सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / समाचार / नवोदय विद्यालय सौर ऊर्जा का उपयोग करेंगे
शेयर

नवोदय विद्यालय सौर ऊर्जा का उपयोग करेंगे

नए भवनों को अब जल और सौर ऊर्जा संचयन की योजनाओं से परिपूर्ण होना होगा ।

मानव संसाधन विकास मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने नवोदय विद्यालय समिति (एनवीएस) को सभी नवोदय विद्यालयों में सौर ऊर्जा अपनाने के उपाय करने का निर्देश दिया। नवोदय विद्यालय समिति की कार्यकारी समिति की 35वीं बैठक में नई दिल्ली में अध्यक्षता करते हुए उन्होंने इस बारे में विद्युत मंत्रालय से मार्गदर्शन लेने के लिए प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए कहा।

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए स्वेच्छा से छात्रों का मार्गदर्शन करने में एनवीएस के कुछ छात्रों द्वारा निभाई गई महत्वपूर्ण भूमिका की सराहना करते हुए, श्री जावड़ेकर ने एनवीएस के पूर्व छात्रों को इस कार्य में जोड़ने के लिए सोशल मीडिया नेटवर्क का इस्तेमाल करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा, कि इससे पूर्व-छात्रों की स्वैच्छिक भागीदारी का आधार व्‍यापक होगा और विद्यालयों की प्रगति पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। उन्होंने नवोदय विद्यालयों के पूर्व छात्रों से अपील की कि वे स्‍वेच्‍छा से बड़े पैमाने पर आगे आएं।

श्री जावड़ेकर ने यह इच्‍छा जाहिर की कि जिन शिक्षकों को छात्रवृति के माध्‍यम से विदेशों में प्रशिक्षण के लिए भेजा जाता है उनके प्रशिक्षण और उसका प्रणाली में उपयोग करने के बारे में अपनी रिपोर्ट साझा करने के लिए कहा जाए। उन्‍होंने यह भी निर्देश दिया कि जल और सौर ऊर्जा संचयन को नए भवनों की योजनाओं के प्रस्‍ताव का एक हिस्‍सा होना चाहिए।

उन्‍होंने मौजदा परिसरों में बायो गैस संयंत्रों और जल संचयन की संभावनाओं का पता लगाने के लिए भी कहा। नवोदय विद्यालय समिति के कामकाज की समीक्षा करते हुए उन्‍होंने समिति को छात्र-शिक्षक साथ रहने, स्‍कूल परिसर में साथ रहने वाले शिक्षकों और छात्रों के स्‍वास्‍थ्‍य सुधारक सकारात्‍मक प्रभाव का अध्‍ययन करने के लिए भी कहा।

स्त्रोत: पत्र सूचना कार्यालय

 


Back to top