सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

राष्ट्रीय बाल पुरस्कारों की पात्रता

इस पृष्ठ में राष्ट्रीय बाल पुरस्कारों की पात्रता क्या होती है, इसकी जानकारी दी गयी है।

राष्ट्रीय बाल पुरस्कार

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने असाधारण योग्यताओं एवं उत्कृष्ट उपलब्धियों वाले बच्चों को पहचान प्रदान करने हेतु 1996 में यह पुरस्कार शुरू किया।

इस पुरस्कार का नाम राष्ट्रीय बाल पुरस्कार है। नवाचार, शैक्षिक उपलब्धियों, खेल, कला एवं संस्कृति, समाज सेवा तथा बहादुरी के क्षेत्र में असाधारण योग्यताओं तथा उत्कृष्ट उपलबधियों वाले बच्चों को पहचान प्रदान करने के लिए पुरस्कार दिया जाता है।

पात्रता

क. ऐसे बच्चे जो भारत के नागरिक हैं तथा भारत में रहते हैं, जिनकी आयु 5 साल से अधिक किंतु 18 साल से अधिक न हो (संबंधित वर्ष के 31 अगस्त की स्थिति के अनुसार)।

ख. निम्नलिखित में से किसी भी क्षेत्र में उत्कृष्टता (ऐसी उपलबधियों को प्रोत्साहित किया जाएगा जिनसे समाज को लाभ होता है)

  • नवाचार
  • शैक्षिक उपलब्धि
  • खेल
  • कला एवं संस्कृति
  • समाज सेवा
  • बहादुरी

राष्ट्रीय बाल कल्याण पुरस्कार - व्यक्तिगत

ये पुरस्कार ऐसे व्यक्तियों को दिए जाते हैं जिन्होंने कम से कम सात वर्ष के लिए बाल विकास, बाल संरक्षण और बाल कल्याण के क्षेत्रों में बच्चों की सेवा में उत्कृष्ट योगदान दिया है तथा बच्चों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डाला है।

पात्रता

क. 18 वर्ष से अधिक आयु के भारत के नागरिक तथा भारत में रहने वाले व्यक्ति (संबंधित वर्ष के 31 अगस्त की स्थिति के अनुसार)।

ख. निम्नलिखित क्षेत्रों में से किसी एक में न्यूनतम 7 वर्ष का अनुभव (ऐसी उपलब्धियों को प्रोत्साहित किया जाएगा जिनसे समाज को लाभ होता है)

  • बाल कल्याण
  • बाल विकास
  • बाल संरक्षण

राष्ट्रीय बाल कल्याण पुरस्कार- संस्थागत

ये पुरस्कार ऐसी संस्थाओं को दिए जाते हैं जिन्होंने कम से कम 10 साल से बाल विकास, बाल संरक्षण और बाल कल्याण के क्षेत्रों में से किसी में बच्चों के हित में असाधारण कार्य किया है तथा बच्चों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डाला है।

पात्रता

  • संस्था सरकार द्वारा पूर्णत : वित्त पोषित नहीं होनी चाहिए।
  • संस्था 10 वर्षों से बाल कल्याण के क्षेत्र में होने चाहिए तथा क्षेत्र में उसका निष्पादन लगातार उत्कृष्ट होना चाहिए। योगदान से बच्चों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव होना चाहिए।

टिप्पणी - कोई झूठी सूचना प्रस्तुत करने के लिए आवेदक / व्यक्ति पर कानून के अनुसार उपयुक्त कार्रवाई की जा सकती है।

स्त्रोत: महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, भारत सरकार

 

2.95555555556

अभेद आनंद Jan 31, 2019 12:40 PM

उम्र सीमा 20 वर्ष किया जाना चाहिये , क्योंकि लगभग जो छात्र महाविX्XालX में पढ़ाई करते है वे 20 वर्ष तक ही रहते हैं।

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
संबंधित भाषाएँ
Back to top

T612019/10/22 14:51:27.481860 GMT+0530

T622019/10/22 14:51:27.502652 GMT+0530

T632019/10/22 14:51:27.503440 GMT+0530

T642019/10/22 14:51:27.503741 GMT+0530

T12019/10/22 14:51:27.417257 GMT+0530

T22019/10/22 14:51:27.417422 GMT+0530

T32019/10/22 14:51:27.417578 GMT+0530

T42019/10/22 14:51:27.417725 GMT+0530

T52019/10/22 14:51:27.417809 GMT+0530

T62019/10/22 14:51:27.417881 GMT+0530

T72019/10/22 14:51:27.418648 GMT+0530

T82019/10/22 14:51:27.418829 GMT+0530

T92019/10/22 14:51:27.419066 GMT+0530

T102019/10/22 14:51:27.419288 GMT+0530

T112019/10/22 14:51:27.419334 GMT+0530

T122019/10/22 14:51:27.419436 GMT+0530