सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / कृषि / पशुपालन / मवेशी और भैंस / मवेशी / पशुओं में बांझपन-कारण और उपचार
शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

पशुओं में बांझपन-कारण और उपचार

इस भाग में पशुओं में बांझपन के कारण और उसके उपचार के विषय में जानकारी उपलब्ध है।

पशुओं में बांझपन - कारण और उपचार

भारत में डेयरी फार्मिंग और डेयरी उद्योग में बड़े नुकसान के लिए पशुओं का बांझपन ज़िम्मेदार है. बांझ पशु को पालना एक आर्थिक बोझ होता है और ज्यादातर देशों में ऐसे जानवरों को बूचड़खानों में भेज दिया जाता है.

पशुओं में, दूध देने के 10-30 प्रतिशत मामले बांझपन और प्रजनन विकारों से प्रभावित हो सकते हैं. अच्छा प्रजनन या बछड़े प्राप्त होने की उच्च दर हासिल करने के लिए नर और मादा दोनों पशुओं को अच्छी तरह से खिलाया-पिलाया जाना चाहिए और रोगों से मुक्त रखा जाना चाहिए.

बांझपन के कारण

बांझपन के कारण कई हैं और वे जटिल हो सकते हैं. बांझपन या गर्भ धारण कर एक बच्चे को जन्म देने में विफलता, मादा में कुपोषण, संक्रमण, जन्मजात दोषों, प्रबंधन त्रुटियों और अंडाणुओं या हार्मोनों के असंतुलन के कारण हो सकती है.

यौन चक्र

गायों और भैंसों दोनों का  यौन (कामोत्तेजना) 18-21 दिन में एक बार 18-24 घंटे के लिए होता है. लेकिन भैंस में, चक्र गुपचुप तरीके से होता है और  किसानों के लिए एक बड़ी समस्या प्रस्तुत करता है. किसानों के अल-सुबह से देर रात तक 4-5 बार जानवरों  की सघन निगरानी करनी चाहिए. उत्तेजना का गलत अनुमान बांझपन के स्तर में वृद्धि कर सकता है. उत्तेजित पशुओं में दृश्य लक्षणों का अनुमान लगाना  काफी कौशलपूर्ण  बात है. जो किसान अच्छा रिकॉर्ड बनाए रखते हैं और जानवरों के हरकतें देखने में अधिक समय बिताते हैं, बेहतर परिणाम प्राप्त करते हैं.

बांझपन से बचने के लिए युक्तियाँ

  • ब्रीडिंग कामोत्तेजना अवधि के दौरान की जानी चाहिए.
  • जो पशु कामोत्तेजना नहीं दिखाते हैं या जिन्हें चक्र नहीं आ रहा हो, उनकी जाँच कर इलाज किया जाना चाहिए.
  • कीड़ों से प्रभावित होने पर छः महीने में एक बार पशुओं का डीवर्मिंग के उनका स्वास्थ्य ठीक रखा जाना चाहिए. सर्वाधिक डीवर्मिंग में एक छोटा सा निवेश, डेरी उत्पाद प्राप्त करने में अधिक लाभ ला सकता है.
  • पशुओं को  ऊर्जा के साथ प्रोटीन, खनिज और विटामिन की आपूर्ति करने वाला एक अच्छी तरह से संतुलित आहार दिया जाना चाहिए. यह  गर्भाधान की दर में  वृद्धि  करता है, स्वस्थ गर्भावस्था, सुरक्षित प्रसव सुनिश्चित करता है, संक्रमण की घटनाओं को कम और एक स्वस्थ बछड़ा होने में मदद करता है.
  • अच्छे पोषण के साथ युवा मादा बछड़ों की देखभाल उन्हें 230-250 किलोग्राम इष्टतम शरीर के वजन के साथ सही समय में यौवन प्राप्त करने में मदद करता है, जो प्रजनन और इस तरह बेहतर गर्भाधान के लिए उपयुक्त होता है.
  • गर्भावस्था के दौरान हरे चारे की पर्याप्त मात्रा  देने से नवजात बछड़ों को अंधेपन से बचाया जा सकता है और (जन्म के बाद)  नाल को बरकरार रखा जा सकता है.
  • बछड़े के जन्मजात दोष और संक्रमण से बचने के लिए सामान्य रूप से सेवा लेते समय सांड के प्रजनन इतिहास की जानकारी  बहुत महत्वपूर्ण है.
  • स्वास्थ्यकर परिस्थितियों में गायों की सेवा करने और बछड़े पैदा करने से गर्भाशय के संक्रमण से बड़े पैमाने पर  बचा जा सकता है.
  • गर्भाधान के 60-90 दिनों के बाद गर्भावस्था की पुष्टि के लिए जानवरों की जाँच योग्य पशु चिकित्सकों द्वारा  कराई जानी चाहिए.
  • जब गर्भाधान होता है, तो गर्भावस्था के दौरान मादा यौन उदासीनता की अवधि में प्रवेश करती है (नियमित कामोत्तेजना का प्रदर्शन नहीं करती). गाय के लिए गर्भावस्था  अवधि लगभग 285 दिनों की होती है और भैंसों के लिए, 300 दिनों की.
  • गर्भावस्था के अंतिम चरण के दौरान अनुचित तनाव और परिवहन से परहेज किया जाना चाहिए.
  • गर्भवती पशु को  बेहतर खिलाई-पिलाई प्रबंधन और प्रसव देखभाल के लिए सामान्य झुंड से दूर रखना चाहिए.
  • गर्भवती जानवरों का प्रसव से दो महीने पहले पूरी तरह से दूध निकाल लेना चाहिए और उन्हें पर्याप्त पोषण और व्यायाम दिया जाना चाहिए. इससे माँ के स्वास्थ्य में सुधार करने में मदद मिलती है,  औसत वजन के साथ एक स्वस्थ बछड़े का प्रजनन होता है, रोगों में कमी होती है और यौन चक्र की शीघ्र वापसी होती है.

 पशुओं में बांझपन


दुधारू पशुओं में बांझपन की समस्या और उसके निदान पर जानकारी

अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें,
डॉ.टी.सेंथिलकुमार, विस्तार शिक्षा निदेशालय, तनुवास, चेन्नई - 600 051, तमिलनाडु, फोन: 044-25551586, ईमेल: drtskumar@yahoo.com निदेशालय

3.24299065421

Anil verma May 04, 2018 01:08 PM

sir mene apni bachiya ka bahut ilaj kara liya magar wo tikti nahi h or na ab wo hit par a rahi h upay batay

Dr subham dubey Apr 03, 2018 10:12 PM

Pashu dr shubham dubey mo nambar 76XXX97

ललित पुरोहित Mar 06, 2018 10:23 AM

सर मेरी एक भेस हे जो गर्भ धारण करने में नियमित २ से २.५ साल का समय नियमित रूप से लेती हे तिन बार बछड़ो को जन दे चुकी हे पर हार बार २.५ साल का गेप लेती हे उपचार बताये

जय मीणा Feb 21, 2018 11:34 AM

सर मेरी गाय की बछडी 3साल 6महीने कि हौ गई है सब ईलाज करवा लिए लेकिन हिट मे नहीं आ रही कुछ बडिया उपाय दिजिये

Rajan Feb 11, 2018 08:33 AM

Sir meri gay 3sal se ruk nhi rhi hai

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
Back to top

T612019/07/19 22:13:8.459436 GMT+0530

T622019/07/19 22:13:8.489760 GMT+0530

T632019/07/19 22:13:8.561002 GMT+0530

T642019/07/19 22:13:8.561486 GMT+0530

T12019/07/19 22:13:8.436159 GMT+0530

T22019/07/19 22:13:8.436370 GMT+0530

T32019/07/19 22:13:8.436518 GMT+0530

T42019/07/19 22:13:8.436663 GMT+0530

T52019/07/19 22:13:8.436756 GMT+0530

T62019/07/19 22:13:8.436830 GMT+0530

T72019/07/19 22:13:8.437630 GMT+0530

T82019/07/19 22:13:8.437826 GMT+0530

T92019/07/19 22:13:8.438044 GMT+0530

T102019/07/19 22:13:8.438276 GMT+0530

T112019/07/19 22:13:8.438323 GMT+0530

T122019/07/19 22:13:8.438418 GMT+0530