रतिभाग ले सकते हैं। यह स्‍कीम 25 दिसम्‍बर, 2016 को पहले ड्रॉ के साथ चालू हो जाएगी। यह क्रिसमस पर देश को एक तोहफा होगा। इसके बाद दिनांक 14 अप्रैल, 2017 को बाबासाहेब अम्‍बेडकर जयंती पर एक बड़ा ड्रॉ निकाला जाएगा। 017 को घोषित किए जाएंगे।

स्त्रोत: पीआईबी

डिजी धन अभियान

डिजी धन अभियान इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय((MeitY)का कैशलेस लेनदेन को बढ़ावा देने का एक अभियान है। इस अभियान का उद्देश्य अपने हर दिन के वित्तीय लेन-देन में डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने में हर नागरिक, छोटे व्यापारी और व्यापारी सक्षम बनाना है। इस अभियान में, कैशलेस लेनदेन को बढ़ावा देने देश भर में कार्यशालाएं और जागरूकता अभियान आयोजित किए जा रहे हैं।

मा.सं.वि.मं का वित्तीय साक्षरता अभियान

वित्तीय साक्षरता अभियान, मानव संसाधन विकास मंत्रालय की एक पहल है, जिसका उद्देश्य सक्रिय रूप युवा/उच्च शिक्षा संस्थानों के छात्रों को प्रोत्साहित और प्रेरित कर धन देने वाले व धन लेने जैसे धन  हस्तांतरण के लिए एक डिजिटल सक्षम कैशलेस आर्थिक प्रणाली के उपयोग में संलग्न करना है। विसाका वेब पोर्टल के माध्यम से छात्र और उच्च संस्थान के शिक्षक के स्वयंसेवकों के रूप में रजिस्टर कर सकते हैं और कैशलैश धन हस्तांतरण की उपलब्धियों को अपलोड कर सकते हैं। ऐसी बड़ी उपलब्धि को सराहना के साथ पहचान दी जाएगी।

स्त्रोत: विसाका पोर्टल

3.0

RAM SUDIN PODDAR May 31, 2017 08:07 PM

डिजिटल पेमेंट के बारे में पूरी जानकारी नहीं रहने से बहुत ही दिक्कत का सामना करना पर रहा है.बैंक वाले भी सही जानकारी नहीं दे सक रहे हैं ..की कितना चार्जेज कटेगा या फिर कितना लिमिट है...

Chetram Singh gurjar Apr 11, 2017 01:17 AM

Digital len den ko protsahan Dena ahha kadam h par ese gramin Star par vyapak roop se felane ke liye kuchh karmchariyo ki niyuki, disa nirdes dene hetu hona chahiye!

SAURABH DUBEY Feb 19, 2017 01:50 AM

जनता को मूर्ख बनाने का फर्जी कदम है डिजीटल पेेंट सिस्टम...५० तरह के सिस्टम में डिजिटल पेमेंट करने के....कैसे उपयोग करें समझ नहीं आता...कभी भी पैसा कट जाए धोखे से तो बैंको के चक्कर लगाओ...पढ़े लिखे तो समझ नहीं पा रहे तो भला गांव वाले कैसे समझेंगे....मोXाइल न हो तो क्या करें...सरकार ने क्या फ्री मोबाइल बांटे या फिर पीओएस मशीन बांटी...

विद्या सागर यादव Feb 14, 2017 06:01 AM

Digipay में पैसा देने पर ग्राहक के खाते से तुरंत पैसा कट जाता है लेकिन हमारे खाते में २४ घंटे या २४ घंटे बाद मिलता है और आज तक हमें कोइ मेहनताना नहीं मिल पा रहा है

AJEET SINGH Feb 13, 2017 06:57 PM

किसी भी तरह के डिजिटल ट्रांसक्शX पर कोई भी शुल्क नहीं लगाना चाहिए,और इसमें सक्रियटी का ध्यान देना जरुरी है इससे कैशलेश को बढ़ावा मिलेगा.

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
संबंधित भाषाएँ
Back to top

T612019/10/23 10:29:31.599627 GMT+0530

T622019/10/23 10:29:31.617996 GMT+0530

T632019/10/23 10:29:31.618727 GMT+0530

T642019/10/23 10:29:31.619035 GMT+0530

T12019/10/23 10:29:31.550909 GMT+0530

T22019/10/23 10:29:31.551085 GMT+0530

T32019/10/23 10:29:31.551237 GMT+0530

T42019/10/23 10:29:31.551374 GMT+0530

T52019/10/23 10:29:31.551463 GMT+0530

T62019/10/23 10:29:31.551546 GMT+0530

T72019/10/23 10:29:31.552280 GMT+0530

T82019/10/23 10:29:31.552460 GMT+0530

T92019/10/23 10:29:31.552672 GMT+0530

T102019/10/23 10:29:31.552887 GMT+0530

T112019/10/23 10:29:31.552947 GMT+0530

T122019/10/23 10:29:31.553042 GMT+0530