सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / समाज कल्याण / राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन / झारखंड में पंचायती राज-सफलता की कहानी
शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

झारखंड में पंचायती राज-सफलता की कहानी

इस भाग में झारखंड में पंचायती राज की सफलता से जुड़े उदाहरणों से आपका परिचय कराया गया है।

आत्मनिर्भरता की वकालत
इस भाग में झारखंड राज्य के नामकुम प्राखंड में धीरे-धीरे परिवर्तन ला रही दोरोथिया दयामनी के बारे में बताया गया है।
खुशहाली की फसल
इस भाग में गुमला जिले घाघरा प्राखंड की पंचायत की मुखिया द्वारा पारंपरिक खेती में लाए जा रहे परिवर्तनों को साझा किया गया है।
पंचायत व्यवस्था में खाद-पानी
इस श्रृंखला में रांची जिले के टाटी सिल्वे प्रखंड की टाटी पूर्वी पंचायत की मुखिया किरण पहान की सफल कहानी के बारे में बताया गया है।

नेवीगेशन
Back to top

T612019/10/14 15:44:34.159826 GMT+0530

T622019/10/14 15:44:34.184791 GMT+0530

T632019/10/14 15:44:34.184919 GMT+0530

T642019/10/14 15:44:34.185213 GMT+0530

T12019/10/14 15:44:34.125884 GMT+0530

T22019/10/14 15:44:34.126059 GMT+0530

T32019/10/14 15:44:34.126255 GMT+0530

T42019/10/14 15:44:34.126404 GMT+0530

T52019/10/14 15:44:34.126494 GMT+0530

T62019/10/14 15:44:34.126597 GMT+0530

T72019/10/14 15:44:34.128076 GMT+0530

T82019/10/14 15:44:34.128467 GMT+0530

T92019/10/14 15:44:34.128887 GMT+0530

T102019/10/14 15:44:34.129407 GMT+0530

T112019/10/14 15:44:34.129485 GMT+0530

T122019/10/14 15:44:34.129605 GMT+0530