অসমীয়া   বাংলা   बोड़ो   डोगरी   ગુજરાતી   ಕನ್ನಡ   كأشُر   कोंकणी   संथाली   মনিপুরি   नेपाली   ଓରିୟା   ਪੰਜਾਬੀ   संस्कृत   தமிழ்  తెలుగు   ردو

हजारीबाग जिला

भूमिका

हजारीबाग जिला रांची सड़क मार्ग से 93 किमी दूर है। यह एन एच 33 पर स्थित है। हजारीबाग जिला उत्तरी छोटानागपुरडिवीजन के उत्तर पूर्वी भाग में स्थित है। इस जिले की सीमा इस प्रकार से है उत्तर में गया और कोडरमा, गिरिडीह और बोकारो पूर्व में, दक्षिण में रांची और पश्चिम में पलामू और चतरा जिले हैं। कोडरमा, चतरा और गिरिडीह जिलों को इस जिले से अलग किया गया है। हजारीबाग जिले के उत्तरी छोटानागपुर डिवीजन के उत्तर पूर्वी भाग में स्थित है।

हजारीबाग जिले के छोटानागपुर पठार का एक हिस्सा है। यह क्षेत्र कई पठारों, पहाड़ों और घाटियों से भरा है। इस जिले के तीन प्राकृतिक विभाजन हैं; मध्यवर्गीय पठार, निचला पठार और दामोदर घाटी I जिला मुख्यालय मध्यवर्गीय पठार का एक हिस्सा है जो समुद्र के स्तर से करीब 2,000 फुट की ऊंचाई पर स्थित है I मध्यवर्गीय पठार के पश्चिमी भाग को छोड़कर, पूरा क्षेत्र निचले पठार से घिरा हुआ है। निचले पठार के ऊंचाई समुद्र के ऊपर 1,300 फीट है I दामोदर घाटी इस जिले के दक्षिणी भाग में है; जहां रामगढ़ शहर में स्थित है जो जिला मुख्यालय से 1,000 फुट नीचे है I

हजारीबाग के मुख्य पहाड़ों में चाँदवारा और जिलिंजा हैं और उनकी ऊँचाई क्रमश: 2816 और 3057 फीट  हैं। इस जिले की मुख्य नदियों में दामोदर और बराकर नदी हैं। इस जिले के लगभग 45% क्षेत्र वन क्षेत्र है। इस जिले के वन क्षेत्र औषधीय पौधों और पेड़ों से भरा है। जागरूकता की कमी और लापरवाही के कारण वे विलुप्त होने के कगार पर हैं। चीते, भालू, सियार और लोमड़ियों आदि स्वतंत्र रूप से इन जंगलों में चले जाते हैं। सर्दियों के मौसम में कई विदेशी पक्षियों इन जंगलों क्षेत्रों में आना होता है  ।

पहाड़ों और जंगलों से घिरा होने के कारण इस क्षेत्र को प्राचीन समय से झारखंड के रूप में जाना जाता रहा है। इस क्षेत्र में जनजातीय लोगों के पैतृक स्थान है। महाभारत के समय, मगध क्षेत्र के राजा जरासन्ध ने इस क्षेत्र पर शासन किया था। बाद में राजा महापद्मानंद उग्रसेन ने जरासन्ध को हराया और इस क्षेत्र पर कब्जा कर लिया।

धार्मिक दृष्टि से इस जिले का बहुत महत्व रहा है। विभिन्न क्षेत्रों से लोग इस जिले के धार्मिक, ऐतिहासिक और पुरातात्विक स्थानों की यात्रा करते हैं । 23 वें तीर्थंकर पारसनाथ ने इस स्थान में मोक्ष की प्राप्ति होने के कारण उनकी स्मृति में पारसनाथ पहाड़ की चोटी पर एक मंदिर है। वर्तमान में यह क्षेत्र गिरिडीह जिले में है। 5 वीं ईसवीं में 'गुप्ता' वंश के अंत के बाद राज्य छोटानागपुर स्थापित किया गया था। राजा फनीमुक्ता इसका पहला शासक था। मुगल साम्राज्य के समय, राजा अकबर ने शाहबाज  खान के नेतृत्व में एक सैन्य दल इस क्षेत्र के स्थानीय शासक को हराने के लिए भेजा था ।

इस जिले ने भी स्वतंत्रता आंदोलन में एक प्रमुख भूमिका निभाई है। 1857 में रामगढ़ बटालियन ने अंग्रेजी शासन के खिलाफ विद्रोह कर दिया। 1920 के असहयोग आंदोलन ने स्थानीय लोगों की भावनाओं को काफी आहत किया; महात्मा गांधी ने भी 1925 में इस क्षेत्र का दौरा किया।

हजारीबाग के स्वाभाविक रूप से कई अयस्कों और खनिज में समृद्ध और सुंदर जिला है। अभ्रक और कोयले यहाँ के मुख्य खनिज हैं। औद्योगिक दृष्टि से ये खनिज बहुत महत्वपूर्ण हैं। चीन मिट्टी और चूना पत्थर भी इस जिले में पाए जाते हैं।

इस जिले के अधिकांश भाग जंगलों और पत्थरों से भरे हुए हैं। कृषि योग्य भूमि को दो भागों में बांटा जा सकता है -ऊपरी भूमि और निचला भूमि I नदियों के तट पर स्थित भूमि उपजाऊ है। इस प्रकार की भूमि में उर्वरकों की कम मात्रा में उपयोग कर के बाद भी अच्छी फसल प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन ऊपरी भूमि बंजर है। उर्वरक और सिंचाई की एक बड़ी मात्रा इन क्षेत्रों में खेती के लिए आवश्यक है। रबी और खरीफ फसल आम तौर पर यहाँ बोया जाता है।

पहाड़ी क्षेत्र होने के कारण सिंचाई सुविधा इस जिले में पर्याप्त नहीं है। यहाँ आम तौर पर सिंचाई के लिए छोटे प्राकृतिक नाले इस्तेमाल हो रहे हैं। सिंचाई का कोई अन्य प्राकृतिक स्रोत उपलब्ध नहीं है। स्वतंत्रता के बाद सरकार ने कोशिश की है और अभी भी सिंचाई की समस्या को हल करने के लिए लगातार कोशिश कर रही है। सिंचाई के लिए कुओं और पंप सेट का उपयोग किया जाता है। दामोदर घाटी परियोजना भी इस क्षेत्र में सिंचाई के लिए है लेकिन ये पर्याप्त नहीं हैं। आम तौर पर किसान खेती के लिए बारिश पर निर्भर हैं। बारिश की कमी से इस क्षेत्र के लोगों को पीने के पानी की समस्या का भी सामना करना पड़ता है।

इस जिले में पहाड़ों, जंगलों, पहाड़ों, नदियों और घाटियों आदि के कारण सड़क और रेल यातायात द्वारा यात्रा कठिन और थकाऊ होने के साथ समय अधिक लगने वाला हैं। इस क्षेत्र के लोगों में भय और आतंक चरमपंथी गतिविधियों के कारण देखा जा सकता है; प्रशासन इस समस्या से निपटने के लिए अपनी पूरी कोशिश कर रहा है।

जनसांख्यिकी

2011 की जनगणना के अनुसार प्राप्त आँकड़े नीचे दी गयी सारणी में देख सकते हैं -

विवरण

2011

2001

वास्तविक जनसंख्या

1,734,005

1,437,626

पुरुष

891,179

723,626

महिला

842,826

714,000

जनसंख्या वृद्धि

25.75%

26.13%

क्षेत्र वर्ग किमी

4,302

4,302

घनत्व / किमी 2

403

334

झारखंड में जनसंख्या के अनुपात

5.26%

5.34%

लिंग अनुपात (प्रति 1000)

946

987

बाल लिंग अनुपात (0-6 उम्र)

924

972

औसत साक्षरता

70.48

57.75

पुरुष साक्षरता

81.15

71.83

महिला साक्षरता

59.25

42.87

कुल बच्चों की जनसंख्या (0-6 उम्र)

273,427

267,969

पुरुष जनसंख्या (0-6 उम्र)

142,129

135,860

महिला आबादी (0-6 उम्र)

131,298

132,109

साक्षरों

1,029,415

675,463

पुरुष  साक्षर

607,854

422,206

महिला साक्षर

421,580

249,479

बाल अनुपात (0-6 उम्र)

15.77%

18.64%

लड़कों के अनुपात (0-6 उम्र)

15.95%

18.77%

लड़कियों के अनुपात (0-6 उम्र)

15.58%

18.50%

ग्रामीण व शहरी जनसंख्या

विवरण

ग्रामीण

शहरी

आबादी (%)

84.12 %

15.88 %

कुल जनसंख्या

1,458,681

275,324

पुरुष जनसंख्या

747,069

144,110

महिला आबादी

711,612

131,214

लिंग अनुपात

953

911

बाल लिंग अनुपात (0-6)

926

911

बच्चों की जनसंख्या (0-6)

239,532

33,895

नर बच्चे (0-6)

124,388

17,741

महिला बाल (0-6)

115,144

16,154

बाल प्रतिशत (0-6)

16.42 %

12.31 %

नर बच्चे का प्रतिशत

16.65 %

12.31 %

महिला बच्चे का प्रतिशत

16.18 %

12.31 %

साक्षरों

821,629

207,789

नर साक्षर

492,385

115,488

महिला साक्षर

329,244

92,301

औसत साक्षरता

67.39 %

86.07 %

पुरुष साक्षरता

79.07 %

91.39 %

महिला साक्षरता

55.20 %

80.22 %

प्रखंडवार विवरण

प्रखंड का नाम

कुल आबादी

ग्राम

पंचायत

राजस्व ग्राम

% कुल साक्षर

% कुल पुरुष साक्षर

% कुल महिला साक्षर

% अनुसूचित जनसंख्या

% अनुसूचित जनजाति जनसंख्या

हजारीबाग सदर

237994

25

95

64.2

59.9

40

13.9

4.1

टाटीझरिया

40253

8

53

 

 

 

 

 

कटकमसंडी

83525

18

82

44

63.9

36.2

21.6

4.9

कटकमदाग

64228

13

48

 

 

 

 

 

दारू

45794

9

52

 

 

 

 

 

विष्णुगढ़

124175

24

94

33.6

68

31.9

12.3

9.7

बडकागाँव

110958

23

83

39.3

65.9

34

17.8

11.8

केरेडारी

91241

16

73

35.2

67.1

32.9

20.6

7.5

ईचाक

87882

19

83

42.8

63.2

36.8

20

2.6

दाडी

71779

14

29

 

 

 

 

 

चुरचु

44860

8

41

46.9

30.3

16.6

13.9

25.9

पदमा

43411

8

40

45.6

65

35.9

0.18

0.54

चालकूसा

52676

9

45

 

 

 

 

 

बरही

98779

20

112

40.6

65.9

34.1

17.6

2.6

चौपारण

167246

26

228

38.4

63.7

36.3

24.8

0.8

बरकट्ठा

73192

17

72

29.8

70.6

29.4

 

 

कुल

1437993

257

1230

 

स्रोत: जिला आधिकारिक वेबसाइट, हजारीबाग, झारखण्ड सरकार



© 2006–2019 C–DAC.All content appearing on the vikaspedia portal is through collaborative effort of vikaspedia and its partners.We encourage you to use and share the content in a respectful and fair manner. Please leave all source links intact and adhere to applicable copyright and intellectual property guidelines and laws.
English to Hindi Transliterate