सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / ई-शासन / मोबाइल शासन / मोबाइल दुकान बनेंगे बैंक
शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

मोबाइल दुकान बनेंगे बैंक

इस लेख में सरकार द्वारा बैंकिंग सुविधा को और सरल एवं छह लाख गांवों तक बैंकिंग सुविधा को पहुँच में लाने के नए तरीकों पर चर्चा की गयी है|

परिचय

फाइनेंशियल इंक्‍लूजन के तहत मोदी सरकार समाज के हर तबके तक बैंकिंग सुविधाएं पहुंचाने के लिए प्रयासरत है। प्रधानमंत्री जनधन योजना के बाद अब मोबाइल बेचने वाली दुकानों, पेट्रोल पंपों और गली-मुहल्ले के कोनों पर स्थित दुकानों की मदद से लोगों तक बैंकिंग सुविधा पहुंचाने की योजना है। इसे पेमेंट बैंकिंग नाम दिया गया है।

पेमेंट बैंक की स्थापना के लिए अप्लिकेशन जमा करने की अंतिम तारीख 2 फरवरी है।  जिन संस्थाओं को परमिट मिलेगा वे भुगतान और जमा की सेवाएं प्रदान कर सकेंगे। उन्‍हें कर्ज देने की अनुमत नहीं होगी। इसीलिए इन संस्थानों का नाम पेमेंट बैंकिंग रखा गया है।

समाज के गरीब तबके को बैंकिंग सुविधा उपलब्‍ध कराने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महात्‍वाकांक्षी योजना, प्रधानमंत्री जनधन योजना, के तहत 11 करोड़ से अधिक नए बैंक खाते खोले गए हैं। इन 11 करोड़ खातों में से 8 करोड़ खातों में पैसा नहीं है।

पेमेंट बैंक के बारे में जानकारों का कहना है कि इस से भारत के 6,00,000 गांवों को बैंकिंग सुविधाओं से जोड़ा जा सकता है जहां इस तरह की सुविधाएं नहीं हैं। पेमेंट बैंक के जरिये घर पर पैसा भेजना, सरकार की ओर से मिलने वाले आर्थिक लाभ की प्राप्ति या बिजनेस करने में आसानी हो जाएगी।

पेमेंट बैंक के लिए नियम तैयार करने वाली आरबीआई की कमिटी के एक सदस्य बिंदु अनंत ने बताया,  'इस सेवा के लिए पारंपरिक बैंकों से बिल्कुल अलग नई संस्थाओं को बैंकिंग सुविधा प्रदान करने की जिम्मेदारी दी गई है।'

सबसे महत्वपूर्ण बदलाव यह है कि पेमेंट बैंक न सिर्फ नकदी जमा स्वीकार करेंगे बल्कि वे भुगतान भी करेंगे।

अब पेट्रोल पंप पर भी खुलेगा बैंक खाता, जानें क्या है नई योजना

अगर आपको भी प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत बैंक अकाउंट खुलवाना है, तो आपके लिए एक नई खबर है। प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत खाता खुलवाने के लिए अब केवल बैंक ही नहीं बल्कि पेट्रोल पंप पर जाकर आवेदन किया जा सकता है। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने पेट्रोल पंप पर खाता खोलने की सुविधा शुरू करने के लिए इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (आईओसी) के साथ अनुबंध किया है। हालांकि, ये सुविधा अभी कुछ शहरों में ही शुरू की जाएगी, लेकिन जल्द ही इसे बाकी जगह भी लागू किया जा सकेगा।

एसबीआई ने की पहल

जनधन योजना को शुरू हुए 5 माह हो चुके हैं, लेकिन अभी भी कई परिवार ऐसे हैं जिन्होंने बैंक में खाता नहीं खुलवाया है। ऐसे लोगों को बैंक से जोड़ने के लिए एसबीआई ने यह पहल की है। खाता खोलने के लिए बैंक की टीम पेट्रोल पंप पहुंचेगी। गौरतलब है कि जनधन योजना के तहत सभी खाते जीरो बैलेंस पर खोले जा रहे हैं। इसके तहत खाताधारकों को रूपे कार्ड और 1 लाख रूपए का बीमा भी दिया जा रहा है।

स्त्रोत : विकासपीडिया टीम

 

3.05109489051

Dhiraj gupta Nov 02, 2018 09:40 PM

isse judna chahta hun. Kya krna hoga

Chandrakumar Jun 17, 2018 11:44 AM

Yes bank se judna chahta hu

Bhoopendra kumar Dec 14, 2017 10:09 PM

Mai es yojana she judna chahata hu and bank mitra banana ha chahata hu mera pas computer certificate hai 84XXX71

Ankit kumar Aug 22, 2017 07:11 PM

Sar mai bc banna chata hu mere pass uske liye yogita bhi sar ek jgha bc ki khali mai aap se yha jan na cha rha hu ki agar mai apne yha se २० k. M. Dur bc karya mil sakta hai meri facebook ankitkumarrhota9@गमेलक what's aaps n. ८२X८XXX८XX apnA jwab de

प्रहलाद राय व्यास Aug 05, 2017 09:44 AM

उपXोक्ताओं को ऑन लाईन खरीद की सुविधाओं को आसान करना होगा।

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
संबंधित भाषाएँ
Back to top

T612019/07/20 14:38:41.283171 GMT+0530

T622019/07/20 14:38:41.302154 GMT+0530

T632019/07/20 14:38:41.304742 GMT+0530

T642019/07/20 14:38:41.305043 GMT+0530

T12019/07/20 14:38:41.239544 GMT+0530

T22019/07/20 14:38:41.239836 GMT+0530

T32019/07/20 14:38:41.240077 GMT+0530

T42019/07/20 14:38:41.240327 GMT+0530

T52019/07/20 14:38:41.240477 GMT+0530

T62019/07/20 14:38:41.240614 GMT+0530

T72019/07/20 14:38:41.241995 GMT+0530

T82019/07/20 14:38:41.242325 GMT+0530

T92019/07/20 14:38:41.242699 GMT+0530

T102019/07/20 14:38:41.243113 GMT+0530

T112019/07/20 14:38:41.243183 GMT+0530

T122019/07/20 14:38:41.243344 GMT+0530