सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / ई-शासन
शेयर

ई-शासन

  • e-governance image

    भारत में ई-शासन आंदोलन

    भारत में ई- शासन अपनी शुरुआत से आज एक नये दौर में प्रवेश कर गया है। लोगों के परिवेश के पास ही सार्वजनिक सेवाओं को विभिन्न केन्द्रों से तकनीक की सहायता से समयबद्ध रुप पहुँचा कर शासन महत्वपूर्ण सहयोगी की भूमिका निभा रहा है। राष्ट्रीय और राज्य स्तर ई-शासन की उपयोगिता को लेकर जागरूकता लाने की जरुरत है।

  • e-governance image

    साझा सेवा केन्द्र संचालकों का सशक्तीकरण

    भारत में ग्रामीण परिवेश ने विशेष रूप से समृद्ध आईसीटी पहल, सामान्य सेवा केंद्रों (सीएससी) से लाभ लेना शुरु कर दिया है। विकासपीडिया पहल साझा सेवा केन्द्र के संचालकों की क्षमता का निर्माण करने और ज्ञान को साझा करने के लिए एक उपयोगी आवश्यक मंच प्रदान करता है।

बदलती सेवा वितरण प्रणाली

भारत में ई-शासन 'अच्छे शासन' का पर्याय बनता जा रहा है। केंद्र सरकार और राज्य सरकार के विभिन्न विभाग नागरिकों, व्यापारियों और सरकारी संगठन को ही नहीं बल्कि समाज के हर वर्ग को सूचना और प्रौद्योगिकी की सहायता से विभिन्न सेवाएं प्रदान कर रहे है। इसी क्रम में 2006 में शुरू की राष्ट्रीय ई-शासन योजना (एनईजीपी) के तहत भारत भर में साझा सेवा केंद्र (सीएससी) स्थापित किए गये हैं। ये साझा सेवा केंद्र आम आदमी को सीधे तौर पर लाभान्वित कर सहज,सुलभ  और उनके घर के द्वार तक सरकारी सेवाएं उपलब्ध कराने का प्रयास कर रहे हैं। देशभर में 1 लाख से ज्यादा(सीएससी वेबसाइट) साझा सेवा केंद्र अलग-अलग ब्रांड नाम अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

विकासपीडिया ई-शासन भाग का मुख्य ध्यान नागरिकों के लिए उपलब्ध ऑनलाइन सेवाएँ, राज्यों की ई-शासन पहल, ऑनलाइन विधिक सेवाओं, मोबाइल शासन, सूचना के अधिकार पर जानकारी उपलब्ध कराकर, देशभर में चल रहे ई-शासन अभियान में सहायता प्रदान करना है। ग्रामीण उद्यमियों (वीएलई) के सशक्तीकरण के महत्व को ध्यान में रखते हुए, भारतीय विकास प्रवेशद्वार ने “वीएलई कार्नर" का निर्माण कर न केवल एक मंच पर आने का अवसर दिया बल्कि उनके ज्ञान-भंडार को विभिन्न अध्ययन संसाधनों से समृद्ध करने में प्रयासरत है। भारत का ग्रामीण भाग विभिन्न संस्थाओं और उभरती आईसीटी पहल का लाभ लेने के लिए तैयार रहा है और भारत विकास प्रवेशद्वार बहुभाषाओं में उपलब्ध आवश्यक सामग्री और सेवाओं से लाभान्वित होने के लिए आह्वान करता है।

भारत में ई-शासन

भारत में ई-शासन भाग राष्ट्रीय ई-शासन योजना,राज्यों की ई-शासन सेवाओं और ई-शासन संसाधन के बारे में जानकारी देता है।

सूचना का अधिकार

सूचना का अधिकार भाग के अंतर्गत अधिकार का अर्थ, उसके उपयोग की प्रक्रिया,अपील के विभिन्न चरण,उपयोगी संपर्क की जानकारी और अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों का ब्यौरा दिया गया है।

वीएलई के लिए संसाधन

यह भाग साझा सेवा कार्यक्रम,ऑनलाईन प्रदत्त की जा रही सेवाएं,भारत विकास प्रवेशद्वार के विभिन्न उत्पाद एवं सेवाओं सहित कम्प्यूटर में भारतीय भाषा के पढ़ने में आ रही समस्याओं के समाधान की उपयोगी जानकारी देता है।

ई-शासन ऑनलाईन सेवाएं

यह भाग ई-शासन ऑनलाईन सेवाएं के संक्षिप्त परिचय के साथ उससे संबंधित विभिन्न उपयोगी लिंक जानकारी के बारे में जानकारी देता है।

भारत में विधिक सेवाएँ

यह भाग विधिक सेवाओं में ई-शासन की शुरुआत, राष्ट्रीय विधि स्कूल और विधि क्षेत्र से जु़ड़ीं महत्वपूर्ण लिंक संसाधनों की जानकारी देता है।

मोबाइल शासन

इस अनुभाग में भारत में उभरते मोबाइल शासन और एक संक्षिप्त परिचय के साथ विभिन्न संबंधित उपयोगी लिंक जानकारी के बारे में जानकारी देता है.


कमलेनद पांडे Jun 27, 2017 10:09 AM

ग्राम पंचायत सरबाही. पोस्ट चितराव जिला शहडोल. ब्लॉक जयसिहनगर. में सरपंच राजेन्द्र मोरय के द्वारा शासन के योजनाओं और नियमो मे पानी फेरा जा रहा मनरेगा योजना के तहत हो रहे कामो मे भारी अनिमित्ता जैसे कि. विजय पनिका जो ग्राम पंचायत सरबाही. सरबारी मे प्रेरक पद पर नियुक्ति हुआ है और जनपद से मानदेय मिल रहा है और पंचायत के सभी कामो मे फर्जी हाजिरी भर कर पैसा निकाला जाता है. 2 कमलेश मिस्रा जो कि आस्था ईनटरXराजेज का परोपाइटर हैं पंचायत मे फर्जी बिल काट कर पैसे अनैतिक गमन और साथ ही पंचायत के सभी कामो मे फर्जी हाजिरी भर कर पैसा निकाला जाता है और बहुत कुछ चुनिंदा लोग हैं जिनके नाम से फर्जी पैसा निकाला जाता है कृपया इसकी जॉच कराकर हो रहे करपसन में ऑकुस लगाया जाय... जय हिंद जय भारत

Anonymous Apr 18, 2017 11:07 PM

E governess is very important part of developing India but it creates same unemployment .

Rajesh singh chauhan Feb 20, 2017 02:47 PM

हमारे गांव टीकरी भवापुर बिकास खंड चंड़ौस अलीगढ़ का जन सेवा केंद्र पता नहीं किसके नाम हैै और कहां चल रहा है किसी को पता तक नहीं है कागज आधार वगैरह बनवाने गांव से ६ किमी दूर चंड़ौस जाना महिलाऔं के लिये व बालकों के लिये बडी मुशीबत का सामना करना पडता है

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
Back to top

T612018/12/10 21:13:4.083043 GMT+0530

T622018/12/10 21:13:4.091255 GMT+0530

T632018/12/10 21:13:4.091745 GMT+0530

T642018/12/10 21:13:4.092005 GMT+0530

T12018/12/10 21:13:4.061107 GMT+0530

T22018/12/10 21:13:4.061297 GMT+0530

T32018/12/10 21:13:4.062583 GMT+0530

T42018/12/10 21:13:4.062729 GMT+0530

T52018/12/10 21:13:4.062823 GMT+0530

T62018/12/10 21:13:4.062898 GMT+0530

T72018/12/10 21:13:4.063489 GMT+0530

T82018/12/10 21:13:4.063667 GMT+0530

T92018/12/10 21:13:4.063869 GMT+0530

T102018/12/10 21:13:4.064067 GMT+0530

T112018/12/10 21:13:4.064114 GMT+0530

T122018/12/10 21:13:4.064204 GMT+0530