অসমীয়া   বাংলা   बोड़ो   डोगरी   ગુજરાતી   ಕನ್ನಡ   كأشُر   कोंकणी   संथाली   মনিপুরি   नेपाली   ଓରିୟା   ਪੰਜਾਬੀ   संस्कृत   தமிழ்  తెలుగు   ردو

गर्भाधान से जन्म तक

गर्भाधान से जन्म तक

  • अन्य परिवेशीय कारक
  • इस भाग में कुछ परिवेशीय कारक के बारे में जानकारी दी गयी है जिनका गर्भकालीन विकास में नकारात्मक प्रभाव होता है।

  • उद्दीपन
  • इस भाग में गर्भ काल के समय बाह्य उद्दीपनों (मधुर - संगीत, कहानियां) की सहयता से शिशुओं के बेहतर विकास का उल्लेख किया गया है।

  • गर्भकालीन विकास की प्रवृत्ति
  • इस भाग में गर्भकालीन विकास के विभिन्न प्रवृत्तियों ( शिशु के आकार, त्वचा के रंग, अनुपात, क्षमता एवं विकास की गति ) की जानकारी दी गयी है|

  • गर्भाधान
  • इस लेख में गर्भाधान की पूरी अवधि और उससे जुड़े तथ्यों का उल्लेख किया गया है।

  • गर्भाधान से बच्चे के जन्म तक की विकास यात्रा
  • इस लेख में गर्भाधान से बच्चे के जन्म के बीच महिलाओं एवं बच्चों में होने वाले मानसिक एवं शारीरिक परिवर्तनों का जिक्र किया गया है।

  • जन्म पश्चात् विकास को प्रभावित करने वाले कारक
  • इस भाग में शिशु जन्म के समय अत्यंत नाजुक स्थिति क्या - क्या हो सकती है उसका उल्लेख किया गया है।

  • जैविकीय एवं परिवेशीय कारकों के प्रभाव
  • इस भाग में गर्भ काल के दौरान जैविकीय एवं परिवेशीय कारकों के प्रभाव का संक्षिप्त विवरण दिया गया है|

  • प्रजनन स्वास्थ्य : एक समझ
  • प्रजनन स्वास्थ्य के विषय में बताया गया है|

  • शिशु के जन्म के उपागम
  • इस भाग में शिशु के जन्म के प्रक्रिया भिन्न- भिन्न समाज समुदाय एवं संस्कृतियों में भिन्न – भिन्न रूपों में अपनायी जाती है|

  • शिशु जन्म
  • इस भाग में बच्चे के जन्म के समय माँ के शरीर में क्या–क्या परिवर्तन होते हैं उसके बारे में बताया गया है।

  • सुरक्षित मातृत्व : मुख्य बिन्दुएँ
  • सुरक्षित मातृत्व की प्रमुख पहुओं पर प्रकाश डाला गया है|

    © 2006–2019 C–DAC.All content appearing on the vikaspedia portal is through collaborative effort of vikaspedia and its partners.We encourage you to use and share the content in a respectful and fair manner. Please leave all source links intact and adhere to applicable copyright and intellectual property guidelines and laws.
    English to Hindi Transliterate