सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / स्वास्थ्य / बाल स्वास्थ्य / बाल्यावस्था: सामाजिक, सांवेगिक एवं व्यक्तित्व विकास
शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

बाल्यावस्था: सामाजिक, सांवेगिक एवं व्यक्तित्व विकास

इस पूरे भाग में यह बताया गया है की बाल्यावस्था (2-12 वर्ष तक) जीवनकालिक विकास की महत्वपूर्ण अवस्था है, एवं इससे सम्बंधित संपूर्ण जानकारी उपलब्ध की गयी है|

पूर्व बाल्यावस्था
२ से 6 वर्ष की आयु पूर्व बाल्यावस्था कहलाती है जिसमें बच्चे की आत्मनिर्भरता में उत्तरोत्तर वृद्धि होती है| यह अवधि पाठशाला में प्रवेश की होती है|
उत्तर बाल्यावस्था
उत्तर बाल्यावस्था का आरंभ 6 वर्ष की आयु से होता है तथा वय:संधि के प्रारंभ अर्थात् 12 वर्ष तक चलता रहता है| बालक स्कूल में प्रवेश पा चुका रहता है|

नेवीगेशन
Back to top

T612019/06/24 18:44:5.935719 GMT+0530

T622019/06/24 18:44:5.953301 GMT+0530

T632019/06/24 18:44:5.953419 GMT+0530

T642019/06/24 18:44:5.953702 GMT+0530

T12019/06/24 18:44:5.909648 GMT+0530

T22019/06/24 18:44:5.909818 GMT+0530

T32019/06/24 18:44:5.909976 GMT+0530

T42019/06/24 18:44:5.910116 GMT+0530

T52019/06/24 18:44:5.910214 GMT+0530

T62019/06/24 18:44:5.910288 GMT+0530

T72019/06/24 18:44:5.911017 GMT+0530

T82019/06/24 18:44:5.911211 GMT+0530

T92019/06/24 18:44:5.911431 GMT+0530

T102019/06/24 18:44:5.911659 GMT+0530

T112019/06/24 18:44:5.911705 GMT+0530

T122019/06/24 18:44:5.911798 GMT+0530