অসমীয়া   বাংলা   बोड़ो   डोगरी   ગુજરાતી   ಕನ್ನಡ   كأشُر   कोंकणी   संथाली   মনিপুরি   नेपाली   ଓରିୟା   ਪੰਜਾਬੀ   संस्कृत   தமிழ்  తెలుగు   ردو

आतिशबाजी का प्रदर्शन

आतिशबाजी का प्रदर्शन

आतिशबाजी का प्रदर्शन - क्‍या करें और क्‍या न करें

क्‍या करें

  • केवल अधिकृत / प्रतिष्ठित विनिर्माताओं से आतिशबाजी खरीदें ।
  • एक समय में एक व्यक्ति द्वारा केवल एक ही आतिशबाजी सुलगाई जाए । इसे अन्‍य व्‍यक्तियों द्वारा सुरक्षित दूरी से देखना चाहिए ।
  • प्रयोग की जाने वाली आतिशबाजी एक सुरक्षित स्‍थान पर रखी जाए ।
  • किसी एक व्‍यक्ति द्वारा पटाखे सुलगाने के बजाय आतिशबाजी के सामुदायिक प्रदर्शन का आयोजन किया जाए ।
  • हमेशा पटाखे सुलगाने के लिए एक लंबी मोमबत्ती / फुलझडी का उपयोग करें और शरीर और पटाखों के बीच दूरी बढ़ाने के लिए हाथ सीधा रखा जाए ।
  • हमेशा दो बाल्टी पानी तैयार रखें । अग्नि दुर्घटना की स्थिति में लौं बुझाने हेतु इन बाल्टियों से पानी डाले । हर बडी आग शुरू में छोटी ही होती है ।
  • जलने की स्थिति में जले हुए भाग पर बडी मात्रा में पानी डाले ।
  • बहुत अधिक जलने की स्थिति में प्रथमतः आग बुझाए‚ पीड़ित व्यक्ति के सुलगते कपडे हटा दें और उसे एक साफ चादर में लपेटें ।
  • पीड़ित व्यक्ति को अग्नि दुर्घटना विशेषज्ञ या किसी बडे अस्‍पताल में ले जाना चाहिए ।
  • पीड़ित व्यक्ति की आंख में जलन होने की स्थिति में नल के पानी से उसकी आंख दस मिनट धोएं और उसे अस्पताल ले जाना चाहिए ।

क्‍या न करें

  • आतिशबाजी हाथ में पकडकर न सुलगाए ।
  • आतिशबाजी सुलगाते हुए उसपर ना झूकें ।
  • आतिशबाजी किसी पात्र में ना जलाए ।
  • बुझे हुए आतिशबाजी के पास तुरंत ना जाए ।
  • बुझे हुए आतिशबाजी के साथ छेड़छाड़ न करें ।
  • घर में आतिशबाजी बनाने का प्रयास न करें ।
  • छोटे बच्चों को आतिशबाजी के प्रयोग की अनुमति न दें ।
  • आतिशबाजी अन्य लोगों पर न ही फेंकें न ही उनकी ओर इंगित करें ।
  • आतिशबाजी जेब में न ले जाए ।
  • जलती मोमबत्ती और दीये के पास आतिशबाजी का भंडारण न करें ।
  • संकीर्ण गलियों में आतिशबाजी न सुलगाए‚ अच्‍छा हो कि खुले क्षेत्रों और पार्कों का उपयोग करें ।
  • सिंथेटिक कपड़े न पहनें‚ अच्‍छा हो कि मोटे सूती कपड़े ही पहने ।
  • ढीले कपडे न पहने; सभी कपडे महफ़ूज़ रखें ।
  • जले भाग पर कोई क्रीम‚ मरहम या तेल न लगाएं ।
  • अग्नि दुर्घटना में जले व्यक्ति को अस्पताल ले जाते समय लापरवाही से वाहन न चलाएँ । एक घंटे का विलंब ग्राह्य है ।
  • तेज़ हवाएं चल रहीं हो तो, उडने वाली आतिशबाजी न सुलगाए ।

स्त्रोत: पेट्रोलियम तथा विस्फोटक सुरक्षा संगठन (पेसो)



© 2006–2019 C–DAC.All content appearing on the vikaspedia portal is through collaborative effort of vikaspedia and its partners.We encourage you to use and share the content in a respectful and fair manner. Please leave all source links intact and adhere to applicable copyright and intellectual property guidelines and laws.
English to Hindi Transliterate