অসমীয়া   বাংলা   बोड़ो   डोगरी   ગુજરાતી   ಕನ್ನಡ   كأشُر   कोंकणी   संथाली   মনিপুরি   नेपाली   ଓରିୟା   ਪੰਜਾਬੀ   संस्कृत   தமிழ்  తెలుగు   ردو

जरदालू आम – बिहार राज्य का गौरव

जरदालू आम – बिहार राज्य का गौरव

परिचय

जरदालू आम बिहार की एक प्रसिद्ध किस्म है ऐसा माना जाता है कि इसकी उत्पति बिहार के भागलपुर जिले में हुई है। भागलपुर एवं इसके आस-पास के क्षेत्रों में इसकी बागवानी बड़े पैमाने पर की जाती है। फल की उच्च गुणवत्ता के कारण यह किस्म भी पड़ोसी राज्यों में भी लोकप्रिय एवं विख्यात है।

जरदालू आम की विकसित किस्म

इसके वृक्ष बड़े एवं वृक्षों के छत्रक का फैलाव सामान्य थोड़ा अधिक होता है। यह एक अगेती किस्म है। वृक्षों में मंजर जनवरी के अंतिम सप्ताह में निकलना शुरू होता है एवं 20-25 फरवरी तक निकलते रहते हैं। जून के प्रथम सप्ताह में फल पकने लगते हैं। इसके फल काफी बड़े एवं स्वादिष्ट होते है। फल मध्यम आकार से थोड़े बड़े, लम्बाकार (साधारणतया 10.6 सें.मी. लम्बे एवं 6.6 सें.मी. चौड़े या मोटे) होते हैं। ओसतन एक फल 205-210 ग्राम वजन का होता है। फल का ऊपरी भाग चौड़ा तथा नीचला भाग पतला एवं गोलाकार होता है। फल की सतह चिकना तथा बराबर होता है। छिलका थोड़ा मोटा होता है। फलों का रंग पकने पर पीला-नांरगी होता है तथा गूदे में मनमोहक सुगंध होती है। फल में गूदा की मात्रा लगभग 67 प्रतिशत होती है। गूदा मुलायम, रेशारहित, लालीमा लिए पीला होता है। कुल घुलनशील तत्वों की मात्रा 21 प्रतिशत तथा अम्ल की मात्रा 0.23 प्रतिशत होती है। गुठली पतली होती है। छिलका एवं गुठली का वजन फल के वजन का क्रमश: 13.7 एवं 19.5 प्रतिशत होता है। गूदा हल्के लाल रंग का और मीठा होता है। गूदा में रेशा नहीं होता है।

फलन काफी अधिक होती है। एक वृक्ष से औसतन 1500-2000 फल मिलते हैं जो वजन में 2.5 से 3.0 क्विंटल तक हो सकते हैं। एक हेक्टेयर के बगीचे से 20-25 टन की उपज मिलती है। फलों की भण्डारण क्षमता अन्य किस्मों की तुलना में थोड़ी बेहतर होती है। पके फल कमरे के तापक्रम पर 3-4 दिनों तक भंडारित किए जा सकते हैं। इस किस्म में भी द्विवर्षीय फलन की समस्या है।

कृषि विभाग द्वारा आत्मा योजना के माध्यम से भागलपुर, दरभंगा, सीतामढ़ी, शिवहर और सहरसा जिले में जरदालू प्रभेद के साथ हल्दी की अंतरवर्ती खेती को बढ़ावा देने की योजना ली गई है।

स्त्रोत: बिहार कृषि प्रबंधन एवं प्रसार प्रशिक्षण संस्थान, पटना



© 2006–2019 C–DAC.All content appearing on the vikaspedia portal is through collaborative effort of vikaspedia and its partners.We encourage you to use and share the content in a respectful and fair manner. Please leave all source links intact and adhere to applicable copyright and intellectual property guidelines and laws.
English to Hindi Transliterate