सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / समाज कल्याण / ग्रामीण गरीबी उन्मूलन / प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना(पीएमएजीवाई)
शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना(पीएमएजीवाई)

इस भाग में प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना (पीएमएजीवाई) की जानकारी दी गई है।

परिचय

केंद्र सरकार द्वारा प्रायोजित प्रायोगिक योजना 'प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना' (पीएमएजीवाई) का, 50प्रतिशत से अधिक अनुसूचित जाति आबादी संकेद्रण वाले अनुसूचित जाति बाहुल्य गांवों के एकीकृत विकास हेतु कार्यान्वयन किया जा रहा है। प्रारंभ में यह योजना 5 राज्यों अर्थात असम, बिहार, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान एवं तमिलनाडु के 1000 गांवों में प्रायोगिक आधार पर आरंभ की गई थी। इस योजना को बाद में दिनांक 22.01.2015 को संशोधित करते हुए असम, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, पंजाब, उत्तराखण्ड, ओडिशा, झारखण्ड, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, और हरियाणा के 1500 अनुसूचित जाति बाहुल्य गांवों में विस्तारित किया गया।

उद्देश्य

इस योजना का प्रमुख उद्देश्य अनुसूचित जाति बाहुल्य गांवों का समेकित विकास करना है:

  • प्राथमिक रूप से, संगत केद्रीय एवं राज्य योजनाओं के अभिसरण क्रियान्वयन के माध्यम से
  • इन गांवों को अंतराल पूर्ति निधि के रूप में केद्रीय सहायता औसतन 20.00 लाख रू0 प्रति गांव तक प्रदान करना, इसमें 5 लाख रुपए की अतिरिक्त राशि प्रदान की जा सकती है यदि राज्य भी तद्नुरूप अंशदान करता है।
  • उन कार्यकलापों को आरंभ करने के लिए अंतराल-पूर्ति घटक की उपलब्धता कराना, जो केन्द्र एवं राज्य सरकार की मौजूदा योजनाओं के तहत कवर नहीं होते हैं और उन्हें 'अंतराल-पूर्ति' घटक के अंतर्गत आरंभ किया जाना हो।

लक्ष्य

  • गरीबी का यथासंभव उन्मूलन, किन्तु तीन वर्ष के भीतर कम से कम 50% तक इसके प्रसार में कमी।
  • सार्वभौमिक प्रौढ़ साक्षरता।
  • 100 नामांकन और प्रारंभिक चरण में बच्चों का बना रहना।
  • 2012 तक शिशु मृत्यु दर (प्रति हजार जीवित जन्म) में 30 तक तथा मातृ मृत्यु दर (प्रति लाख) में 100 तक कमी।
  • सभी पात्र परिवारों के लिए आईएवाई आवासों का 100 आबंटन।
  • गांव ग्रामीण विकास मंत्रालय के पेयजल आपूर्ति विभाग के निर्मल ग्राम पुरस्कार मानकों को पूरा करें।
  • सतत आधार पर सभी ग्रामवासियों के लिए सुरक्षित पेयजल सुविधा तक पहुंच।
  • गर्भवती महिलाओं के लिए 100% संस्थागत प्रसव। बच्चों का पूर्ण टीकाकरण।
  • गांव को पक्की सड़क के साथ जोड़ना।
  • गांव में मृत्यु और जन्म का 100% पंजीकरण।
  • कोई बाल विवाह और बाल श्रम नहीं।
  • शराब तथा अन्य नशीले पदार्थो के सार्वजनिक उपभोग पर प्रतिबंध।

स्त्रोत: सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय

3.03947368421

अनिल गुप्ता Feb 10, 2019 06:53 AM

में कृषि से संबंधित है पोडी से मोबाइल नम्बर 90093 57237

Anil kumar bind Nov 02, 2018 08:25 AM

गाँव. जियनचक लोहिया है जो की हमारे गाव में लोहिया अवास आया है लेकिन कोई अवास पूरा नही हुआ है क्याे नही पूरा नही हुआ है. 3,30,000 रू0 आया था जिसमे से 30,000 हजार सोलर लाइट के लिए काट लिया गया था अब जो लोग अपना पैसा लगाकर अवास बनवाये है तो उनको तो सोलर लाईट नही देने की बात कर रहे है.

अरुण कुमार Mar 31, 2018 03:40 PM

मेरे पास कोई घर नहीं है मुझे सर होम लोन चाहिए

Hashmat Sep 10, 2017 06:45 AM

Ham p m se gujarish karta hon jab aapne kisano ka karaz maf kiya he gareb aadmi ko benk lone nahi dete .fainece campani ne unko lone diya aap un gareebo ka bhi lone maf karade me bhi karazdar hon bahut jiyada isliye kehra app pehle pm he jo gareebo ke bare me barte hen

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
संबंधित भाषाएँ
Back to top

T612019/10/14 16:27:1.876053 GMT+0530

T622019/10/14 16:27:1.894956 GMT+0530

T632019/10/14 16:27:1.895710 GMT+0530

T642019/10/14 16:27:1.896005 GMT+0530

T12019/10/14 16:27:1.851738 GMT+0530

T22019/10/14 16:27:1.851915 GMT+0530

T32019/10/14 16:27:1.852062 GMT+0530

T42019/10/14 16:27:1.852228 GMT+0530

T52019/10/14 16:27:1.852328 GMT+0530

T62019/10/14 16:27:1.852405 GMT+0530

T72019/10/14 16:27:1.853132 GMT+0530

T82019/10/14 16:27:1.853331 GMT+0530

T92019/10/14 16:27:1.853538 GMT+0530

T102019/10/14 16:27:1.853764 GMT+0530

T112019/10/14 16:27:1.853810 GMT+0530

T122019/10/14 16:27:1.853902 GMT+0530