सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / समाज कल्याण / सामाजिक जागरुकता / स्वच्छता के लिए जागरूकता
शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

स्वच्छता के लिए जागरूकता

इस लेख में लोगों से स्वच्छता को बढ़ावा देने की अपील की गयी है।

स्वच्छता , सुरक्षा , और सफाई , शौचालय संग लाई !!!

खुले में शौच जाने से महिलाओं में आत्म सम्मान की भावना कम हो जाती है और असुरक्षा की भावना उत्पन होने लगती है। गाँवों में बलात्कार होने का एक मुख्य कारण खुले में शौच जाना  भी है।

खुले में शौच जाने से प्रदूषण होता है, और साथ ही साथ इससे वातावरण भी अस्वस्थ होता है। जैसे की जिस तालाब में हम शौच के बाद हाथ धोते है , वही पानी पीने के प्रयोग में लाया जाता है, जिससे की टाइफाइड और डाइरिया होने की सम्भावना होती है।

इसके लिए सरकार ने अपने कदम आगे बढ़ाये है और हर घर में शौच बनाने में मदद कर रही है, और इसकी पूरी लागत सरकार के द्वारा निःशुल्क उपलब्ध करायी जाती है।

स्त्रोत: पत्र सूचना कार्यालय

 

2.96103896104

दिलीप देव द्विवेदी Dec 02, 2016 02:22 PM

स्वच्छता के लिए जागरूकता व्यू संपादन सुझाव योगXाXकर्ता अवस्था संपादित करने के स्वीकृत स्वच्छता के लिए जागरूकता स्वच्छता , सुरक्षा , और सफाई , शौचालय संग लाई !!! खुले में शौच जाने से महिलाओं में आत्म सम्मान की भावना कम हो जाती है और असुरक्षा की भावना उत्पन होने लगती है | गाँवों में बलात्कार होने का एक मुख्य कारण खुले में शौच जाना भी है | खुले में शौच जाने से प्रदूषण होता है, और साथ ही साथ इससे वातावरण भी अस्वस्थ होता है | जैसे की जिस तालाब में हम शौच के बाद हाथ धोते है , वही पानी पीने के प्रयोग में लाया जाता है, जिससे की टाइफाइड और डाइरिया होने की सम्भावना होती है | इसके लिए सरकार ने अपने कदम आगे बढ़ाये है और हर घर में शौच बनाने में मदद कर रही है, और इसकी पूरी लागत सरकार के द्वारा निःशुल्क उपलब्ध करायी जाती है | आज भी सफाई को बढ़ावा देने पर भी सफाई नही हो रही क्यों हर व्यक्ति जागरूक नही हैं आज के दौर मे व्यक्ति किसी भी चीज को बैठे बैठे आपने पास आनी चईये ये सोच से चल रहा हैं,ऐसी स्थिति को देखते हुए भारत सरकार के जरिये सभी दुकान दार व्यपारी स्कूल कॉलेज सभी जगह डस्ट बिन रखने का नियम निकलना चईये । डस्ट बिन तो रखे जाते हैं पर सभी जगह कंपलसरी नही हैं इसे कंपलसरी कर न चईये।

XISS Aug 26, 2015 10:17 AM

ऋषभ चौरसिया जी आपके सुझाव के लिए धन्यवाद

ऋषभ चौरसिया Aug 25, 2015 09:53 PM

आज भी सफाई को बढ़ावा देने पर भी सफाई नही हो रही क्यों हर व्यक्ति जागरूक नही हैं आज के दौर मे व्यक्ति किसी भी चीज को बैठे बैठे आपने पास आनी चईये ये सोच से चल रहा हैं,ऐसी स्थिति को देखते हुए भारत सरकार के जरिये सभी दुकान दार व्यपारी स्कूल कॉलेज सभी जगह डस्ट बिन रखने का नियम निकलना चईये । डस्ट बिन तो रखे जाते हैं पर सभी जगह कंपलसरी नही हैं इसे कंपलसरी कर न चईये। जय श्री राम

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
संबंधित भाषाएँ
Back to top

T612020/04/02 02:17:27.000736 GMT+0530

T622020/04/02 02:17:27.025092 GMT+0530

T632020/04/02 02:17:27.025751 GMT+0530

T642020/04/02 02:17:27.026011 GMT+0530

T12020/04/02 02:17:26.980104 GMT+0530

T22020/04/02 02:17:26.980264 GMT+0530

T32020/04/02 02:17:26.980398 GMT+0530

T42020/04/02 02:17:26.980530 GMT+0530

T52020/04/02 02:17:26.980614 GMT+0530

T62020/04/02 02:17:26.980685 GMT+0530

T72020/04/02 02:17:26.981335 GMT+0530

T82020/04/02 02:17:26.981510 GMT+0530

T92020/04/02 02:17:26.981754 GMT+0530

T102020/04/02 02:17:26.981952 GMT+0530

T112020/04/02 02:17:26.981996 GMT+0530

T122020/04/02 02:17:26.982084 GMT+0530