सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

भूमि विवाद

इस आलेख में भूमि विवाद के विषय में विस्तार से जानकारी दी गयी है |

कानून पर एक नज़र

सर्कार निजी ज़मीनों का अधिग्रहण, सार्वजनिक उद्देश्य से अथवा कम्पनीयों के लिए, भूमि के मालिक को भूमि छिन जाने के कारण अथवा उससे प्राप्त राजस्व की हानि की क्षतिपूर्ति हेतु पर्याप्त मुआवजा देकर, कर सकती है| सरकार द्वारा भूमि के अधिग्रहण से सम्बन्ध प्राथमिक विधान 1894 ई. का भूमि- अधिग्रहण अधिनियम है|

कानून की विस्तृत जानकारी

  1. प्राथमिक अधिसूचना
  2. आपत्तियों की जांच
  3. वांछित अधिग्रहण की घोषणा
  4. सम्बन्ध व्यक्तियों की सूचना
  5. कलेक्टर के अधिनिर्णय

 

 

  1. भूमि अधिग्रहण यहाँ क्लिक करें
3.02016129032

Rakesh Dec 27, 2019 03:25 PM

जमीन पर स्टे लग गया है तो एक मां अपने बेटों के नाम करा सकती है?

छगनलाल बरजोर Dec 20, 2019 06:51 PM

मैंने चरागाह भूमि पर मकान बनाया है मैं भूमिहीन परिवार में आता हूं क्या मुझे इस भूमि का मकान का पट्टा मिल सकता है

Aakash bansod Dec 05, 2019 05:16 PM

सर मैं क्या जान सकता हूँ कि सार्वजनिक उपयोग मे काम लाई जाने वाली जमीन पर 54 साल से मकान बना कर रह रहे भूमिहीन को उस जमीन का पटा मिल सकता है?

Dharmendra Nov 19, 2019 09:56 PM

सर मै कया जान सकता हू कि सार्वजनिक उपयोग मे काम लाई जाने वाली जमीन पर 54 साल से मकान बना कर रह रहे भूमीहीन को उस जमीन का पटा मिल सकता है

sandeep Aug 06, 2019 11:35 AM

सर क्या मध्XX्रXेश में खेत के रास्ते सम्बधित कोई नियम है जैसा की राजस्थान में धारा 251 ए रास्ते का नियम बनाया गया है। इस प्रकार का कोई नियम है क्या और यदि मै जैसे करीब 50 साल से जिस रास्ते पर गुर्जर रहा हूॅ लेकिन उस पर मेरा नाम नही चढा हुआ है तो उसमें मै कैसे कानूनी कार्यवाही कर सकता हॅू।

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
Back to top

T612020/01/21 15:57:30.609982 GMT+0530

T622020/01/21 15:57:30.635041 GMT+0530

T632020/01/21 15:57:30.635759 GMT+0530

T642020/01/21 15:57:30.636047 GMT+0530

T12020/01/21 15:57:30.587911 GMT+0530

T22020/01/21 15:57:30.588083 GMT+0530

T32020/01/21 15:57:30.588229 GMT+0530

T42020/01/21 15:57:30.588369 GMT+0530

T52020/01/21 15:57:30.588458 GMT+0530

T62020/01/21 15:57:30.588534 GMT+0530

T72020/01/21 15:57:30.589226 GMT+0530

T82020/01/21 15:57:30.589413 GMT+0530

T92020/01/21 15:57:30.589625 GMT+0530

T102020/01/21 15:57:30.589849 GMT+0530

T112020/01/21 15:57:30.589895 GMT+0530

T122020/01/21 15:57:30.589989 GMT+0530