सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / ई-शासन / डिजिटल इंडिया / एक बेहतर परिदृश्य
शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

एक बेहतर परिदृश्य

इस भाग में डिजीटल इंडिया कार्यक्रम का प्राथमिक जानकारी को प्रस्तुत किया गया है।

भूमिका

‘डिजिटल इंडिया’ भारत सरकार की एक नई पहल है जिसका उद्देश्‍य भारत को डिजिटल लिहाज से सशक्‍त समाज और ज्ञान अर्थव्‍यवस्‍था में तब्‍दील करना है। इसके तहत जिस लक्ष्‍य को पाने पर ध्‍यान केन्‍द्रित किया जा रहा है, वह है भारतीय प्रतिभा (आईटी) + सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) = कल का भारत (आईटी)।

‘डिजिटल इंडिया’ एक व्‍यापक कार्यक्रम है जो अनेक सरकारी मंत्रालयों और विभागों को कवर करता है। यह तरह-तरह के आइडिया और विचारों को एकल एवं व्‍यापक विज़न में समाहित करता है, ताकि इनमें से हर विचार एक बड़े लक्ष्‍य का हिस्‍सा नज़र आए। डिजिटल इंडिया कार्यक्रम का समन्‍वय डीईआईटीवाई द्वारा किया जाना है। वहीं, इस पर अमल समूची सरकार द्वारा किया जाना है।

‘डिजिटल इंडिया’ का विज़न तीन प्रमुख क्षेत्रों पर केन्‍द्रित है। ये हैं– हर नागरिक के लिए उपयोगिता के तौर पर डिजिटल ढांचा, मांग पर संचालन एवं सेवाएं और नागरिकों का डिजिटल सशक्‍तिकरण।

कार्यक्रम की उपयोगिता

हर नागरिक के लिए उपयोगिता के तौर पर डिजिटल ढांचे में ये उपलब्‍ध हैं- नागरिकों को सेवाएं मुहैया कराने के लिए एक प्रमुख उपयोग के रूप में हाई स्‍पीड इंटरनेट, डिजिटल पहचान अंकित करने का ऐसा उद्गमस्‍थल जो अनोखा, ऑनलाइन और हर नागरिक के लिए प्रमाणित करने योग्‍य है, मोबाइल फोन व बैंक खाते की ऐसी सुविधा जिससे डिजिटल व वित्‍तीय मामलों में नागरिकों की भागीदारी हो सके, साझा सेवा केन्‍द्र तक आसान पहुंच, पब्‍लिक क्‍लाउड पर साझा करने योग्‍य निजी स्‍थान और सुरक्षित साइबर-स्‍पेस।

सभी विभागों और न्यायालयों में मांग पर समेकित सेवाओं समेत शासन और सेवाओं, ऑनलाइन और मोबाइल प्लेटफॉर्म पर सही समय पर सेवाओं की उपलब्धता, सभी नागरिकों को क्लाउड एप पर उपलब्ध रहने का अधिकार है। डिजिटल तब्दील सेवाएं के जरिये व्यवसाय में सहजता करने, इलेक्ट्रॉनिक और नकदी रहित वित्तीय लेन-देन करने, निर्णय सहायता सिस्टम और विकास के लिए जीआईएस का फायदा उठाना।

नागरिकों को डिजिटल सशक्त बनाने के साथ में सार्वभौमिक डिजिटल साक्षरता, सर्वत्र सुगम डिजिटल संसाधनों, डिजिटल संसाधनों/सेवाओं की भारतीय भाषाओं में उपलब्धता, सुशासन के लिए डिजिटल प्लेटफॉर्मों और पोर्टबिलिटी के सभी अधिकारों को क्लाउड के जरिये सहयोगपूर्ण बनाना। नागरिकों को शासकीय दस्तावेजों या प्रमाण-पत्रों आदि को उनकी मौजूदगी के बिना भी भरा जा सकेगा।

डिजिटल भारत कार्यक्रम की योजनायें

डिजिटल इण्डिया में नौ स्तम्भ सम्मिलित है- ब्राडबेण्ड हाई-वे, मोबाइल कनेक्टिविटी के लिए सार्वभौमिक ऐक्सेस, जनता इन्टरनेट ऐक्सेस कार्यक्रम, ई-गवर्नेन्स – तकनीकी के जरिये सरकार में सुधार, ई-क्रान्ति- सेवाओं को इलेक्ट्रॉनिक रूप से प्रदान करना, सभी के लिए सूचनायें, इलेक्ट्रॉनिक उत्पादन, नौकिरयों के लिए आईटी, जल्दी पैदावार कार्यक्रम। ये सभी एक मिश्रित कार्यक्रम है और सभी मंत्रालयों एवं सरकारी विभागों से जुड़े हुये है।

डिजिटल भारत कार्यक्रम के तहत कई मौजूदा योजनाओं के साथ मिलकर कार्य करना है, जिसके दायरों को पुर्नगठित और पुर्नकेन्द्रित किया गया है। क्लाउड, मोबाइल इत्यादि टेक्नोलॉजी को बढ़ावा देना, परिवर्तनकारी प्रक्रिया पुनर्रचना और प्रक्रिया में सुधार पर ध्यान केंद्रित करना, अंत-प्रचालनीय उपक्रम और एकीकृत सेवा प्रदान करने के मानकों पर आधारित है और एक समकालिक ढंग से लागू किया जाएगा। डिजिटल इण्डिया के माध्यम से “मेड इन इण्डिया” इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसों, उत्पादकों और सेवाओं के पोर्टफोलियो को भी बढ़ावा देना और देश में युवाओं के लिए रोजगार की संभावना को बढ़ावा देना है।

डिजिटल यंत्रों के द्वारा कैसे पायें विभिन्न सेवाएं


डिजिटल यंत्रों के द्वारा कैसे पायें विभिन्न सेवाएं

स्त्रोत: इंटरनेट, दैनिक समाचारपत्र

3.15873015873

रविन्द्र चौबे Jul 03, 2015 01:17 AM

भारत सरकार द्वारा शुरू किया जा रहा डिजिटल इंडिया नामक कार्यक्रम की विषयवस्तु बेहद सराहनिए है और अगर सही रूप से इसका क्रिXाX्वXX हो सका तो निश्चित ही यह कार्यक्रम भावी विकास की अपार संभावनाएं लिए हुए इसके विषय में विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराने के लिए आपका आभारी हूँ। धन्यवाद्।

परमानन्द धाकड़ ईन्द्रावल धार म.प्र Mar 30, 2015 03:33 PM

केन्द्र सरकार का डिजिटल इंडिया का सही फैसला है। आज का हर नव-युवक इसकी प्रतिक्षा कर रहा है कि हमारे गांव में भी हाई स्पिड इंटरनेट चलेगा लेकिन कहीं यह सपना बन कर ना रह जाए ! इस योजना को जमीन पर लाने के लिये सरकार को हर सम्भव प्रयास करना होंगे ।

परमानंद धाकड़ Mar 30, 2015 03:23 PM

सर मेरा गांव ईन्द्रावल बदनावर जिला धार है। मै अपने गांव में नागरिक सुविधा केन्द्र चलाता हूँ जहाँ पर किसी प्रकार के ईंटरनेट की सुविधा नहीं है ना ही मोबाईल कवरेज है फिर भी मै अपने मकान की छत पर बैठ कर थोड़ा बहुत काम करता हूँ। सर गांव तक इंटरनेट की सुविधा कब तक चालू हो जायेगी क्या फाईबर केबल से नागरिक सुविधा केन्द्रों को जोड़ा जाएगा

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
संबंधित भाषाएँ
Back to top

T612018/05/24 11:47:8.972993 GMT+0530

T622018/05/24 11:47:8.987831 GMT+0530

T632018/05/24 11:47:8.988751 GMT+0530

T642018/05/24 11:47:8.989255 GMT+0530

T12018/05/24 11:47:8.945708 GMT+0530

T22018/05/24 11:47:8.945943 GMT+0530

T32018/05/24 11:47:8.946094 GMT+0530

T42018/05/24 11:47:8.946238 GMT+0530

T52018/05/24 11:47:8.946331 GMT+0530

T62018/05/24 11:47:8.946407 GMT+0530

T72018/05/24 11:47:8.947279 GMT+0530

T82018/05/24 11:47:8.947591 GMT+0530

T92018/05/24 11:47:8.947856 GMT+0530

T102018/05/24 11:47:8.948086 GMT+0530

T112018/05/24 11:47:8.948134 GMT+0530

T122018/05/24 11:47:8.948231 GMT+0530