অসমীয়া   বাংলা   बोड़ो   डोगरी   ગુજરાતી   ಕನ್ನಡ   كأشُر   कोंकणी   संथाली   মনিপুরি   नेपाली   ଓରିୟା   ਪੰਜਾਬੀ   संस्कृत   தமிழ்  తెలుగు   ردو

सरसों : उन्नत किस्म

सरसों: पूसा सरसों 30 (उन्नत किस्म)

  • कम ईरुसिक अम्ल (<2.0%) जो कि प्रचलित किस्मों में 40% से अधिक होता है
  • तेल की मात्रा: 37.7 प्रतिशत
  • बीज उपज: 18.2 क्विं./हें.
  • फसल पकने की अवधि: 137 दिन
  • सिंचित तथा समय से बुआई के लिए उपयुक्त
  • उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश और राजस्थान राज्यों के लिए अनुमोदित
  • भा.कृ.अनु.प.-भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, नई दिल्ली द्वारा विकसित।

सरसों: पूसा डबल जीरो सरसों 31 (उन्नत किस्म)

  • देश की पहली कैनोला गुणवत्तायुक्त भारतीय सरसों की किस्म
  • तेल में 2.0% से कम ईरुसिक अम्ल तथा तेल रहित खली में 30.0 पीपीएम से कम ग्लूकोसिनोलेट हैं जो कि प्रचलित किस्मों {ईरुसिक अम्ल (<40%) तथा ग्लूकोसिनोलेट (<120 पीपीएम)} से कम हैं
  • तेल की मात्रा: 41.0 प्रतिशत
  • बीज उपज: 23.0 क्विं./हें.
  • फसल पकने की अवधि: 142 दिन
  • सिंचित तथा समय से बुआई के लिए उपयुक्त
  • राजस्थान (उत्तर तथा पश्चिमी क्षेत्र), पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, जम्मू और कश्मीर के मैदानी क्षेत्र तथा हिमाचल प्रदेश राज्यों के लिए अनुमोदित
  • भा.कृ.अनु.प.-भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, नई दिल्ली द्वारा विकसित।

स्त्रोत: भारतीय कृषि अनुसन्धान परिषद्



© 2006–2019 C–DAC.All content appearing on the vikaspedia portal is through collaborative effort of vikaspedia and its partners.We encourage you to use and share the content in a respectful and fair manner. Please leave all source links intact and adhere to applicable copyright and intellectual property guidelines and laws.
English to Hindi Transliterate