सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / ऊर्जा
शेयर

ऊर्जा

  • rural-energy-image

    सबके लिए सतत ऊर्जा की ओर...

    आधुनिक ऊर्जा सेवाओं तक पहुँच विकास करने की महत्वपूर्ण कुंजी है। भारत के आगे बढ़ने के साथ ऊर्जा की मांग बढ़ोत्तरी पर है। इस महत्वपूर्ण समय पर ध्यान देने की जरूरत है-नवीकरणीय स्रोतों से ऊर्जा उत्पादन में वृद्धि करने, ऊर्जा संरक्षण और ऊर्जा क्षमता में सुधार करने की।

  • rural-energy-image

    ग्रीन पर्यावरण – हर किसी का दायित्व

    पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन अब केवल सम्मेलनों में चर्चा करने के वैश्विक मुद्दे नहीं रहे हैं। वे अब प्रत्येक की दैनिक जिंदगी को प्रभावित करते हुए हर आदमी की एक समस्या बन गये हैं। इसलिए, व्यक्तिगत तौर पर हमारा प्रयास पृथ्वी ग्रह को हरा-भरा करना है।

ऊर्जा संरक्षण में वृद्धि, ऊर्जा के स्तर में सुधार और नवीकरणीय स्रोतों से ऊर्जा के उत्पादन में वृद्धि कर विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में ऊर्जा के मामले में निश्चित रूप से आत्मनिर्भर बना जा सकता है।

यह ऊर्जा विषय पर आधारित भाग विभिन्न संदर्भों,अवधारणाओं एवं सफल कहानियों के माध्यम से ऊर्जा के विभिन्न रूपों की सूचना पहुँचाने का प्रयास कर रहा है जिससे आम लोग उसका उपयोग एवं उससे लाभ उठाने को प्रेरित हों।

ऊर्जा-कुछ मूल बातें

इस भाग में ऊर्जा की मूलभूत बातों के अंतर्गत ऊर्जा के स्त्रोत,ऊर्जा के प्रकार,ऊर्जा की इकाई और ऊर्जा एवं उसके उपयोग जैसी जानकारी दी गई है।

ऊर्जा प्रौद्योगिकी

इस भाग में ऊर्जा संरक्षण,ऊर्जा दक्षता,हरित ऊर्जा उत्पादन और वर्षा जल संरक्षण से जुड़ी विभिन्न प्रौद्यागिकी के बारे में जानकारी प्रदान करता है।

उत्तम प्रथा

इस भाग में समुदाय की ऊर्जा और पानी की मांग पर विभिन्न अनुभावों और प्रयोगों को प्रस्तुत किया गया है।

महिलाएं और ऊर्जा

यह भाग महिलाओं और ऊर्जा से जुड़े विभिन्न पहलुओं को प्रस्तुत करता है।

नीतिगत सहायता

इस भाग में सरकार सहित अन्य एजेंसियों से जुड़ी विभिन्न नीतियों और योजनाओं की जानकारी प्रस्तुत की गई है।

ग्रामीण नवाचार

यह भाग ग्रामीण स्तर पर जुड़े नवाचारों की जानकारी देता है।

पर्यावरण

यह भाग पर्यावरण से जुड़ी नीति,सुझाव प्रौद्योगिकी और अन्य सभी महत्वपूर्ण जानकारियों को प्रस्तुत करता है।


Prem Singh Jun 22, 2018 10:06 AM

Mere ganw me billion nahi solar system laga skta hu

Vijay Ganesh awjekar Jun 20, 2018 12:39 AM

Nice

Dinesh kumar netam Jun 18, 2018 07:29 AM

मुझे भी सोलर पैनल लगवाना है अपने खेत में

Sandeep kumar Jun 17, 2018 12:43 PM

आजकल हर शहर / गाँव में सबमर्सिबल का जोर है आप मोटर की दुकान पर जायें और पानी की समस्या के बारे में बात करें तो वो तुरंत आपको इसकी ही सलाह देगा क्योकि इसमें उसका लाभ है, स्थिति यह है बोरिंग करने वाले मिस्त्री मिल नहीं रहे हैं और एक बोरिंग पर 40 से 50 हजार का व्यय आ रहा है| पानी की आवश्यकता है तो ये भी आवश्यक है पर गरीब क्या करेगा जबकि ये समस्या अमीरों की पैदा की हुई है और इसके बाद कोई ये नहीं सोच रहा है कि सबमर्सिबल की नौबत क्यों आई और ये भी कहाँ तक चलने वाली है| जब साधारण हैण्ड पम्प थे कोई समस्या नहीं आई पर जबसे india mark-2 तथा साधारण मोटर का का प्रचलन हुआ पानी की बर्बादी होना प्रारम्भ हो गया और यह स्थिति आ गयी है, अब जब लोग सबमर्सिबल लगवा लेते हैं तो प्रेशर से वाहनों की धुलाई, फर्श की धुलाई और सुबह साढ़े नौ-दस बजे घर और दुकान के बाहर प्रेशर से ही कूड़े की सफाई और पानी का छिड़काव, इस बात से कोई मतलब नहीं कि कितना पानी बरबाद हो रहा है और धूप में तुरंत सूख जायेगा| व्XाXारिXों के नौकर भी नवाब हो रहे हैं दुकान के बाहर झाड़ू लगाने से बेइज्जती हो जाएगी इसलिए पाइप से ही कूड़े की सफाई होती है| सुबह के 10 बजे जब धूप तेज हो जाती है घर या दुकान के बाहर दरों पर पानी डालने का क्या अर्थ हो सकता है वो तो 10 मिनट से अधिक रुक ही नहीं सकता| घर में बोरिंग की आवश्यकता नहीं है वहां भी एक दूसरे को देख कर लोग सबमर्सिबल लगवा रहे हैं और अन्धाधुंध बेरहमी से पानी बरबाद कर रहे हैं| वास्तव में जल एक संसाधन है और ये किसी के बाप की बपौती नहीं है कि जितना चाहो बरबाद करो, जमीन का एक टुकड़ा किसी की संपत्ति होने मात्र से उसके नीचे के संसाधनों पर केवल उपयोग भर का अधिकार है न कि बरबाद करने का| पर इस सम्बन्ध में कोई कानून भी नहीं है और क्यों हो जैसी प्रजा वैसा राजा, जब सत्ता में बैठे लोगों के परिवार वालों का मिनरल वाटर की कम्पनियों में हिस्सा हो तो वो सरकार क्यों नियम-कानून बनाने लगी| हम बिना घी या दूध का सेवन किये जीवन बिता सकते हैं पर पानी के बिना एक भी दिन नहीं पर प्रकृति ने हमें यह उपहार निःशुल्क प्रदान किया है इसलिए हम इसका मूल्य नहीं समझ रहे है| किसी ने कहा था कि प्रकृति अपने साथ किये गए मजाक का बदला भयानक ढंग से लेती है, हमें यह याद रखने की आवश्यकता है| आने वाली पीढ़ियों के लिए हमारी पीढ़ी पेय जल कितना छोड़कर जायेगी जब हम इतना दोहन कर रहे है उपयोग कम बर्बादी ज्यादा। मेरे व्यक्तिगत विचार है कि हमारे पूर्वजों ने बहुत सोच समझ कर पानी का उपयोग किया और हम है कि इस तरफ ध्यान ही नही ...... जागरूक करती इस पोस्ट पर केवल चिंतन करने की आवश्यकता नही है बल्कि इस पर अमल भी करने की जरुरत है पानी की बर्बादी न हो। 🙏🙏🙏🙏🙏

Surendra कुमार यादव Jun 17, 2018 12:39 PM

हेलो सर मैं पीएXकेवीवाई से सोलर पैनल इंस्टालेशX टेक्XीशिXX का कोर्स कर चुका हूं क्या मैं अपने घर पर सोलर पैनल प्रोजेक्ट लगा सकते हैं

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
Back to top

T612018/06/24 23:28:25.805729 GMT+0530

T622018/06/24 23:28:25.813463 GMT+0530

T632018/06/24 23:28:25.813920 GMT+0530

T642018/06/24 23:28:25.814164 GMT+0530

T12018/06/24 23:28:25.786497 GMT+0530

T22018/06/24 23:28:25.786702 GMT+0530

T32018/06/24 23:28:25.786837 GMT+0530

T42018/06/24 23:28:25.786966 GMT+0530

T52018/06/24 23:28:25.787051 GMT+0530

T62018/06/24 23:28:25.787124 GMT+0530

T72018/06/24 23:28:25.787692 GMT+0530

T82018/06/24 23:28:25.787860 GMT+0530

T92018/06/24 23:28:25.788051 GMT+0530

T102018/06/24 23:28:25.788242 GMT+0530

T112018/06/24 23:28:25.788294 GMT+0530

T122018/06/24 23:28:25.788382 GMT+0530