सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / शिक्षा / बाल जगत / विश्व के 7 नए आधिकारिक अजूबे
शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

विश्व के 7 नए आधिकारिक अजूबे

विश्व के सात नए अधिकारिक अजूबों पर ये लेख बच्चों की जानकारी के लिए महत्वपूर्ण है।

चिचेन इत्ज़ा में पिरामिड (800 ई. पू.) युकातान प्रायद्वीप, मैक्सिको

अत्यंत प्रसिद्ध मायान मंदिर का शहर, चिचेन इत्ज़ा, मायान सभ्यता का राजनीतिक और आर्थिक केंद्र था। इसकी विभिन्नसंरचनाओं में – कुकुल्कान का पिरामिड, चक मूल का मंदिर, हजार खंभों का हॉल, और कैदियों के खेल का मैदान - आज भी देखे जा सकते हैं और वास्तुशिल्प के क्षेत्र तथा रचना करने की असाधारण प्रतिबद्धता को दर्शाते हैं। खुद पिरामिड सभी मायान मन्दिरों में से अंतिम और यकीनन सबसे बड़ा था।

मसीह उद्धारक (1931) रियो डी जनेरियो, ब्राज़ील

 

यीशु की यह मूर्ति 38 मीटर ऊंची है, जो कोर्कोवाडो पहाड़ पर है, जिससे पूरा रियो डी जनेरियो दिखता है। ब्राजील के हैटर कोस्टा डी सिल्वा द्वारा डिज़ाइन की गई और फ्रेंच मूर्तिकार पॉल लैंडोव्स्की द्वारा बनाई गई, यह मूर्ति दुनिया के सबसे प्रसिद्ध स्मारकों
में से एक है। इस प्रतिमा के निर्माण में पांच साल लगे और इसका उद्घाटन 12 अक्टूबर 1931 को किया गया था। यह ब्राजील शहर और उसके लोगों, जो खुली बांहों से आगंतुकों का स्वागत करते हैं, का एक पहचान चिह्न बन गई है।

रोमन कोलॉज़िअम (70-82 ई.) रोम, इटली

 

 

रोम के केंद्र में इस महान रंगभूमि को सफल सैनिकों को ईनाम देने और रोमन साम्राज्य के गौरव का जश्न मनाने के लिए बनाया गया था। इसकी डिजाइन अवधारणा आज भी अनूठी है, और कुछ 2,000 साल बाद अब भी लगभग हर आधुनिक खेल स्टेडियम पर कोलॉज़ीयम की मूल डिजाइन की अनिवार्य छाप होती है। आज, फिल्मों और इतिहास की पुस्तकों के माध्यम से, हम इस जगह पर होने वाली क्रूर लड़ाई और खेलों के बारे में और भी अधिक जानते हैं, जिससे दर्शकों का खूब मनोरंजन होता है।

ताज महल (1630 ई.) आगरा, भारत

 

 

यह विशाल समाधि पांचवें मुगल सम्राट शाहजहां के आदेश पर, उनकी प्रिय दिवंगत पत्नी की स्मृति

में बनायी गयी थी। सफेद संगमरमर से निर्मित और औपचारिक रूप से बाहरी दीवारों से घिरे उद्यानों के बीच स्थित, ताज महल को भारत में मुस्लिम कला का उत्कृष्ट रत्न माना जाता है। बाद में सम्राट को जेल में बंद कर दिया गया था और यह कहा जाता है, कि वहां की कोठरी की छोटी से खिड़की से वे केवल ताजमहल देख सकते थे।

चीन की महान दीवार (220 ई.पू. और 1368-1644 ई.) चीन

 

 

 

चीन की महान दीवार को मौजूदा किलेबंदी को संयुक्त रक्षा प्रणाली के साथ जोड़कर निर्मित किया गया था, जिसका उद्देश्य मंगोल जनजाति के हमलावरों को चीन से बाहर रखना था। यह अब तक का मानव निर्मित सबसे बड़ा स्मारक है और यह विवादित है कि केवल यही अंतरिक्ष से भी दिखाई देता है। इस भारी निर्माण में लगे कई हजार लोगों को अपनी जान देनी पड़ी होगी।

माचू पिच्चु (1460-1470), पेरू

 

 

15 वीं शताब्दी में इंकेन सम्राट पैचाक्यूटेक ने पर्वत पर बादलों में एक शहर का निर्माण किया जिसे माचू पिच्चु ("पुरानेपर्वत")माचू पिच्चु के रूप में जाना जाता। यह असाधारण रिहायशी जगह एंडेस पठार पर आधी ऊंचाई तक स्थित है, जो अमेज़न के जंगल में अन्दर और उरुबम्बा नदी के ऊपर है। इसे शायद चेचक फैलने की वजह से इंकैस द्वारा छोड़ दिया गया था और स्पेन वासियो द्वारा इंकैन साम्राज्य को हरा दिए जाने के बाद, यह शहर लगभग तीन शताब्दियों से अधिक तक ‘गुमनाम' रहा। इसे हीराम बिंघम द्वारा पुनः खोजा गया था।

पेट्रा (9 ईसा पूर्व - 40 ई.), जॉर्डन

 

अरब रेगिस्तान के किनारे, पेट्रा राजा एरिटास चतुर्थ (9 ई.पू. से 40 ई.) के नाबाटिअन साम्राज्य की शानदार राजधानी स्थित थी। जल प्रौद्योगिकी में माहिर, नाबाटिअन लोगों ने अपने शहर को बेहतरीन सुरंगों और जल के चैम्बरों का निर्माण प्रस्तुत किया। ग्रीक रोमन प्रोटोटाइप पर आधारित, इस थियेटर की 4000 दर्शकों के बैठने की क्षमता थी। आज, पेट्रा के महलनुमा मकबरे, जिनमें अल दैर मठ पर 42 मीटर ऊंचे यूनानी मंदिर के मुखौटे हैं, मध्य पूर्वी संस्कृति का शानदार उदाहरण हैं।

3.1048951049

हरकीरत सिंह इटारसी Nov 10, 2018 10:59 PM

बहुत ही रोचक और ज्ञान वर्धक जानकारी है।इससे हमें अपने विश्व के 7 अजूबो के बारे में बहुत ही अच्छी जानकारी प्राप्त हुई।XX्XवाX

Md Saquib Anwar Oct 01, 2018 11:09 PM

From MAHRAMPUR SUPAUL BIHAR Its very Wonderful

Brijesh gupta Sep 01, 2018 12:34 AM

Mai sato आजubo me ghumna chahta hu faimaly ke साथ

ANANT COZI May 04, 2018 08:13 PM

Sato ajube very wonderful hai

नमन Feb 02, 2018 09:56 PM

मुझे य्ह प्ण्कर बुह्त अच्छा gगएअब gयू लेकिन मैं शायद नजरों में शामिल में आपन जान जनी सरियाव की

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
संबंधित भाषाएँ
Back to top

T612019/01/21 17:26:59.549511 GMT+0530

T622019/01/21 17:26:59.562711 GMT+0530

T632019/01/21 17:26:59.563389 GMT+0530

T642019/01/21 17:26:59.563717 GMT+0530

T12019/01/21 17:26:59.526565 GMT+0530

T22019/01/21 17:26:59.526729 GMT+0530

T32019/01/21 17:26:59.526868 GMT+0530

T42019/01/21 17:26:59.527005 GMT+0530

T52019/01/21 17:26:59.527100 GMT+0530

T62019/01/21 17:26:59.527179 GMT+0530

T72019/01/21 17:26:59.527846 GMT+0530

T82019/01/21 17:26:59.528026 GMT+0530

T92019/01/21 17:26:59.528229 GMT+0530

T102019/01/21 17:26:59.528429 GMT+0530

T112019/01/21 17:26:59.528474 GMT+0530

T122019/01/21 17:26:59.528566 GMT+0530