অসমীয়া   বাংলা   बोड़ो   डोगरी   ગુજરાતી   ಕನ್ನಡ   كأشُر   कोंकणी   संथाली   মনিপুরি   नेपाली   ଓରିୟା   ਪੰਜਾਬੀ   संस्कृत   தமிழ்  తెలుగు   ردو

फूलों की पैकेज प्रणाली

शीत ऋतु के फूलों की पैकेज प्रणाली

क्र.सं.

फूल का नाम

पौधों की ऊँचाई (सें.मी.)

फूलों का रंग

प्रसारण विधि

बुआई/रोपाई की दूरी (सें.मी.)

फूलने का समय (रोपाई/बुआई के बाद)

अभ्युक्ति

1

स्वीट एलाइसम

20-30

सफेद, बैंगनी, गुलाबी

बीज

15

1.5-2.0 माह

बीज बोकर फ़ालतू पौधों को निकाल दें

2

एंटिरहाइनम

50-75

नील के अतिरिक्त सभी रंग एवं उनका मिश्रण

बीज

20-40

20-40

गुलदस्ता के लिए उत्तम।

3

आर्कटोटिस

40-50

सफेद, पीला, नारंगी, लाल

बीज

30-45

3-4 माह

गुलदस्ता के लिए उत्तम।

4

कैलेंडुला

30-45

पीला, नारंगी, हल्का पीला, बादामी

बीज

20-25

2-3 माह

गुलदस्ता के लिए उत्तम।

5

चाइना एस्टर

30-60

सभी रंग

बीज

20-25

3-4 माह

गुलदस्ता के लिए उत्तम

6

कार्न फ्लावर

60-90

सफेद, गुलाबी, बैंगनी, नीला

बीज

20-25

3-3.5 माह

गुलदस्ता के लिए उत्तम

7

स्वीट सुलतान

45-60

सफेद, पीला, बैंगनी

बीज

30

3-3.5 माह

गुलदस्ता के लिए उत्तम

8

एनुअल क्राइसेंथेमम

45-75

सफेद, पीला, नारंगी

बीज

30-45

3 माह

गुलदस्ता के लिए उत्तम

9

कॉसमोस

60-150

सफेद, गुलाबी, लाल, पीला, बैंगनी

बीज

30-45

2-3 माह

गुलदस्ता के लिए उत्तम

10

डहेलिया

30-150

सफेद, पीला, लाल, कत्थई एवं मिश्रित

बीज

30-45

2-3.5 माह

गुलदस्ता के लिए उत्तम

11

लार्कस्पर

30-90

नीला, बैंगनी, सफेद, गुलाबी

बीज

20-30

2-3.5 माह

गुलदस्ता के लिए उत्तम

12

डायन्थस

30-40

सफेद, लाल, गुलाबी एवं मिश्रित

बीज

30

3-4 माह

गुलदस्ता के लिए उत्तम

13

स्वीट विलियम

30-40

सभी रंग (नीला छोड़कर)

बीज

30

3-3.5 माह

गुलदस्ता के लिए उत्तम

14

कैलीफोर्नियन पॉपी

30-45

पीला, नारंगी

बीज

20

3-4 माह

झुंड में लगाने के लिए उत्तम

15

कैंडीटफ्ट

20-30

सफेद, बैंगनी, हल्का गुलाबी

बीज

15-20

3 माह

बॉर्डर में लगाने के लिए

16

स्वीट पी

100-200

सभी रंग एवं मिश्रित

बीज `

15-18

3 माह

सहारा देने की आवश्यकता

17

मैजिक कारपेट

10-15

सभी रंग एवं मिश्रित

बीज

15-20

3 माह

धूपवाली जगह में लगायें

18

पिटूनिया

30-40

सभी रंग एवं मिश्रित

बीज

20-30

3-3.5 माह

पिछात लगाने से ग्रीष्म ऋतु में फूलता है

19

पॉपी

45-60

सफेद, गुलाबी, लाल

बीज

25-30

1.5-2.5 माह

झुंड में लगाने के लिए

20

फ्लाक्स

30-45

सभी रंग

बीज

20-25

3-3.5 माह

बॉर्डर के लिए

ग्रीष्म/वर्षाकालीन ऋतु में मौसमी फूलों की पैकेज प्रणाली

क्र.सं.

फूल का नाम

पौधों की ऊँचाई (सें.मी.)

फूलों का रंग

प्रसारण विधि

बुआई/रोपाई की दूरी (सें.मी.)

फूलने का समय (रोपाई/बुआई के बाद)

अभ्युक्ति

1

एमेरेन्थस

60-125

लाल, पीली, मिश्रित, पत्तियाँ

बीज

30-45

-

मुख्यत: शोभाकार (पत्तियों के लिए )

2

कोचिया

45-100

हरी महीन पत्तियों की शोभा

बीज

30-45

-

मुख्यत: शोभाकार (पत्तियों के लिए)

3

कास्मिया

60-100

नारंगी, पीला

बीज

30-45

2.5-3.0 माह

झुंड में लगाने के लिए उत्तम

4

क्लिओम

60-120

गुलाबी, बैंगनी, सफेद, मिश्रित

बीज

30-45

2-3 माह

झुंड में लगाने के लिए उत्तम

5

गोम्प्र फीना (बटन फ्लावर)

30-60

बैंगनी, सफेद, गुलाबी

बीज

25-30

2-2.5 माह

कम देख-रेख की आवश्यकता

6

गैलार्डिया

30-45

लाल, पीला, नारंगी, मिश्रित

बीज

20-25

3-3.5 माह

प्रत्येक ऋतु में उगाया जा सकता है

7

जिनिया

15-100

नीला रंग को छोड़कर सभी

बीज

30-45

2-3 माह

प्रत्येक ऋतु में उगाया जा सकता है

8

बालसम

30-45

लाल, सफेद, पीला, बैंगनी, गुलाबी

बीज

30-45

2.5-3.0 माह

विभिन्न रंगों में उपलब्ध

9

टिथोनिया

75-100

नारंगी, लाल

बीज

30-45

2.5-3.0 माह

झुंड के लिए उत्तम

गुलाब, ग्लेडियोलस एवं जरबेरा

गुलाब

ग्लेडियोलस

जरबेरा

 

मौसम

बहुवार्षिक शीत एवं बंसत ऋतु में अच्छा पुष्पन। खुली धूप में अच्छी पैदावार।

शीत और बंसत ऋतु में अच्छा पुष्पन। खुली धूप में अच्छी व बेहतर पैदावार।

सालों भर। थोड़ी छांव झेल सकता है लेकिन खुली धूप में बेहतर पैदावार।

मिट्टी

मटियार दोमट से दोमट मिट्टी जो की जीवांश युक्त हो व जल निकास भी अच्छा हो। पी.एच. 6.5-7.5

बलुई दोमट मिट्टी जो की जीवांश युक्त हो व जल निकास का अच्छा प्रावधान हो। पी.एच. 7 के आसपास

जीवांश युक्त अच्छे जल निकास वाली दोमट से लेकर बलुई दोमट मिट्टी, पी.एच.7 के आसपास।

उन्नत प्रभेद

मनीपाल, फर्स्ट रेड, नोबिलिए (निर्यात के लिए), सुपरस्टार, रक्तगंधा, मोंट्जुआ, ग्लेडिएट (खुले में लगाने के लिए)

लाल-अमेरिकन ब्यूटी, यूरोविजन, गुलाबी-रोज सुप्रीम, सप्लाज, पीला-जेक्सन विले गोल्ड, जेस्टर, नोवा लक्स नीला-हर मेजस्टी, विंड सॉग सफेद-सेनसरी।

डायना, ग्लोरिया, रोजेटा, प्रिसिल, जी.बी.आर.-1, जी.बी.आर-5

बीज/कंद/पौधा की मात्रा

22,250 पौधे/ हें.

1.65 लाख कंद/हें.

83,350 पौधे/हें.

लगाने की विधि

30-40 सें.मी. व्यास व गहराई वाला गड्ढा खोदकर पौधा मिट्टी के साथ लगाना।

कंदों को कैप्टान/बैविस्टीन 02 के घोल में 30 मिनट डुबाने के बाद 8 से 10 सें.मी. की गहराई में लगाया जाता है।

पौधे के कई भाग को काटकर उन्हें 30 मिनट तक बैविस्टीन के घोल में डुबोकर लगाएं।

लगाने का समय

अक्टूबर-नवम्बर

सितम्बर-नवम्बर

सितम्बर-नवम्बर

लगाने की दूरी

60 x 60 सें.मी.

30 x 20 सें.मी.

40 x 30 सें.मी.

सिंचाई

गर्मी में सप्ताह में दो बार व सर्दी में एक बार ।

गर्मी में सप्ताह में दो बार व सर्दी में एक बार।

गर्मी में सप्ताह में दो-तीन बार व सर्दी में 7-10 दिन में।

खाद की मात्रा

कम्पोस्ट 30-40 टन/हें., यूरिया 600 किलो/हें., एस.एस.पी. 1000 किलो/हें., एम.ओ.पी. 300 किलो/हें. ।

कम्पोस्ट 20-25 टन/हें., यूरिया 350-400 किलो/हें., एस.एस.पी. 700-800 किलो/हें., एम.ओ.पी. 200 किलो/हें.

कम्पोस्ट 20-25 टन/हें., यूरिया 250-300 कि./हें., एस.एस.पी. 500 कि./हें., एम.ओ.पी. 150 कि./हें.

उपज

2.0-3.0 लाख फूल/ हेक्टेयर/ वर्ष

2.0-2.1 लाख स्पाइक/ हेक्टेयर

2.5-3.0 लाख कंद/ हेक्टेयर

8-10 लाख फूल/ हेक्टेयर

गेंदा एवं रजनीगंधा

गेंदा

रजनीगंधा

मौसम

सालों भर। खुली धूप में बेहतर पैदावार

गर्मी एवं बरसात। खुली धूप में अच्छी व बेहतर पैदावार

मिट्टी

अच्छे जल निकास वाली दोमट मिट्टी, पी.एच.7 के आसपास

बलुई दोमट या दोमट मिट्टी जो की जीवांश युक्त हो व जिसमें जल निकास का अच्छा प्रावधान हो। पी.एच. 6.5-7.5

उन्नत प्रभेद

अफ्रीकन गेंदा, पूसा बसंती, पूसा नारंगी, लेमन ड्राप, ऑरेंज ड्राप, फ्रेंच गेंदा फ्लेम एवं रस्टीरेड।

रजतरेखा एवं प्रज्जवल (सिंगल) तथा सुवासिनी (डबल)

बीज/ कंद/ पौधे की मात्रा

1.5 किग्रा. प्रति हेक्टेयर

1.65 लाख कंद/हेक्टेयर

लगाने की विधि

नर्सरी बेड में बिचड़ा तैयार कर के खेत में लगाएं।

कंदों को 0.2 कैप्टान के घोल में 30 मिनट डुबोकर 4.5 सें.मी. की गहराई में लगाएं।

लगाने का समय

खेत में बिचड़ा जुलाई-अगस्त, अक्टूबर व फरवरी में लगाएँ।

अप्रैल-जून

लगाने की दूरी

20 सें.मी. x 20 सें.मी. फ्रेंच या 40 सें.मी. x 30 सें.मी. अफ्रीकन।

30 सें.मी. x 20 सें.मी.

सिंचाई

गर्मी में सप्ताह में दो बार व सर्दी में एक बार

गर्मी में 5 दिन में एक बार व सर्दी में 10 दिन में एक बार

खाद

कम्पोस्ट 20-25 टन/हेक्टेयर, एन-100, पी.-60, के.-60 किग्रा./हें.

कम्पोस्ट 25-30 टन/हें., एन.-150, पी.-75, के.-75 किग्रा./हें.

उपज

150-200 क्विंटल/हेक्टेयर

150-200 क्विंटल/हेक्टेयर

 

स्त्रोत: कृषि विभाग, झारखण्ड सरकार



© 2006–2019 C–DAC.All content appearing on the vikaspedia portal is through collaborative effort of vikaspedia and its partners.We encourage you to use and share the content in a respectful and fair manner. Please leave all source links intact and adhere to applicable copyright and intellectual property guidelines and laws.
English to Hindi Transliterate