सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

आयवर्द्धक गतिविधियाँ

इस भाग में उन सभी आयवर्धक गतिविधियों का विस्तृत उल्लेख किया गया है जिनका उपयोग कर ग्रामीण-जन अपनी आय में बढ़ोत्तरी कर सकते है|

झारखण्ड के विकास में स्वरोजगार की भूमिका
इस लेख का मुख्य उद्देश्य शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों के जीवन – स्तर में गुणात्मक एवं सकारात्मक सुधार लाने के विषय में सम्बंधित योजनाओं की जानकारी दी गई है।
झारखण्ड के परिप्रेक्ष्य में स्वरोजगार के प्रमुख क्षेत्र
इसका मुख्य उद्देश्य किस-किस क्षेत्र में स्वरोजगार की संभवनाएँ हो सकती है उसकी विस्तृत जानकारी दी गई है।
लाख उद्योग
इसका मुख्य उद्देश्य लाख उद्योग में महिलाओं के लिए रोजगार में भागीदारी एवं संभावनाओं जानकारी दी गई है।
रेशम उत्पादन
रेशम उद्योग एक ऐसा लघु उद्योग है जिसमें कम पूँजी में अच्छी कमाई की जा सकती है इस बारे में यहाँ जानकारी दी गई है।
मधुमक्खी पालन
मधुमक्खी पालन से स्वरोजगार के क्षेत्र में अच्छे अवसर विकसित होने की संभावनाएं हैं, इस बारे में यहाँ जानकारी दी गई है।
मशरूम उद्योग
मशरूम उद्योग द्वारा आर्थिक विकास की किन-किन जगहों पर संभावनाएं ज्यादा है इस बारे में यहाँ जानकारी दी गई है।
गौ पालन से रोजगार
इस भाग में किस तरह से गौ पालन द्वारा अपने आर्थिक स्थिति मजबूत कर युवाओं के पलायन को रोका जा सकता है इस बारे में यहाँ जानकारी दी गई है।
सुअर पालन से रोजगार
इस भाग में सुअर पालन द्वारा कम पूँजी एवं कम समय में आर्थिक स्थिति मजबूत करने की जानकारी दी गई है।
मुर्गीपालन
मुर्गीपालन का व्यवसाय कम जमीन, थोड़ी पूँजी थोड़ी मेहनत मेहनत से शुरू किया जा सकता है-इस बात की जानकारी यहाँ दी गई है।
मछली पालन से संबंधित शिक्षा-प्रशिक्षण
मत्स्य पालन व्यवसाय के लिए प्रशिक्षण की आवश्यकता को देखते हुए एवं उसमें रोजगार की नई संभावनाएं की जिज्ञासा को पूरा करती है मछली पालन से संबंधित शिक्षा-प्रशिक्षण की जानकारी।

नेवीगेशन
Back to top

T612019/10/14 15:52:19.149105 GMT+0530

T622019/10/14 15:52:19.236735 GMT+0530

T632019/10/14 15:52:19.236955 GMT+0530

T642019/10/14 15:52:19.237405 GMT+0530

T12019/10/14 15:52:19.032967 GMT+0530

T22019/10/14 15:52:19.033174 GMT+0530

T32019/10/14 15:52:19.033337 GMT+0530

T42019/10/14 15:52:19.033483 GMT+0530

T52019/10/14 15:52:19.033570 GMT+0530

T62019/10/14 15:52:19.033659 GMT+0530

T72019/10/14 15:52:19.035146 GMT+0530

T82019/10/14 15:52:19.035352 GMT+0530

T92019/10/14 15:52:19.035581 GMT+0530

T102019/10/14 15:52:19.035835 GMT+0530

T112019/10/14 15:52:19.035883 GMT+0530

T122019/10/14 15:52:19.035980 GMT+0530