অসমীয়া   বাংলা   बोड़ो   डोगरी   ગુજરાતી   ಕನ್ನಡ   كأشُر   कोंकणी   संथाली   মনিপুরি   नेपाली   ଓରିୟା   ਪੰਜਾਬੀ   संस्कृत   தமிழ்  తెలుగు   ردو

मानसिक बीमारी

मानसिक बीमारी

मानसिक बीमारी के क्या लक्षण होते हैं?

मानसिक या व्यवहारगत गड़बड़ी की स्थिति में व्यक्ति के सोचने की प्रक्रिया, मूड या व्यवहार बाधित हो जाता है, जो सांस्कृतिक विश्वास तथा रूढ़ियों के अनुरूप नहीं होता। अधिकतर स्थितियों में ये लक्षण दुःख तथा व्यक्तिगत कार्यों में व्यवधान से जुड़े होते हैं।

प्रज्ञान के साथ समस्याएं

  • एकाग्रता में व्यवधान उत्पन्न होता है और आसानी से ध्यान भंग हो जाता है।
  • सूचनाएं याद नहीं रख सकता।
  • सूचनाओं पर धीमी रफ्तार से सोचता है या दुविधा में रहता है।
  • समस्याओं से निबटने के लिए काफी मेहनत करनी होती है।
  • अमूर्त रूप से नहीं सोच पाता।

सोचने की प्रक्रिया के साथ समस्याएं

  • विचार काफी तेज या धीमा प्रतीत होते है।
  • निरर्थक रूप से एक विषय से दूसरे की ओर विचारों का भागना।
  • ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करना या ध्वनि निकालना जो शब्दकोश में भी न हो।
  • मन में ऐसे विचित्र विचारों का प्रदुर्भाव होना जो व्यक्ति के विचारों, कार्यों या किसी बाह्य प्रभाव में भी संभव न हो।

बोध के साथ समस्याएं

  • बोधात्मक बाधा उत्पन्न होती है; खासकर चमकीले रंग या तेज आवाज के साथ।
  • अदृश्य ध्वनियां सुनाई पड़ना। अकेले में खुद ही बोलना तथा मुस्कराना।
  • पुरानी पस्थितियों को नए के रूप में अनुभव करना।
  • यह मानना कि टीवी, रेडियो या पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर कोई छिपा हुआ संदेश है।

अनुभूति के साथ समस्याएं

  • अयोग्य, निराश और असहाय होने का अनुभव होना।
  • छोटी-छोटी बातों पर अपराधबोध महसूस करना।
  • मृत्यु या आत्महत्या का ख़्याल आना।
  • अधिकतर चीज़ों में दिलचस्पी समाप्त हो जाना।
  • अपनी योग्यता, प्रतिभा, धन, रूप-रंग के प्रति अत्यधिक आत्मविश्वास या आडम्बरपूर्ण सोच।
  • अत्यधिक ऊर्जा तथा काफी कम नींद की आवश्यकता।
  • अधिकतर समय में चिड़चिड़ा महसूस करना और आसानी से क्रोधित हो जाना।
  • बिना किसी उकसावे के अत्यधिक मूड विचलन।
  • दूसरों के प्रति उत्तेजित, उल्लासमय, अतिआत्मविश्वासी और विनाशकारी।
  • अत्यधिक चौकन्ना और अधिकतम समय सावधान रहना।
  • दैनिक घटनाओं के बारे में चिंतित, भयभीत तथा परेशान होना।
  • भय के कारण सामान्य क्रियाकलाप से बचना (बस लेने से, परचून की दुकान जाने इत्यादि से बचना)
  • लोगों के साथ असहज रहना।
  • कर्मकांडी या किसी व्यवहार को बार-बार दुहराने के लिए मजबूर होना।
  • पिछली घटनाओं के दुःस्वप्न देखना, परेशान करने वाली स्मृतियां आना।

लोगों के साथ मिलने-जुलने में समस्याएं

  • कुछ ही नजदीकी दोस्त होना।
  • सामाजिक स्थितियों में चिंतित तथा भयभीत रहना।
  • मौखिक या शारीरिक रूप से उग्र व्यवहार प्रदर्शित करना।
  • उग्र संबंध होना, पूजा-अर्चना का अतिआलोचक होना।
  • किसी के साथ वक्त बिताना कठिन अनुभव करना।
  • अन्य लोगों को समझ न पाना।
  • असामान्य संदेह पैदा होना।

कार्यों के साथ समस्याएं

  • नौकरी से निकाला जाना या जल्दी-जल्दी जॉब छोड़ना।
  • सामास्य दबाव तथा अपेक्षाओं द्वारा आसानी से गुस्सा या चिड़चिड़ा हो जाना।
  • कार्यस्थल, स्कूल या घर पर दूसरों के साथ न घुल-मिल पाना।
  • काम में एकाग्र न हो पाना या दक्षतापूर्वक कार्य पूरा न कर पाना।

घर पर समस्याएं

  • दूसरों की आवश्यकताओं की परवाह न करना।
  • घरेलू कार्यों या अपेक्षाओं पर खरा न उतरना।
  • घरेलू कार्यों में हाथ न बंटाना।
  • परिवार वालों के साथ सक्रिय या अक्रिय रूप से बहस में उलझ जाना।

खुद की देखभाल के साथ समस्याएं

  • अपनी साफ-सफाई या रूप-रंग पर ध्यान न देना।
  • थोड़ा या अत्यधिक भोजन करना।
  • काफी कम सोना, काफी अधिक नींद लेना या दिन के समय सोना।
  • शारीरिक स्वास्थ्य पर थोड़ा या जरा भी ध्यान न देना।

शरीरिक लक्षणों के साथ समस्याएं

  • अवर्णित नियत शारीरिक लक्षण
  • बार-बार सिरदर्द, बदन दर्द, पीठ दर्द या गरदन दर्द होना।
  • एक ही समय में कई सारी शारीरिक समस्या उत्पन्न होना।

आदतों के साथ समस्याएं

  • कोई ऐसी आदत जो अत्यधिक अनियंत्रण योग्य हो तथा उससे दैनिक क्रियाकलापों में व्यवधान पहुंचता है।
  • ड्रग्स/या शराब की आदत लगना
  • आग लगाने की अनियंत्रित इच्छा जागना
  • अनियंत्रित जुआ खेलना
  • अनियंत्रित शॉपिंग करना

बच्चों में समस्याएं

  • ड्रग्स तथा/या शराब पीने की लत।
  • दैनिक समस्याओं तथा क्रियाकलापों के साथ न चल पाने की अक्षमता।
  • निद्रा तथा/या खान-पान आदतों में परिवर्तन
  • शारीरिक समस्याओं की अत्यधिक शिकायत
  • अधिकारियों की अवज्ञा करना, स्कूल छोड़ना, चोरी की आदत या वस्तुओं को नुकसान पहुंचाना।
  • वजन बढ़ जाने का गहरा भय।
  • लंबे समय तक रहने वाला नकारात्मक मूड, प्रायः अपर्याप्त क्षुद्ध तथा मृत्यु के विचारों के साथ।
  • जब-तब गुस्सा आना।
  • स्कूल के प्रदर्शन में बदलाव आना।
  • काफी प्रयास के बाद भी कम अंक आना।
  • अत्यधिक चिंता या आशंका होना।
  • हाइपरएसिडिटी
  • लगातार बुरे सपने देखना।
  • जब-तब बदमिज़ाजी दिखाना।


© 2006–2019 C–DAC.All content appearing on the vikaspedia portal is through collaborative effort of vikaspedia and its partners.We encourage you to use and share the content in a respectful and fair manner. Please leave all source links intact and adhere to applicable copyright and intellectual property guidelines and laws.
English to Hindi Transliterate