सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / ऊर्जा / नीतिगत सहायता / प्रधानमंत्री उज्जवला योजना
शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना

इस भाग में बीपीएल परिवारों को एलपीजी उपलब्ध को सुनिश्चित कराने वाली उज्जवला योजना की जानकारी दी गई है।

भूमिका

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना नरेंद्र मोदी जी की भारत सरकार द्वारा शुरू की गयी एक बहुत ही महत्त्वाकांक्षी योजना है। उज्ज्वला योजना के अंतर्गत भारत सरकार एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराएगी। एलपीजी कनेक्शन केवल गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों से सम्बंधित महिलाओं को दिया जाएगा।

योजना के अंतर्गत भारत सरकार अगले 3 साल में 5 करोड़ बीपीएल  परिवारों को मुफ्त में एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराएगी। वर्तमान वित्तीय वर्ष (2016-17) में 1.5 करोड़ बीपीएल  (गरीबी रेखा से नीचे) परिवारों को एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का उद्देश्य

  1. उज्ज्वला योजना का मुख्य उद्देश्य पूरे भारत में स्वच्छ ईंधन के उपयोग को बढ़ावा देना है जो कि मुफ्त में एलपीजी कनेक्शन वितरित करके पूरा किया जा सकता है। योजना के लागू करने का एक उद्देश्य यह भी है कि इससे महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा मिलेगा और महिलाओं के स्वास्थ्य कि भी सुरक्षा कि जा सकती है।
  2. वर्तमान में उपयोग में आने वाले अशुद्ध जीवाश्म ईंधन के उपयोग को कम करना और शुद्ध ईंधन के उपयोग को बढाकर प्रदुषण में कमी लाना भी योजना के प्रमुख लक्ष्यों में से एक है।
  3. जो बीमारियाँ खाना बनाने के लिए उपयोग में आने वाले अशुद्ध जीवाश्म ईंधन के जलने से होती हैं, उज्ज्वला योजना के लागू होने के बाद उनमें भी कमी आने की सम्भावना है। इस प्रकार यह योजना महिलाओं और बच्चों को स्वस्थ रखने में भी सहायक सिद्ध होगी।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लिए कैसे आवेदन करें

योजना के लिए आवेदन करना बहुत ही आसान है। जो भी इच्छुक उम्मीदवार योजना का लाभ उठाना चाहते हैं उन्हें योजना का आवेदन पत्र भरकर अपने नजदीकी एलपीजी  वितरण केंद्र में जमा कराना है।

उज्ज्वला योजना का आवेदन पत्र एलपीजी  वितरण केंद्र से मुफ्त में प्राप्त किया जा सकता है अथवा ऑनलाइन भी डाउनलोड किया जा सकता है। 2 पन्ने के आवेदन पत्र में मांगी गयी सभी जानकारी जैसे कि नाम, पता, आधार कार्ड नंबर, जन धन/बैंक खाता संख्या इत्यादि भरना आवश्यक है।

आवेदन पत्र के अंदर ही आवेदक यह चयन कर सकता है कि उसे 14.2 किलो वाला गैस सिलिंडर चाहिए या फिर 5 किलो वाला।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लिए आवेदन पत्र

उज्ज्वला योजना के लिए आवेदन करने के लिए निर्धारित आवेदन पत्र अपने नजदीकी एलपीजी वितरण केंद्र से मुफ्त में प्राप्त किया जा सकता है। आवेदन पत्र ऑनलाइन भी डाउनलोड किया जा सकता है उसके बाद प्रिंट लेकर भरा जा सकता है।

आवेदन पत्र हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओँ में उपलब्ध है। आवेदन पत्र ऑनलाइन डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

महिला प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लिए आवेदन पत्र डाउनलोड करने के लिए इस लिंक पर जाएँ

योजना के लिए आवश्यक दस्तावेजों की सूची

योजना के लिए आवश्यक दस्तावेजों की प्रतिलिपि आवेदन पत्र के साथ ही जमा करानी होगी। जरूरी दस्तावेजों की सूची इस प्रकार है।

  1. पंचायत अधिकारी या नगर पालिका अध्यक्ष द्वारा अधिकृत बीपीएल  प्रमाणपत्र
  2. बीपीएल  राशन कार्ड
  3. एक फोटो आई डी जैसे की आधार कार्ड या मतदाता पहचान पत्र
  4. एक पासपोर्ट साइज फोटो
  5. ड्राइविंग लाइसेंस
  6. लीज करार
  7. टेलीफोन, बिजली या पानी का बिल
  8. पासपोर्ट की प्रति
  9. राजपत्रित अधिकारी द्वारा सत्यापित स्व-घोषणा पत्र
  10. राशन कार्ड
  11. फ्लैट आवंटन / कब्ज़ा पत्र
  12. आवास पंजीकरण दस्तावेज
  13. एलआईसी पालिसी
  14. बैंक / क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट

उपर दिए गए सभी दस्तावेजों को आवेदन पत्र के साथ संलग्न करने की जरूरत नहीं है। इस बारे में सटीक जानकारी के लिए अपने नजदीकी एलपीजी  वितरण केंद्र से ही संपर्क करें।

उज्ज्वला योजना के लिए पात्रता

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लिए इच्छुक लोगों का योजना के लिए पात्र होना अति आवश्यक है। जो भी आवेदक पात्र नहीं पाये गए उन्हें गैस कनेक्शन नहीं दिया जाएगा। पात्रता के मुख्य बिंदु इस प्रकार हैं।

  1. आवेदक द्वारा दी गयी सभी जानकारी को एसईसीसी  – 2011 डेटा के साथ मिलाया जाएगा तथा उसके पश्चात ही यह निर्णय लिया जाएगा की आवेदक योजना का पात्र है या नहीं ।
  2. आवेदक की उम्र 18 साल या इससे अधिक होनी चाहिए ।
  3. आवेदक बीपीएल  परिवार से सम्बन्ध रखने वाली महिला ही होनी चाहिए, पुरुष इस योजना के लिए आवेदन नहीं कर सकते ।
  4. आवेदक के घर में किसी के नाम से पहले से ही कोई भी एलपीजी  कनेक्शन नहीं होना चाहिए ।
  5. आवेदक के पास बीपीएल  प्रमाण पत्र अथवा बीपीएल  राशन कार्ड का होना आवश्यक है ।
  6. आवेदक द्वारा आवेदन फॉर्म में दी गयी सभी जानकारी ठीक होनी चाहिए ।

योजना के लिए पात्र बीपीएल  परिवारों की सूची राज्य सरकार और केंद्र शासित प्रदेशों की मदद से तैयार की जायेगी। तेल व्यापार कम्पनियां इस योजना के लिए आवेदन करने वाले सभी ग्रामीण आवेदकों की जानकारी को एसईसीसी -2011 के डेटाबेस के साथ मैच कराएंगी और उसके बाद ही गैस कनेक्शन उपलब्ध कराएंगी।

योजना का बजट और वित्त पोषण

भारत सरकार ने योजना के कार्यान्वयन के लिए कुल 8000 करोड़ रूपए का बजट बनाया है जो कि 3 साल के लिए है। वित्त वर्ष 2016-17 के लिए भारत सरकार के वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली जी पहले ही 2000 करोड़ रूपए चिन्हित कर चुके हैं।

योजना का वित्त पोषण अथवा योजना पर खर्च होने वाला पैसा एलपीजी  सब्सिडी में बचाए गए पैसे से होगा। भारत सरकार द्वारा जनवरी 2015 में शुरू किये गए “गिव-इट-उप” अभियान के अंतर्गत अब तक लगभग 1.13 करोड़ लोगों ने एलपीजी  सब्सिडी छोड़ दी है और वो लोग बाजार मूल्य पर एलपीजी  सिलिंडर खरीद रहे हैं। चलाये गए अभियान से अभी तक हज़ारों करोड़ रुपये कि बचत हो चुकी है जिसे उज्ज्वला योजना के लिए इस्तेमाल किया जाएगा।

वित्तीय सहायता

योजना के अंतर्गत भारत सरकार प्रत्येक पात्र बीपीएल  परिवार को 1600 रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी जो की गैस कनेक्शन खरीदने के लिए होगी।

भारत सरकार बीपीएल  परिवारों को स्टोव खरीदने और पहली बार सिलिंडर भरवाने के लिए आने वाले खर्च को अदा करने के लिए किस्तों की सुविधा भी प्रदान करेगी।

योजना का कार्यान्वयन

योजना का कार्यान्वयन भारत सरकार के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के अधीन किया जाएगा। इतिहास में पेट्रोलियम मंत्रालय की इस तरह की ये पहली योजना है जिससे करोड़ों गरीब परिवारों की महिलाओं को लाभ होगा। मूल स्तर पर योजना का कार्यान्वन तेल व्यापार कम्पनियों द्वारा किया जाएगा।

योजना वित्त वर्ष 2016-17 से लेकर 2018-19 तक 3 वर्ष के लिए चलायी जायेगी। इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में रह रहे परिवार जो की गरीबी रेखा से नीचे हैं उन्हें मुफ्त में एलपीजी  गैस कनेक्शन उपलब्ध कराया जाएगा।

उज्ज्वला योजना :अक्सर पूछे जाने वाले

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (पीएमयूवाई) क्या है?

इस योजना के नीचे गरीबी रेखा (बीपीएल) परिवारों की महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन उपलब्ध कराने के लिए है। इस योजना के तहत, 5 करोड़ एलपीजी कनेक्शन तीन साल की अवधि में गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों को दिया जाएगा। वर्ष 2016-17 के दौरान 1.5 करोड़ एलपीजी कनेक्शन पात्र लाभार्थियों को दिया जाएगा।

पीएमयूवाई की योजना दिशानिर्देश चाहे पेट्रोलियम और प्राकृतिक रसोई गैस मंत्रालय द्वारा अधिसूचित किया गया है?

हाँ, यह सूचना दे दी गई है और पेट्रोलियम और प्राकृतिक रसोई गैस मंत्रालय, भारत सरकार की वेबसाइट पर उपलब्ध है

मुझे कैसे पता चलेगा जो पीएमयूवाई के तहत एक पात्र लाभार्थी है?

पीएमयूवाई के तहत लाभार्थी एसईसीसी -2011डेटा की प्रकाशित सूची के माध्यम से पहचाना जाएगा। सर्वेक्षण में अभाव में से एक होने के परिवारों लक्ष्य लाभार्थियों होगा।

कौन उज्ज्वला योजना के लाभार्थी हो जाएगा?

एक बीपीएल परिवार की एक महिला, जो अपने घर में रसोई गैस कनेक्शन है। इस तरह की महिलाओं सदस्य निर्धारित केवाईसी आवेदन निकटतम वितरक के लिए एक ही भरने और जमा करके उज्ज्वला योजना के तहत नए एलपीजी कनेक्शन के लिए आवेदन कर सकते हैं। आवेदन पत्र प्रस्तुत करते समय, औरत पता, आधार संख्या और जन धन  / बैंक खाता का प्रमाण प्रस्तुत करेगा। (आधार नंबर उपलब्ध नहीं है, तो चरण समन्वय में यूआईडीएआई के साथ आधार नंबर जारी करने के लिए गरीबी रेखा से नीचे घर की औरत पर ले जाया जाएगा)।

कैसे पता करने के लिए आवेदक पीएमयूवाई के तहत योग्य है?

आवेदक निकटतम एलपीजी वितरक और रसोई गैस क्षेत्र अधिकारी / वितरक को उज्ज्वला केवाईसी फार्म जमा करें होगा, जो एसईसीसी-2011 डेटाबेस, वितरकों के खिलाफ और उनके बीपीएल की स्थिति और उनके घर पर रसोई गैस कनेक्शन नहीं होने का भौतिक सत्यापन जानने के बाद आवेदन की भरपाई कर देंगे (नाम, पता, आधार, बैंक खाते के विवरण और परिवार आदि के वयस्क सदस्य के आधार नंबर) एक समर्पित ओएमसी  वेब पोर्टल में प्रवेश करें / ओएमसी  के द्वारा दिए गए पासवर्ड के माध्यम से विवरण दर्ज करेंगे। ओएमसी  घर के किसी भी कई कनेक्शन या घर के वयस्क सदस्य के साथ एक मौजूदा कनेक्शन का पता लगाने के इलेक्ट्रॉनिक रूप से डी-डुप्लीकेशन व्यायाम का कार्य होगा। कोई एकाधिक कनेक्शन का पता चला है नए रसोई गैस कनेक्शन लाभार्थी को इस योजना के तहत जारी किया जाएगा।

कैसे लाभार्थी उज्ज्वला योजना के तहत दाखिला लिया हो जाएगी?

निकटतम एलपीजी वितरक को उज्ज्वला केवाईसी जमा करें और रसोई गैस क्षेत्र के अधिकारियों AHL_TIN नंबर के माध्यम से लाभार्थी की पहचान करके और उनके बीपीएल स्थिति जानने के बाद एसईसीसी -2011 डेटाबेस के खिलाफ आवेदन से मेल खाएगी, विवरण (दर्ज नाम, पता, आधार आदि ।) कि प्रवेश करें / ओएमसी  के द्वारा दिए गए पासवर्ड के माध्यम से एक समर्पित ओएमसी  वेब पोर्टल में। ओएमसी  इलेक्ट्रॉनिक रूप से डी-डुप्लीकेशन व्यायाम और अन्य उपाय लाभार्थी को इस योजना के तहत नए एलपीजी कनेक्शन के रिलीज से पहले शुरू होगा।

सब क्या उज्ज्वला लाभार्थी योजना उज्ज्वला के तहत हो रही है?

सुरक्षा जमा (सिलेंडर और दबाव नियामक) सहित नए कनेक्शन, का पूरा खर्च, सुरक्षा नली पाइप, डीजीसीसी  पुस्तक, स्थापना और एक समय के आधार पर प्रशासनिक खर्चों को घटा, सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। सरकार द्वारा वहन नए कनेक्शन की कुल लागत रुपये है 1600 /

कौन एलपीजी स्टोव शुल्क का भुगतान और फिर से भरना लागत होगा?

ग्राहक इस योजना के तहत नए रसोई गैस कनेक्शन की रिलीज के समय पर रसोई गैस स्टोव और पहले रीफिल आरोपों की खरीद की दिशा में भुगतान करना होगा। लाभार्थी के लिए अग्रिम भुगतान करने के लिए विकल्प होगा ही या लाभ उठाने के लिए वितरक को रिफिल / एलपीजी चूल्हे पर ऋण प्राप्त करने के लिए निर्धारित उपक्रम प्रस्तुत करके रसोई गैस स्टोव या पहले रीफिल या दोनों के लागत का भुगतान करने ईएमआई विकल्प विकल्प के साथ प्रदान की है। रसोई गैस स्टोव या रिफिल या दोनों की लागत प्रत्येक रीफिल की खरीद पर उपभोक्ता की वजह से ओएमसी  की सब्सिडी राशि से से ईएमआई के आधार पर बरामद किया जाएगा।

वहाँ रसोई गैस स्टोव और फिर से भरना के अग्रिम भुगतान के लिए ग्राहक चुनने के लिए एक प्राथमिकता हो जाएगा?

हाँ, रसोई गैस स्टोव और रिफिल का अग्रिम भुगतान के लिए चयन ग्राहकों रसोई गैस स्टोव और रिफिल के लिए ईएमआई के लिए चयन उन पर प्राथमिकता मिल जाएगा।

एक लाभार्थी बाजार से रसोई गैस स्टोव खरीदने और लाभ उठाने के लाभ कर सकते हैं?

एक ग्राहक तो प्रदान की है सकते हैं रसोई गैस स्टोव आईएसआई चिन्हित  है।

कौन सुरक्षा नली, डीजीसीसी  की लागत, सिलेंडर की धरोहर राशि के अलावा स्थापना शुल्क और दबाव नियामक उठाना पड़ेगा?

लागत यानी रुपये 1600 / - प्रति कनेक्शन तेल विपणन कंपनी के लिए प्रतिपूर्ति के लिए भी तरह से सरकार द्वारा वहन किया जाता है। तेल विपणन कंपनियों, इनटर्न, जारी एलपीजी कनेक्शन की संख्या की साप्ताहिक सुलह के बाद साप्ताहिक आधार पर संबंधित वितरक के खाते में सुरक्षा नली पाइप, डीजीसीसी  किताब और एक बार स्थापना और प्रशासनिक शुल्क यानी की लागत (100 + 25 + 75 = 200) की प्रतिपूर्ति उनके द्वारा पीएमयूवाई योजना के तहत।

कैसे वितरक अपने निवेश रसोई गैस स्टोव और पहले रीफिल लागत ग्राहकों को जो ईएमआई विकल्प का लाभ उठाया है करने के लिए दिया की दिशा में किए प्राप्त होगा?

लाभार्थी ईएमआई सुविधा का लाभ उठाने के मामले में, शुरू में रसोई गैस स्टोव और सबसे पहले रीफिल की लागत वितरक द्वारा वहन किया जाएगा और ईएमआई पर पीएमयूवाई योजना ग्राहकों द्वारा लिए गए तहत साप्ताहिक आधार पर जारी किया गया कनेक्शन की संख्या के आधार पर संबंधित ओएमसी  द्वारा प्रतिपूर्ति की जाएगी।

आवेदक एक बीपीएल घर के हैं का दावा करता है लेकिन उसका नाम एसईसीसी डेटा में दिखाई नहीं दे रहा है। उस मामले में, जो नाम जोड़ा पाने के लिए संपर्क करने के लिए है?

पीएमयूवाई के अंतर्गत नया कनेक्शन केवल महिलाओं जिसका नाम विधिवत एसईसीसी -2011डेटा में दर्ज की गई है करने के लिए जारी किया जाएगा।

आवेदक का नाम लाभार्थी उज्ज्वला के तहत दिखाया जा रहा है, लेकिन वह कोई और अधिक जीवित है, उसकी बेटी / पोती उज्ज्वला कनेक्शन मिल सकता है?

वे अन्य की स्थिति है कि केवल कनेक्शन घरेलू को दिया जाएगा और के रूप में निर्धारित अन्य शर्तों का पूरा करने के लिए पात्र अधीन हैं।

परिवार के किसी सदस्य से कोई आधार या बैंक खाता चल रहा है, कैसे उज्ज्वला के लिए आवेदन के लिए?

यह अनिवार्य है लाभार्थी के नाम पर आधार के साथ ही बैंक खाता है, करने के लिए। घर के अन्य सदस्यों के लिए, यह आधार संख्या प्रस्तुत करने के लिए अनिवार्य है।

एक ग्राहक जो उज्ज्वला के तहत कनेक्शन ले लिया है उसके संबंध हस्तांतरण कर सकते हैं?

नहीं हालांकि, कनेक्शन केवल लाभार्थी के निधन पर घर के सदस्य को ही प्राथमिकता औरत सदस्य के नाम पर स्थानांतरित किया जा सकता।

कैसे अग्रिम राशि उपभोक्ता को दिया जो ईएमआई विकल्प का लाभ उठाया और एक हस्तांतरण चाहता है से निपटने के लिए?

हस्तांतरण लाभार्थी के जीवन काल के दौरान नहीं होगा। हालांकि, कनेक्शन बकाया राशि राशि के समाशोधन के लिए परिवार के किसी सदस्य विषय के नाम पर हस्तांतरित किया जाएगा।

कहाँ एक उपभोक्ता पीएमयूवाई (उज्ज्वला) योजना के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं?

क) किसी भी जानकारी प्राप्त करने, प्रतिक्रिया प्रदान करने के लिए और किसी भी शिकायत तेल विपणन कंपनियों है कॉल सेंटर जो टोल फ्री नहीं 18002333555

ख) उपभोक्ताओं को भी यात्रा कर सकते हैं पेट्रोलियम और प्राकृतिक रसोई गैस मंत्रालय के इस लिंक पर जाएँ या कम से पहुँचा जा सकता है पंजीकरण के लिए माय एलपीजी के माध्यम से अपने रसोई गैस कंपनी (आईओसी, बीपीसी, एचपीसी) की पारदर्शिता पोर्टल पर जाएँ।

AHL_TIN नंबर क्या है?

AHL_TIN संक्षिप्त घरेलू सूची-अस्थाई पहचान संख्या है जो एक 29 अंकों अस्थायी एसईसीसी -2011द्वारा दिए गए संख्या है। लाभार्थियों की पहचान AHL_TIN पर आधारित है। यह परिवार के "सिर" के साथ शुरू हो रहा है और AHL_TIN नहीं। "1" के साथ समाप्त होता हर परिवार के लिए। परिवार के सदस्यों को इसी तो ........ 2, 3, 4 के साथ समाप्त श्रृंखला पर की AHT_TIN

एक बीपीएल परिवार व्यक्ति उसकी / उसके नाम एसईसीसी-2011 लाभार्थी सूची में प्रदर्शित होने की जरूरत नहीं है। कैसे वह / वह नामांकित कर सकते हैं?

 

लाभार्थी चिंतित जिला कलेक्टर से संपर्क करना।

नाम और एसईसीसी सूची के अनुसार परिवार के सदस्यों की संख्या क्या आवेदक द्वारा उज्ज्वला रूप में घोषित किया जाता है के साथ मेल नहीं खाता। किसे रिपोर्ट और हल करने के लिए?

आधार और बैंक खाते के साथ एसईसीसी डेटा में नाम के रूपांतरों पिता/ माता या पति या पत्नी के नाम पर प्रदान की मैच के पास की सीमा तक विचार किया जाएगा, जैसा भी मामला हो सकता है।

एसईसीसी सूची के अनुसार सभी वयस्क परिवार के सदस्यों की संख्या 'आधार' उज्ज्वला आवेदक द्वारा प्रदान नहीं कर रहे थे। लाभार्थी कनेक्शन जारी करने के लिए हकदार होंगे?

वयस्क परिवार के अन्य सदस्यों के आधार की अनुपलब्धता की स्थिति में, ग्राहक आशय का एक कारण और घोषणा है कि, वे इन परिवार के सदस्यों के नाम पर किसी भी कनेक्शन नहीं है देना चाहिए, और वे भीतर आधार नंबर प्रदान करेगा नामांकन की तारीख से 6 महीने की अवधि के समय। इस तरह के उपभोक्ताओं को स्टोव और रसोई गैस की लागत के लिए ईएमआई योजना के लिए पात्र नहीं होंगे।

उज्ज्वला योजना के तहत एलपीजी कनेक्शन जारी करने के लिए पात्रता मानदंड क्या है?

• नाम एसईसीसी   डेटा की सूची में उपलब्ध होना चाहिए

• आधार दस्तावेज़

• बैंक खाता जानकारी (IFCSC कोड और खाता संख्या (लाभार्थी या तो एक एकल खाता धारक या एक संयुक्त खाता लाभार्थियों के नाम पर अनिवार्य रूप से धारक)।

• सभी प्रमुख (18 वर्ष से  ऊपर) परिवार के सदस्यों के आधार प्रस्तुत

परिवार का नाम एसईसीसी डेटा में उपलब्ध है लेकिन कोई महिला सदस्य (पिता, पुत्र और नाबालिग बेटी के साथ एक परिवार की तरह, माँ समाप्त हो गया है) परिवार में एकमात्र महिला सदस्य की मौत है। कैसे इस तरह के मामलों में बीपीएल परिवार के लाभ का विस्तार करने के?

योजना के तहत नए कनेक्शन लाभार्थी के शेयर के अग्रिम भुगतान के पात्र पुरुष सदस्य विषय के लिए जारी किया जा सकता है।

एसईसीसी-2011डेटा में लाभार्थी सूची में किसी भी विसंगतियों देखते हैं, तो यह हो का समाधान करने के लिए प्रक्रिया क्या है?

यह लाभार्थी पर निर्भर विसंगति कनेक्शन जारी करने के लिए अनुरोध पर कार्रवाई करने से पहले सुधारा करने के लिए है।

मौजूदा बीपीएल परिवार जुदाई का एक परिणाम के रूप में या शादी की वजह से दो परिवारों में विभाजित किया गया है, और इसलिए एलपीजी कनेक्शन के लिए कह दो या अधिक सदस्यों की एक का दावा है?

यह अनिवार्य है प्रत्येक परिवार जिसके बिना कोई अलग कनेक्शन जारी किया जाएगा एसईसीसी   डेटा में अलग इकाई के रूप में अस्तित्व के लिए। हालांकि, एक परिवार नया कनेक्शन लेने के लिए अनुमति दी है।

एक परिवार के एसईसीसी डाटा में सूचीबद्ध है क्या होगा अगर लेकिन दिए गए पते में नहीं मिला?

एनआईसी / हटा एसईसीसी  डेटा से AHL_TIN को निष्क्रिय करना चाहिए।

क्या होगा यदि लाभार्थी के रसोई घर असुरक्षित है (फूस / छत घर छोड़ देता है, रसोई गैस स्थापना और गरीब वेंटिलेशन के लिए कोई ऊंचा है)?

स्थानीय निकाय बात राज्य सरकार के समक्ष उठाया जा सकता है कि अगर व्यवस्था की जा सकता है में मदद करता है। कुछ स्वैच्छिक एजेंसियों के साथ गठबंधन।

तेल विपणन कंपनियों को स्टोव और रसोई गैस की लागत लगभग की ओर अग्रिम ऋण वसूली करने में सक्षम नहीं हैं। 1500 रुपये / - प्रति अगले 2 वित्तीय वर्ष में भी कनेक्शन। पीएमयूवाई और लाभार्थियों की खपत के तहत एलपीजी कनेक्शन लेने के बाद बहुत कम या लाभार्थियों बाहर ले जाया जाता है या मिल नहीं हैं, या कैसे ओएमसी  नुकसान की भरपाई करने के लिए ऐसे मामलों में आदि उपकरण बेच दिया?

सरकार तेल विपणन कंपनियों को किसी भी बकाया राशि 2 वित्तीय वर्ष से परे वसूली के लिए लंबित के रूप में अगर नियमित तरीके से उपभोक्ता रीफिल की कि ज्यादा संख्या उपभोग करने के लिए उम्मीद कर रहे हैं की प्रतिपूर्ति के लिए। पीपीएसी पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस द्वारा तदनुसार सलाह दी जा करने के लिए ।

यह ओएमसी  पोर्टल में आधार और बैंक विवरण की प्रतियां स्कैन, अपलोड करने के लिए केवाईसी के साथ-साथ जरूरी है?

हाँ, वितरक प्रतियां स्कैन अपलोड करने के लिए।

गुजरात, 100 रु में / - स्टांप शुल्क की ओर ग्राहक से एकत्र की जा रही है। इस राशि ईएमआई में हिस्सा बन सकता है या यह ग्राहक से संग्रहीत किया जाता है?

इस योजना के लाभार्थी स्टांप शुल्क की दिशा में खर्च वहन करने।

वहाँ कनेक्शन की संख्या पर कोई प्रतिबंध उज्ज्वला के तहत जारी होने की है?

यह प्रति परिवार एक है। पात्र घर का कोई अन्य सदस्य नियमित रूप से कनेक्शन प्राप्त कर सकते हैं।

वहाँ किसी भी प्रतिबंध पर कनेक्शन की संख्या ईएमआई में रिफिल के साथ उज्ज्वला के तहत जारी होने की है?

नहीं

वहाँ किसी भी प्रतिबंध पर कनेक्शन की संख्या ईएमआई में हिमाचल प्रदेश के साथ उज्ज्वला  के तहत जारी होने की है?

कोई

वहाँ किसी भी प्रतिबंध पर कनेक्शन की संख्या रिफिल और हिमाचल प्रदेश ईएमआई में साथ उज्ज्वला के तहत जारी होने की है?

कोई

कैसे ग्राहक को पता चल जाएगा उसके कुल ऋण राशि है और जब उसे ऋण चुकाया है क्या?

प्रत्येक ओएमसी  ऐसे लाभार्थियों जो ईएमआई सुविधा के माध्यम से ऋण का लाभ उठाया है की अलग खाता बही खाते को बनाए रखने के लिए। यह वितरक के साथ साझा किया और फोन पर उपभोक्ता के लिए उपलब्ध किया जाना चाहिए। Q37। वहाँ एसईसीसी   के अनुसार एक परिवार में 7 (18 से ऊपर साल के।) के सदस्य हैं और ग्राहक कहते हैं केवल 5 उसके साथ रह रहे हैं। एक वितरक 5 आधार के साथ 7 आधार या मुद्दे कनेक्शन पर जोर देते हैं चाहिए।

केवाईसी प्रलेखन अत्यंत प्रयास से बाहर ले जाने जबकि एसईसीसी   डेटा में परिलक्षित करती है अन्य सभी परिवार के सदस्यों के आधार संख्या प्राप्त करने के लिए दिया जाना चाहिए। सबसे अच्छा प्रयास करता है, तो किसी भी परिवार के सदस्य की आधार संख्या उपलब्ध नहीं है व्यायाम के बाद हालांकि यहां तक कि, प्रपत्र अस्वीकार नहीं किया जाना चाहिए। हालांकि लाभार्थी जब उपलब्ध अगले तीन महीनों में आधार नंबर प्रदान करने की जानकारी दी जाए।

जब योजना मेरे राज्य में जारी किए जाएंगे?

योजना 1 मई, 2016 को उत्तर प्रदेश में माननीय प्रधानमंत्री द्वारा शुरू किया गया था और 15 वीं मई को गुजरात, मध्य प्रदेश और राजस्थान के राज्यों के लिए दाहोद में शुरू किया गया था, 2016 यह योजना देश भर में चरणबद्ध तरीके से शुरू किया गया है। यह राज्यों / राष्ट्रीय कवरेज के खिलाफ कम एलपीजी कवरेज होने संघ राज्य क्षेत्रों को प्राथमिकता देने का फैसला किया गया है।

वहाँ किसी भी कोटा प्रत्येक राज्य के लिए निर्धारित है?

कोई राज्यवार कोटा अब तक तय हो गई है। वहाँ तीन साल में 5 करोड़ और पहले साल में 1.5 करोड़ की एक समग्र लक्ष्य है। हालांकि, इस तरह के प्राथमिकता राज्यों / औसत एलपीजी कवरेज राष्ट्रीय औसत से कम होने संघ राज्य क्षेत्रों को दी जाएगी।

राज्य सरकार एक कनेक्शन की लागत का हिस्सा योगदान कर सकते हैं?

हां, यह संभव है, लेकिन योजना के नाम पीएमयूवाई रहेगा और कोई अन्य नाम की अनुमति दी जायेगी। जबकि कनेक्शन वितरण, क्रेडिट उपयुक्त रूप से राज्य सरकार को दिया जा सकता है। अपने योगदान के लिए एजेंसी।

उत्तर पूर्वी राज्यों, जहां विभिन्न जमा दरों वहाँ थे के मामले में मौजूदा, क्या उज्ज्वला कनेक्शन की सुरक्षा जमा दर हो जाएगा?

उज्ज्वला योजना के तहत सुरक्षा जमा दर जिस देश में सुरक्षा जमा की लागत भारत सरकार द्वारा वहन किया जाता है भर में एक समान है।

उज्ज्वला के तहत एक ग्राहक लाभ 5 किलो सिलेंडर कर सकते हैं?

हाँ, 5 किलो सिलेंडर भी उज्ज्वला योजना के तहत कवर किया जाता है।

 

स्रोत: प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना पोर्टल, भारत सरकार

3.02752293578

Bharat lal Gurjar fathers Gajanand Gurjar v.p Rathod the.bonli district sawai madhopur Raj.pin.code 322023 Jan 10, 2017 07:55 AM

Mera Name BPL Udaan Mantri Jwala Pradhan Mantri Ujjwala Yojana Mein Nahi Hai Nahi BPL Yojana Main Aur Mera Parivar ke varshik ay 1 lakhs nhi kam ha or mera name private mere father ka ajj take kids who sarkari yojana nahi aya h BLO adhikari riswat lekar 2011 survey Katya away 20% labh BLO Kamlesh again BLO adhikari NIMOD Rathod the.bolni sawai madhopur pin code 322023 Hamare Gav.me 10%logg Ashe Jin name nahi Jo logg riswat nahi dete van name nahi ha Sriman ji se nivedan hai hacking Hamari Shikayat parathyroid gland zaroor Jande Oru Hamari Hi Rab Kare phone number 97XXX40

अनीता DEVI Sep 18, 2016 09:24 PM

BPL नेकसन चाहिए उजला वाला कोई नही सुन रहा

ज्ञानेश्र्वर रायते, बारामती Jul 04, 2016 02:31 PM

आदरणीय प्रXाXXंत्रीजी, योजना बेहतर आहे. बहुत अच्छी है. मैने भी खुद गिव्ह इट अप मे सहभाग लिया है..पर महाराष्ट्र मे जो भी गॅस एजन्सी के पास अभी यादी है! वो सदोष है. एकही कुटुंब के कई सदस्योंके नाम पात्रता यादी मे है, और जिस परिजनों के लिए ये योजना है, उनका नाम नही है ऐसे मुझे दिखाई दिया..योजना बेहतर होती है. पर उसका अंमल अगर बेहतर नही हो पाया, तो सबकुछ बिघड जाता है. पात्र परिजनों की यादी ग्रामसभा मे तैयार होनी चाहीए. ग्रामसभा मे इसकी मान्यता होनी चाहीए. वरना गॅस एजन्सीज आजतक तो ग्राहकोंकी लूट करती ही थी, अब यादी का सहारा लेकर जिसतक लाभ मिलना चाहीए, वहॉ तक नही पहुंचेगा.

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
संबंधित भाषाएँ
Back to top

T612019/10/16 05:16:26.797775 GMT+0530

T622019/10/16 05:16:26.818082 GMT+0530

T632019/10/16 05:16:26.819208 GMT+0530

T642019/10/16 05:16:26.819655 GMT+0530

T12019/10/16 05:16:26.774648 GMT+0530

T22019/10/16 05:16:26.774852 GMT+0530

T32019/10/16 05:16:26.775015 GMT+0530

T42019/10/16 05:16:26.775203 GMT+0530

T52019/10/16 05:16:26.775294 GMT+0530

T62019/10/16 05:16:26.775369 GMT+0530

T72019/10/16 05:16:26.776040 GMT+0530

T82019/10/16 05:16:26.776222 GMT+0530

T92019/10/16 05:16:26.776426 GMT+0530

T102019/10/16 05:16:26.776631 GMT+0530

T112019/10/16 05:16:26.776676 GMT+0530

T122019/10/16 05:16:26.776769 GMT+0530