सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

असंगठित क्षेत्र

इस भाग में भारत के असंगठित क्षेत्र के बारे में जानकारी दी गई है।

असंगठित क्षेत्र-एक परिचय

अनौपचारिक या असंगठित क्षेत्र से जुड़े रोजगारों का एक विशाल बहुमत भारतीय अर्थव्यवस्था की एक विशेषता है। आर्थिक सर्वेक्षण 2007-08 के अनुसार भारत में कार्यरत 93% स्वरोजगारी और रोजगाररत कर्मचारियों की संख्या असंगठित क्षेत्र में जुड़ी थी। भारत सरकार के श्रम मंत्रालय को असंगठित श्रम बल के अनुसार- व्यवसाय, रोजगार की प्रकृति, विशेष रूप से व्यथित श्रेणियों और सेवा श्रेणियों के मामले में चार समूहों के तहत वर्गीकृत किया गया है।

  1. व्यवसाय के संदर्भ में:
    छोटे और सीमांत किसान, भूमिहीन खेतिहर मजदूर, हिस्सा साझा करने वाले, मछुआरे, पशुपालक, बीड़ी रोलिंग करनेवाले, ईंट भट्टों और पत्थर खदानों में लेबलिंग और पैकिंग करनेवाले, निर्माण और आधारभूत संरचनाओं में कार्यरत श्रमिक, चमड़े के कारीगर, बुनकर, कारीगर, नमक मजदूर, तेल मिलों आदि में कार्यरत श्रमिकों इस श्रेणी के अंतर्गत माना गया है ।
  2. रोजगार की प्रकृति के संदर्भ में:
    संलग्न खेतिहर मजदूर, बंधुआ मजदूर, प्रवासी मजदूर, अनुबंधी और दैनिक मजदूर इस श्रेणी के अंतर्गत आते हैं।
  3. विशेष व्यथित श्रेणियों के संदर्भ में :
    ताड़ी बनाने वाले, सफाईकर्मी, सिर पर भार ढ़ोने वाले, पशु चालित वाहन वाले श्रमिक इस श्रेणी के अंतर्गत आते हैं।
  4. सेवा श्रेणियों के संदर्भ में:
    घरेलू कामगार, मछुआरे और महिलाएं, नाई, सब्जी और फल विक्रेता, न्यूज पेपर विक्रेता आदि इस श्रेणी के अंतर्गत आते हैं।

असंगठित क्षेत्र में कल्याणकारी उपाय

श्रम और रोजगार मंत्रालय ने असंगठित क्षेत्र में आने वाले बुनकरों, हथकरघा श्रमिकों, मछुआरों और मछलीपालन करने वालों, ताड़ी निकालने वालों, चमड़ा कार्यकर्ताओं, वृक्षारोपण मजदूरों, बीड़ी मजदूर श्रमिकों के कल्याण सुनिश्चित करने के लिए , श्रमिक सामाजिक सुरक्षा अधिनियम, 2008 अधिनियमित किया । यह अधिनियम राष्ट्रीय सामाजिक सुरक्षा बोर्ड के एक संविधान उपलब्ध कराता है जो सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के निर्माण जीवन और विकलांगता कवर, स्वास्थ्य और मातृत्व लाभ, वृद्धावस्था सुरक्षा और कोई भी अन्य लाभ जो असंगठित मजदूरों के लिए सरकार द्वारा निर्धारित किया गया हो के लिए अपनी अनुशंसाएं देता है। तदनुसार, मंत्रालय ने एक राष्ट्रीय सामाजिक सुरक्षा बोर्ड का गठन किया है।

नीतियाँ और अधिनियम


स्रोत: श्रम और रोजगार मंत्रालय

3.11111111111

विमल कुमार Aug 12, 2016 10:00 AM

असंगठित मजदूर को परिभाषित करे

नंदकिशोर Aug 12, 2016 09:59 AM

सामाजिक सुरक्षा बिषय को पढ़कर बहुत अच्छा लगा ।

राजेश चौहान सेन Aug 12, 2016 09:58 AM

भारत मे नया समाज बहुत गरीब समाजहै। केन्द्र व राज्य सरकार मिल कर इन कल्याण योजनाओं को लागू करें।

अाशुतोष सिंह Aug 12, 2016 09:57 AM

कृपया योजनाओ के लागू होने की तिथि तथा वर्ष का विवरण दें।

नंदकिशोर महतो Aug 11, 2016 04:44 PM

सामाजिक सुरक्षा बिषय को पड़कर बहुत अच्छा लगा

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
संबंधित भाषाएँ
Back to top

T612019/12/08 00:36:42.564824 GMT+0530

T622019/12/08 00:36:42.582060 GMT+0530

T632019/12/08 00:36:42.582753 GMT+0530

T642019/12/08 00:36:42.583027 GMT+0530

T12019/12/08 00:36:42.539093 GMT+0530

T22019/12/08 00:36:42.539309 GMT+0530

T32019/12/08 00:36:42.539456 GMT+0530

T42019/12/08 00:36:42.539610 GMT+0530

T52019/12/08 00:36:42.539705 GMT+0530

T62019/12/08 00:36:42.539781 GMT+0530

T72019/12/08 00:36:42.540480 GMT+0530

T82019/12/08 00:36:42.540688 GMT+0530

T92019/12/08 00:36:42.540902 GMT+0530

T102019/12/08 00:36:42.541116 GMT+0530

T112019/12/08 00:36:42.541165 GMT+0530

T122019/12/08 00:36:42.541262 GMT+0530