सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / स्वास्थ्य / पोषाहार / पोषाहार से सम्बंधित विडियो / स्तनपान और छह महीने बाद का भोजन
शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

स्तनपान और छह महीने बाद का भोजन

इस लेख में स्तनपान और छह महीने बाद का भोजन कैसा हो, इसकी जानकारी दी गयी है।

स्तनपान और छह महीने बाद का भोजन


स्तनपान और छह महीने बाद का भोजन, देखिये इस विडियो में

स्तनपान का महत्व

जन्म के एक घण्टे के भीतर माँ का पहला गाढ़ा पीला दूध (कोलोस्ट्रम) बच्चे को देना चाहिए। यह बेहद ज़रूरी है। माँ का पहला दूध बच्चे के लिए सर्वश्रेष्ठ है, सुनिश्चित करें कि इसे फेंकने के बजाए यह बच्चे को प्राप्त हो।

कोलोस्ट्रम ज़रूरी है क्योंकि यह बच्चे के पांचन तंत्र को परिपक्व दूध के लिए तैयार करता है, जो बच्चे को अगले कुछ दिनों में मिलने वाला है। कोलोस्ट्रम विभिन्न प्रकार के पोषक तत्वों जैसे जिंक, कैल्शियम और विटामिनों से युक्त होता है।

जन्म के बाद पहले छह महीनों के लिए बच्चे को केवल माँ का दूध ही देना चाहिए, इसके अलावा और कुछ नहीं, यहां तक कि पानी भी नहीं। विशेष रूप से पहले छह महीने के लिए केवल स्तनपान के द्वारा कई तरह की बीमारियों जैसे डायरिया, न्युमोनिया आदि के कारण होने वाले नवजात शिशुओं की मौतों को रोका जा सकता है और बीमारियों के दौरान जल्द ठीक होने में मदद मिलती है।

सातवें महीने से, केवल माँ का दूध बच्चे की पोषण सम्बन्धी सभी आवश्यकताओं को पूरा करने में सक्षम नहीं होता। माँ के दूध के साथ पोषक आहार देना भी ज़रूरी हो जाता है। इस समय बच्चे को दिन में कई बार, उचित पूरक आहार देना शुरू कर देना चाहिए। छह महीने के बाद आप दिन में 3-4 बार बच्चे को आहार दें। और साथ ही याद रखें कि स्तनपान को जारी रखना भी ज़रूरी है।

लक्ष्य

कुपोषण के लक्षणों और इसके दुष्परिणामों के बारे में जागरुकता पैदा करना इस वीडियो का लक्ष्य है, ताकि समुदाय को इस पर उचित कार्रवाई करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके। यह व्यापक स्तर पर समुदाय को जानकारी देने के लिए है।

स्त्रोत: यूनिसेफ एवं अन्य विकास साझेदारों के सहयोग से महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा निर्मित।

3.05376344086
सितारों पर जाएं और क्लिक कर मूल्यांकन दें

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
संबंधित भाषाएँ
Back to top

T612019/10/21 00:28:57.492469 GMT+0530

T622019/10/21 00:28:57.511560 GMT+0530

T632019/10/21 00:28:57.512274 GMT+0530

T642019/10/21 00:28:57.512557 GMT+0530

T12019/10/21 00:28:57.471005 GMT+0530

T22019/10/21 00:28:57.471207 GMT+0530

T32019/10/21 00:28:57.471345 GMT+0530

T42019/10/21 00:28:57.471481 GMT+0530

T52019/10/21 00:28:57.471568 GMT+0530

T62019/10/21 00:28:57.471637 GMT+0530

T72019/10/21 00:28:57.472347 GMT+0530

T82019/10/21 00:28:57.472532 GMT+0530

T92019/10/21 00:28:57.472740 GMT+0530

T102019/10/21 00:28:57.472954 GMT+0530

T112019/10/21 00:28:57.473001 GMT+0530

T122019/10/21 00:28:57.473092 GMT+0530