सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

आयुष

वैकल्पिक चिकित्सा के रुप में लोकप्रिय हो रहे अायुष शीर्षक के अंतर्गत यूनानी, सिद्ध आयुर्वेद विभाग, योग और प्राकृतिक चिकित्सा की उपयोगिता की जानकारी दी गई है।

आयुर्वेद
इस भाग में आयुर्वेद की मूल अवधारणा से अवगत कराते हुए इसके द्वारा किये जाने वाले उपचारों की जानकारी भी दी गई है।
योग
संतुलित तरीके से अंतर्निहित शक्ति को बेहतर बनाने या विकसित करने के लिए एक अनुशासन के रुप में लोकप्रिय योग की जानकारी प्रस्तुत है।
यूनानी
इस भाग में यूनानी चिकित्सा पद्धति के बारे में जानकारी दी गई है।
प्राकृतिक चिकित्सा
प्राकृतिक चिकित्सा प्रणाली वर्षों से चली आ रही है और अपने विशेष सिद्धांतों, जैसे शारीरिक, मानसिक, नैतिक और आध्यात्मिक प्रणालियों के साथ व्यक्तियों का ईलाज़ करती है। इस पद्धति के अनुसार मनुष्य के स्वास्थ्य में प्रोत्साहन, रोगों से लड़ने की क्षमता और अपना उपचार करने की असीम संभावनाएं होती है|
सिद्धा
सिद्ध प्रणाली भारत में दवा की सबसे पुरानी प्रणालियों में से एक है। 'सिद्ध' शब्द का अर्थ है उपलब्धियां और सिद्ध, संत पुरुष होते थे जो दवा में परिणाम हासिल करते थे। है। इस भाग में इन्हीं परिणामों और उनका वर्तमान उपयोग बताया गया है।
होम्योपेथी
होम्योपैथी आज एक तेजी से बढ़ रही प्रणाली है । इस भाग में इससे जुड़ी जानकारी प्रस्तुत की गई है।
स्थानीय वनौषधियाँ और हमारा स्वास्थ्य
इस भाग में प्राकृतिक चिकित्सा के अंतर्गत स्थानीय वनौषधियों और हमारे स्वास्थ्य लाभ में इनकी महत्ता को स्पष्ट किया गया है।
औषधीय पौधे और जड़ी बूटियां
इस भाग में औषधीय पौधे और जड़ी बूटियों के विवरण को प्रस्तुत किया गया है।
योग विज्ञान
इस भाग में योग से जुड़ीं जानकारियाँ प्रस्तुत हैं।
आयुष मंत्रालय की उपलब्धियां
इस पृष्ठ में आयुष मंत्रालय की उपलब्धियां 2014 - 2016 की जानकारी दी गयी है|

Back to top

T612017/12/14 22:12:5.705252 GMT+0530

T622017/12/14 22:12:5.807021 GMT+0530

T632017/12/14 22:12:5.807153 GMT+0530

T642017/12/14 22:12:5.807446 GMT+0530

T12017/12/14 22:12:5.679755 GMT+0530

T22017/12/14 22:12:5.679934 GMT+0530

T32017/12/14 22:12:5.680079 GMT+0530

T42017/12/14 22:12:5.680251 GMT+0530

T52017/12/14 22:12:5.680339 GMT+0530

T62017/12/14 22:12:5.680413 GMT+0530

T72017/12/14 22:12:5.681166 GMT+0530

T82017/12/14 22:12:5.681398 GMT+0530

T92017/12/14 22:12:5.681635 GMT+0530

T102017/12/14 22:12:5.681881 GMT+0530

T112017/12/14 22:12:5.681928 GMT+0530

T122017/12/14 22:12:5.682057 GMT+0530