सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

भूमि विवाद

इस आलेख में भूमि विवाद के विषय में विस्तार से जानकारी दी गयी है |

कानून पर एक नज़र

सर्कार निजी ज़मीनों का अधिग्रहण, सार्वजनिक उद्देश्य से अथवा कम्पनीयों के लिए, भूमि के मालिक को भूमि छिन जाने के कारण अथवा उससे प्राप्त राजस्व की हानि की क्षतिपूर्ति हेतु पर्याप्त मुआवजा देकर, कर सकती है| सरकार द्वारा भूमि के अधिग्रहण से सम्बन्ध प्राथमिक विधान 1894 ई. का भूमि- अधिग्रहण अधिनियम है|

कानून की विस्तृत जानकारी

  1. प्राथमिक अधिसूचना
  2. आपत्तियों की जांच
  3. वांछित अधिग्रहण की घोषणा
  4. सम्बन्ध व्यक्तियों की सूचना
  5. कलेक्टर के अधिनिर्णय

 

 

  1. भूमि अधिग्रहण यहाँ क्लिक करें
3.02688172043

Ravindra Jun 15, 2019 10:33 AM

क्या कोई सार्वजनिक उपयोग वाला जमीन जो लगभग 50 60 वर्षों से लोग कर रहे हैं क्या व्यक्ति के द्वारा अधिग्रहण किया जा सकता है

राहुल Apr 10, 2019 10:57 PM

क्या बड़े भाई के नाम से खरीदी हुई जमीन पर छोटा भाई हिस्से का दावा कर सकता है, यदि जमीन पिता जी द्वारा खरीदी गई हो भाई उस समय नाबालिग था?

संसार सिह Mar 09, 2019 08:07 AM

sir मेरी खेती की जमीन मे सडक बनाइ जा रही है परंतु मुझे मेरी भूमि का मुआवजा नही दिया गया है कृपया उचित सलाह देने की कृपया करे।

ज्योतना पाल Feb 25, 2019 09:30 AM

सर में ज्योतना पाल मेने ग्राम हैबत पुर , थाना बिसरख , गौतXXुX्XXगर , दादरी , में 70 गज का प्लॉट लिया है और आज एक लोकल डीलर कहता है कि ये मेरा है और जबकि हमने उस प्लाट की खारिज दाख़िल भी करवाया है , ओर इसकी चैन भी हमारे पास है उसके बावजूद भी वो पुलिस वालों को लेकर आता है और हमलोगो को धमकी देता है । इस वक़्त हुम् लोग बहुत परेशान है कृपया करके हमारी मदद करे में आपका आभारी रहूंगा।

Rohit Yadav Feb 25, 2019 07:16 AM

Sir hamari ek bigha zameen ki registry Kar baee Hanne Kisi me naam ab hum APNI zameen chutana Chardin hai lekin Bo nahi naan Raha. Jai kah Raha hai ki ek lakh do tab manooga lekin hamare pass 70hazar hai dene me list kripya kanooni sughab dein

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
Back to top

T612019/06/26 23:22:18.994542 GMT+0530

T622019/06/26 23:22:19.014036 GMT+0530

T632019/06/26 23:22:19.014716 GMT+0530

T642019/06/26 23:22:19.015008 GMT+0530

T12019/06/26 23:22:18.973898 GMT+0530

T22019/06/26 23:22:18.974068 GMT+0530

T32019/06/26 23:22:18.974204 GMT+0530

T42019/06/26 23:22:18.974345 GMT+0530

T52019/06/26 23:22:18.974430 GMT+0530

T62019/06/26 23:22:18.974500 GMT+0530

T72019/06/26 23:22:18.975184 GMT+0530

T82019/06/26 23:22:18.975370 GMT+0530

T92019/06/26 23:22:18.975570 GMT+0530

T102019/06/26 23:22:18.975771 GMT+0530

T112019/06/26 23:22:18.975815 GMT+0530

T122019/06/26 23:22:18.975905 GMT+0530