सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

भूमि विवाद

इस आलेख में भूमि विवाद के विषय में विस्तार से जानकारी दी गयी है |

कानून पर एक नज़र

सर्कार निजी ज़मीनों का अधिग्रहण, सार्वजनिक उद्देश्य से अथवा कम्पनीयों के लिए, भूमि के मालिक को भूमि छिन जाने के कारण अथवा उससे प्राप्त राजस्व की हानि की क्षतिपूर्ति हेतु पर्याप्त मुआवजा देकर, कर सकती है| सरकार द्वारा भूमि के अधिग्रहण से सम्बन्ध प्राथमिक विधान 1894 ई. का भूमि- अधिग्रहण अधिनियम है|

कानून की विस्तृत जानकारी

  1. प्राथमिक अधिसूचना
  2. आपत्तियों की जांच
  3. वांछित अधिग्रहण की घोषणा
  4. सम्बन्ध व्यक्तियों की सूचना
  5. कलेक्टर के अधिनिर्णय

 

 

  1. भूमि अधिग्रहण यहाँ क्लिक करें
3.01843317972

sandeep Aug 06, 2019 11:35 AM

सर क्या मध्XX्रXेश में खेत के रास्ते सम्बधित कोई नियम है जैसा की राजस्थान में धारा 251 ए रास्ते का नियम बनाया गया है। इस प्रकार का कोई नियम है क्या और यदि मै जैसे करीब 50 साल से जिस रास्ते पर गुर्जर रहा हूॅ लेकिन उस पर मेरा नाम नही चढा हुआ है तो उसमें मै कैसे कानूनी कार्यवाही कर सकता हॅू।

बिनय sharma Jun 27, 2019 11:40 AM

sir मेरी खेती की जमीन मे सडक बनाइ जा रही है परंतु मुझे मेरी भूमि का मुआवजा नही दिया गया है कृपया उचित सलाह देने की कृपया करे।

Ravindra Jun 15, 2019 10:33 AM

क्या कोई सार्वजनिक उपयोग वाला जमीन जो लगभग 50 60 वर्षों से लोग कर रहे हैं क्या व्यक्ति के द्वारा अधिग्रहण किया जा सकता है

राहुल Apr 10, 2019 10:57 PM

क्या बड़े भाई के नाम से खरीदी हुई जमीन पर छोटा भाई हिस्से का दावा कर सकता है, यदि जमीन पिता जी द्वारा खरीदी गई हो भाई उस समय नाबालिग था?

संसार सिह Mar 09, 2019 08:07 AM

sir मेरी खेती की जमीन मे सडक बनाइ जा रही है परंतु मुझे मेरी भूमि का मुआवजा नही दिया गया है कृपया उचित सलाह देने की कृपया करे।

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
Back to top

T612019/10/14 03:49:28.053606 GMT+0530

T622019/10/14 03:49:28.076439 GMT+0530

T632019/10/14 03:49:28.077125 GMT+0530

T642019/10/14 03:49:28.077396 GMT+0530

T12019/10/14 03:49:28.031980 GMT+0530

T22019/10/14 03:49:28.032183 GMT+0530

T32019/10/14 03:49:28.032324 GMT+0530

T42019/10/14 03:49:28.032470 GMT+0530

T52019/10/14 03:49:28.032562 GMT+0530

T62019/10/14 03:49:28.032634 GMT+0530

T72019/10/14 03:49:28.033324 GMT+0530

T82019/10/14 03:49:28.033514 GMT+0530

T92019/10/14 03:49:28.033723 GMT+0530

T102019/10/14 03:49:28.033928 GMT+0530

T112019/10/14 03:49:28.033973 GMT+0530

T122019/10/14 03:49:28.034065 GMT+0530