অসমীয়া   বাংলা   बोड़ो   डोगरी   ગુજરાતી   ಕನ್ನಡ   كأشُر   कोंकणी   संथाली   মনিপুরি   नेपाली   ଓରିୟା   ਪੰਜਾਬੀ   संस्कृत   தமிழ்  తెలుగు   ردو

उद्यमिता से से जुड़े प्रयास

उद्यमिता से से जुड़े प्रयास

  • प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम से उद्यम को प्रोत्साहन
  • इस भाग उद्यम प्राेत्साहन से जुड़े सफल प्रयास के बारे में जानकारी दी गई है।

  • उद्यम पंजीकरण के साथ आगे बढ़ता है उद्योग
  • इस भाग में उद्योग में पंजीकरण से मिलने वाले लाभ की सफलता की कहानी दी गई है।

  • केवीआईसी द्वारा असम में 70 महिला अगरबत्ती कारीगरों के लिए अनोखा बिजनेस मॉडल तैयार
  • खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) ने असम में महिला अगरबत्ती कारीगरों को सशक्त बनाने तथा स्थानीय अगरबत्ती उद्योग को मजबूत करने के लिए एक अनूठा बिजनेस मॉडल तैयार किया है।

  • खादी कारगिल-लेह में रोजगार का सृजन करके चेहरों पर मुस्कान
  • खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) द्वारा सृजित स्व-रोजगार के परिणामस्वरूप कारगिल और लेह के शांत हिमालयी क्षेत्रों में उत्पादन गतिविधियां फलफूल रही हैं।

  • ग्रामीण क्षेत्रों में आर्थिक उन्नति का आधार बना सुजनी कला
  • इस पृष्ठ में कैसे ग्रामीण क्षेत्रों में आर्थिक उन्नति का आधार बन रहा है बिहार का मशहूर सुजनी कला, इसके बारे में जानकारी दी गयी है।

  • झारखंड में खादी-विज्ञान द्वारा स्वरोजगार सृजन की अकूत सम्भावनाएं
  • इस लेख में झारखण्ड में खादी –विज्ञान द्वारा कैसे स्वरोजगार की संभावनाएं तलाशी जा सकती है, इसके विषय में बताया गया है।

  • ट्राइब्स इंडिया के पर्यावरण अनुकूल उत्पाद
  • इस पृष्ठ में ट्राइब्स इंडिया द्वारा पर्यावरण अनुकूल राखी जिन्हें उगाया भी जा सकता है , इसकी जानकारी दी गयी है।

  • प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) योजना और अंजू देवी की आत्मनिर्भरता की यात्रा
  • इस भाग में अंजू देवी की आत्मनिर्भरता की यात्रा के बारे में जानकारी दी गई है।

  • विदेश में नौकरी छोड़ मधुलिका ने की रेशम के पौधे की खेती
  • इस पृष्ठ में बिहार के बेटी की कहानी है, जिसने विदेश में नौकरी छोड़ कर रेशम की खेती में अपना व्यवसाय बनाया।

  • स्वयं सहायता समूह (एसएचजी) से जुड़ी महिलाएं लखपति बनने की राह पर
  • ग्रामीण विकास मंत्रालय ने ग्रामीण एसएचजी महिलाओं को प्रति वर्ष कम से कम 1 लाख रुपये कमाने में सक्षम बनाने के लिए एक पहल की शुरुआत की।

  • हर्बल गुलाल बनाकर आत्मनिर्भर हो रही बिहार के जिले की महिलाएं
  • इस पृष्ठ में किस प्रकार बिहार के एक जिले की महिलाएं हर्बल गुलाल बनाकर अपन ज़िन्दगी संवार रही है, इसकी जानकारी दी गयी है।

    © 2006–2019 C–DAC.All content appearing on the vikaspedia portal is through collaborative effort of vikaspedia and its partners.We encourage you to use and share the content in a respectful and fair manner. Please leave all source links intact and adhere to applicable copyright and intellectual property guidelines and laws.
    English to Hindi Transliterate