सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / समाज कल्याण / राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन / झारखंड में पंचायती राज-सफलता की कहानी
शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

झारखंड में पंचायती राज-सफलता की कहानी

इस भाग में झारखंड में पंचायती राज की सफलता से जुड़े उदाहरणों से आपका परिचय कराया गया है।

आत्मनिर्भरता की वकालत
इस भाग में झारखंड राज्य के नामकुम प्राखंड में धीरे-धीरे परिवर्तन ला रही दोरोथिया दयामनी के बारे में बताया गया है।
खुशहाली की फसल
इस भाग में गुमला जिले घाघरा प्राखंड की पंचायत की मुखिया द्वारा पारंपरिक खेती में लाए जा रहे परिवर्तनों को साझा किया गया है।
पंचायत व्यवस्था में खाद-पानी
इस श्रृंखला में रांची जिले के टाटी सिल्वे प्रखंड की टाटी पूर्वी पंचायत की मुखिया किरण पहान की सफल कहानी के बारे में बताया गया है।

नेवीगेशन
Back to top

T612019/06/26 19:17:12.683478 GMT+0530

T622019/06/26 19:17:12.704328 GMT+0530

T632019/06/26 19:17:12.704437 GMT+0530

T642019/06/26 19:17:12.704689 GMT+0530

T12019/06/26 19:17:12.658166 GMT+0530

T22019/06/26 19:17:12.658319 GMT+0530

T32019/06/26 19:17:12.658458 GMT+0530

T42019/06/26 19:17:12.658594 GMT+0530

T52019/06/26 19:17:12.658676 GMT+0530

T62019/06/26 19:17:12.658743 GMT+0530

T72019/06/26 19:17:12.659407 GMT+0530

T82019/06/26 19:17:12.659577 GMT+0530

T92019/06/26 19:17:12.659778 GMT+0530

T102019/06/26 19:17:12.659984 GMT+0530

T112019/06/26 19:17:12.660026 GMT+0530

T122019/06/26 19:17:12.660120 GMT+0530