सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

सुगम्य भारत अभियान

इस भाग में सुगम्य भारत अभियान की जानकारी दी गई है।

निशक्त:जनों के अधिकार

विकलांग व्यक्तियों के लिए सार्वभौतिक सुगम्यता उन्हें समान अवसरों तक पहुंच बनाने हेतु सक्षम बनाने और आत्मनिर्भरता पूर्वक रहने और एक समावेशी समाज में जीवन के सभी पहलुओं में पूर्ण रुप से भाग हेतु अनिवार्य है। विकलांगजन (समान अवसर अधिकार संरक्षण और पूर्ण भागीदारी) अधिनियम, 1995 की धारा 44 और 45 के अंतर्गत, क्रमशः परिवहन और सड़क और निर्मित वातावरण में स्पष्ट तौर पर गैर-भेदभाव का प्रावधान है। विकलांग व्यक्तियों के अधिकारों पर यू.एन.कन्वेंशन का अनुच्छेद 9, जिस पर भारत हस्ताक्षकर्ता देश है, सरकारों पर

  • सूचना,
  • परिवहन,
  • भौतिक वातावरण,
  • संचार टैकनोलजी और
  • सेवाओं और आपातकालीन सेवाओं तक विकलांग व्यक्तियों की पहुंच सुनिश्चित करने का दायित्व सरकार पर डालती है।

सरकार का यह दायित्व है कि वह एक समावेशी समाज का सृजन करें, जिसमें एक उत्पादन, सुरक्षित और प्रतिष्ठित जीवन जीने हेतु विकलांग व्यक्तियों की प्रगति और विकास हेतु समान अवसर और पहुंच मुहैया कराई जा सके।

लक्ष्य एवं विचार

एक समावेशी समाज में विकलांग व्यक्तियों की समान अवसरों तक पहुंच सुनिश्चित करने और आत्मनिर्भरपूर्वक रहने और जीवन के सभी क्षेत्रों में पूर्ण रुप से भाग लेने में उन्हें सक्षम बनाने हेतु, उनकी सार्वभौमिक (यूनिवर्सल) पहुंच सुनिश्चित करना आवश्यक है। विकलांगजन सशक्तिकरण विभाग, ने विकलांग व्यक्तियों हेतु सार्वभौमिक सुगम्यता प्राप्त करने के लिए एक राष्ट्रव्यापी फ्लैगशिप अभियान सुगम्य भारत अभियान की शुरूआत की है, जो समावेशी समाज में, विकलांग व्यक्तियों को समान अवसर तथा स्वतंत्र जीवन यापन और जीवन के सभी क्षेत्रों में भागीदारी करने के लिए सक्षम बनाने में मदद करेगा।

उठाये गये महत्वपूर्ण कदम

  • सुगमता के संवर्धन के लिए संस्थागत समन्वय, प्रवर्तन तंत्र तथा विकलांग व्यक्ति अधिनियम की जागरूकता के सम्मिश्रण द्वारा अभियान के कार्यान्वयन हेतु केन्द्रीय मंत्रालय/विभागों, राSBAज्य सरकारों सुगम्यता पेशेवरों तथा विशेषज्ञों के प्रतिनिधियों के साथ, एक संचालन समिति और एक कार्यक्रम निगरानी यूनिट का गठन किया गया है।
  • पहले चरण में 48 शहरों को चुना गया है जिनमें सरकारी भवन तथा सार्वजनिक सुविधाओं को जुलाई, 2016 तक पूर्णतः सुगम्यता में बदला जाना है।
  • सुगम्यता के बारे में जागरूकता फैलाने तथा सुगम्य भवनों, सुगम्य परिवहन तथा सुगम्य वेबसाइट का निर्माण।

सुगम्य भारत अभियान-एक शुरुआत

नि:शक्‍तजनों के लिए राष्ट्रव्यापी सुगम्‍य भारत अभियान शुरु किया गया है । राष्‍ट्रव्‍यापी यह अभियान नि:शक्‍तजनों को सार्वभौमिक पहुंच प्राप्‍त करने, विकास के लिए समान अवसर प्रदान करने, स्‍वतंत्र जीविका तथा समावेशी समाज के सभी पक्षों में उनकी भागीदारी में सहायक होगा।

कार्ययोजना

  • सभी प्रमुख स्टेकहोल्डर्स जैसे स्थानीय जन प्रतिनिधि, राज्यों के सरकारी अधिकारी, शहरी विकास विभाग, ग्रामीण विकास विभाग, पीडब्ल्युडी, पुलिस, सड़क, रेलवे, एयरपोर्ट के प्रतिनिधि, पेशेवर लोग जैसे-इंजीनियर, वास्तुविद, रियल स्टेट डेवलेपर्स, न्यायाधीश, छात्र, एनजीओ, सार्वजनिक क्षेत्र तथा अन्यों के प्रतिनिधि आदि को संवेदी बनाने के लिए क्षेत्रीय जागरूकता कार्यशालाओं का आयोजन किए जाने की योजना।
  • सार्वजनिक प्रचार सामग्री जैसे-ब्रॉशर, शैक्षिक बुकलेट, पोस्टर आदि तथा सुगम्यता के मुद्दे पर वीडियो का सृजन तथा प्रसार।
  • सुगम्यता स्थानों के बारे में व्यापक जानकारी प्राप्त करने के लिए जनसमूह एकत्र करने के मंच के सृजन हेतु, ‘मोबाइल एप’ सहित पोर्टल का सृजन, रैम्पस, सुगम्य टॉयलेट तथा सुगम्य रैम्पस आदि सृजन हेतु प्रस्तावों की मंजूरी के लिए जानकारी प्रदान करना तथा सुगम्य भवनों तथा परिवहन के सृजन हेतु सीएसआर संसाधनों को चैनेलाइज्ड करना।
  • देशभर में निकटवर्ती सुगम्य स्थानों का पता करने के लिए, अंग्रेजी हिंदी तथा अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में एक मोबाइल एप्लिकेशन विकसित करना।

निर्धारित लक्ष्य

  • अभियान के अंतर्गत राष्‍ट्रीय राजधानी तथा राज्‍यों के राजधानियों के सभी सरकारी भवनों के पचास प्रतिशत को जुलाई 2018 तक नि:शक्‍तजनों के लिए सुगम बनाना।
  • देश में अंतर्राष्‍ट्रीय हवाई अड्डों तथा ए1,ए तथा बी श्रेणी के स्‍टेशनों को जुलाई 2016 तक नि:शक्‍तजनों के लिए सुगम बनाना।
  • मार्च 2018 तक देश में सरकारी क्षेत्र के परिवहन वाहनों को नि:शक्‍तजनों के लिए सुगम बनाना।
  • यह सुनिश्चित करना कि केंद्र सरकार तथा राज्‍य सरकारों द्वारा जारी किए जाने वाले सार्वजनिक दस्‍तावेजों का कम से कम पचास प्रतिशत हिस्‍सा नि:शक्‍तजनों के लिए पहुंच मानकों को पूरा करें।

स्त्रोत:विकलांगजन सशक्तीकरण विभाग,भारत सरकार।

3.08791208791

हितेश Chaudhari Feb 19, 2018 11:59 PM

सर मै mscit टैली पास हु 10vi १२वी एक बैक है मै बेरोजगार हु

Saroj kumar Nov 25, 2017 06:59 AM

Sir mai Laft Hand se Apang hu 40% hai viklangta hai Mai B.a pas hu sir avi berojgar hu sir koi rojgar mil sakta hai sir.

चेतन प्रसाद साहू Oct 02, 2017 07:58 AM

मै पैर से ४०%प्रतिशत विकलांग हूँ मै २०१५ मे कम्प्यूटर आपरेटर था जो सरकार के माद्यम से निकाल दिया गया जिसे मै बेरोजगार हूँ मुझ नवकरी की आवश्यकता है

Deepak sain Aug 12, 2017 11:26 AM

सर मुझे यह बताया जाबे विंकलागो को दिया जा रहा आरछण या समाज मे जिवन जीना एक उसका अधिकार है। या भीख जैसे किसी भिखारी कोभीख मागते समय कोई व्यक्ति रहम आजाता है ।तोवह भीख देदेताहै। या कोई दक्का देकर गाली देता है। क्प्या यह बताने का क ष्ट करे ,यह भी बताने का कष्ट करनै की कृप्या करे की

गिरधारी लाल धाकड़ Jan 18, 2017 05:35 PM

कोई तो मेरी शादी कर वा दो रे मेरे पास रोजगार का कोई साधन नही हे कोई तो मेरी सहायता करो या दिलवा दो

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
संबंधित भाषाएँ
Back to top

T612019/10/21 13:22:25.692074 GMT+0530

T622019/10/21 13:22:25.716260 GMT+0530

T632019/10/21 13:22:25.717006 GMT+0530

T642019/10/21 13:22:25.717305 GMT+0530

T12019/10/21 13:22:25.665664 GMT+0530

T22019/10/21 13:22:25.665839 GMT+0530

T32019/10/21 13:22:25.665984 GMT+0530

T42019/10/21 13:22:25.666125 GMT+0530

T52019/10/21 13:22:25.666229 GMT+0530

T62019/10/21 13:22:25.666305 GMT+0530

T72019/10/21 13:22:25.667044 GMT+0530

T82019/10/21 13:22:25.667266 GMT+0530

T92019/10/21 13:22:25.667488 GMT+0530

T102019/10/21 13:22:25.667716 GMT+0530

T112019/10/21 13:22:25.667764 GMT+0530

T122019/10/21 13:22:25.667859 GMT+0530