सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

बैंगन

इस पृष्ठ में बैंगन के फसल की विकसित किस्मों की जानकारी दी गयी है

स्वर्ण श्री

  • फल मक्खनी सफेद हरे रंग के गोलाकार एवं मुलायम
  • जीवानुज मुरझा रोग के लिए मध्यम प्रतिरोधी
  • पौधशाला में बुआई का समय अगस्त-सितम्बर
  • भुरता बनाने के लिए उपयुक्त
  • रोपाई की दूरी 60 सेंटीमीटर x50 सेंटीमीटर
  • बीज की दर 250-300 ग्राम प्रति/हे.
  • रोपाई के 55-60 दिन बार फल प्रथम तुड़ाई के लिए तैयार
  • उपज 550-600 किवंटल/हे.
  • बिहार, झारखण्ड एंव सीमावर्ती क्षेत्रों में खेती के लिए अनुमोदित

स्वर्ण मणि

  • फल गोल (300-350 ग्राम) एवं आकर्षक गहरे बैंगनी रंग के
  • जीवानुज मुरझा रोग के लिए मध्यम प्रतिरोधी
  • पौधशाला में बुआई का समय अगस्त-सितम्बर
  • रोपाई की दूरी 60 सेंटीमीटर X 50 सेंटीमीटर
  • बीज दर 250-300 ग्राम प्रति/हे.
  • रोपाई के  65-70 दिन बाद फल प्रथम तुड़ाई के लिए तैयार
  • उपज 600 -650 क्वि./हे.
  • बिहार, झारखण्ड, पंजाब एंव उत्तर प्रदेश में खेती के लिए अनुमोदित

स्वर्ण श्यामली

  • फल औसत आकार के (250-300 ग्राम), गोल एवं आकर्षक गहरे एवं सफेद धारीदार
  • जीवानुज मुरझा रोग  प्रतिरोधी  किस्म
  • विशेष गुणवत्ता के कारण लोकप्रिय
  • पौधशाला में बुआई का समय जुलाई –सितम्बर एवं फरवरी-मार्च
  • रोपाई की दूरी 60 सेंटीमीटर X 50 सेंटीमीटर
  • बीज दर 250-300 ग्राम प्रति/हे.
  • रोपाई के 65-70  दिन बाद फल प्रथम तुड़ाई के लिए तैयार
  • उपज 600-650  क्वि./हे.
  • बिहार, झारखण्ड एंव इनसे जुड़े क्षेत्रों में खेती के लिए साल भर खेती हेतु अनुमोदित

स्वर्ण प्रतिभा

  • फल औसत आकार के (150-200 ग्राम), लंबे बैंगनी रंग के
  • जीवानुज मुरझा रोग  प्रतिरोधी  किस्म
  • पौधशाला में बुआई का समय सितम्बर एवं फरवरी-मार्च
  • रोपाई की दूरी 60 सेंटीमीटर X 50 सेंटीमीटर
  • बीज दर 250-300 ग्राम प्रति/हे.
  • रोपाई के 55-60  दिन बाद फल प्रथम तुड़ाई के लिए तैयार
  • उपज 600 -650 क्वि./हे.
  • बिहार, झारखण्ड एंव हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, उत्तरांचल, मध्य प्रदेश एवं महाराष्ट्र में  खेती के लिए अनुमोदित

स्वर्ण शोभा

  • फल अंडाकार (300-350 ग्राम) एवं सफेद रंग के
  • पौधशाला में बुआई का उचित समय  अगस्त-सितम्बर
  • रोपाई की दूरी 60 सेंटीमीटर X 50 सेंटीमीटर
  • बीज दर 250-300 ग्राम प्रति/हे.
  • रोपाई के 55-60  दिन बाद फल प्रथम तुड़ाई के लिए तैयार
  • उपज 500-600 क्वि./हे.
  • बिहार और  झारखण्ड खेती के लिए हेतु अनुमोदित

स्वर्ण शक्ति (संकर)

  • फल लंबे  (250-300 ग्राम), आकर्षक चमकदार एवं गहरे  बैंगनी रंग के
  • जीवानुज मुरझा रोग  मध्यम प्रतिरोधी एवं फमोप्पिसस ब्लाईट प्रतिरोधी
  • पौधशाला में बुआई का समय अगस्त-सितम्बर
  • रोपाई की दूरी 60 सेंटीमीटर X 50 सेंटीमीटर
  • बीज दर 150-200 ग्राम प्रति/हे.
  • रोपाई के 55-60  दिन बाद फल प्रथम तुड़ाई के लिए तैयार
  • उपज 700 -750 क्वि./हे.
  • बिहार और  झारखण्ड खेती के लिए हेतु अनुमोदित

स्वर्ण अजय (संकर)

  • फल गोल (100- 120 ग्राम) एवं आकर्षक एवं हल्के  बैंगनी रंग के
  • जीवानुज मुरझा रोग  मध्यम प्रतिरोधी एवं फमोप्पिसस ब्लाईट प्रतिरोधी
  • पौधशाला में बुआई का समय जुलाई-सितम्बर  एवं फरवरी-मार्च
  • रोपाई की दूरी 60 सेंटीमीटर X 50 सेंटीमीटर
  • बीज दर 150-200 ग्राम प्रति/हे.
  • रोपाई के 50-55  दिन बाद फल प्रथम तुड़ाई के लिए तैयार
  • उपज 700 -750 क्वि./हे.
  • बिहार, झारखण्ड, पंजाब एंव उत्तर प्रदेश में खेती के लिए अनुमोदित

 

स्त्रोत एवं सामग्रीदाता: कृषि विभाग, झारखण्ड सरकार

3.03225806452

Santodh kumar Aug 20, 2018 10:23 AM

Sir ji mere khet mei kida hai began . Sir mujhe dawa bataye pllese

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
Back to top

T612019/10/17 01:24:28.202181 GMT+0530

T622019/10/17 01:24:28.224935 GMT+0530

T632019/10/17 01:24:28.248719 GMT+0530

T642019/10/17 01:24:28.249215 GMT+0530

T12019/10/17 01:24:28.175847 GMT+0530

T22019/10/17 01:24:28.176080 GMT+0530

T32019/10/17 01:24:28.176250 GMT+0530

T42019/10/17 01:24:28.176398 GMT+0530

T52019/10/17 01:24:28.176491 GMT+0530

T62019/10/17 01:24:28.176579 GMT+0530

T72019/10/17 01:24:28.177394 GMT+0530

T82019/10/17 01:24:28.177591 GMT+0530

T92019/10/17 01:24:28.177822 GMT+0530

T102019/10/17 01:24:28.178058 GMT+0530

T112019/10/17 01:24:28.178106 GMT+0530

T122019/10/17 01:24:28.178203 GMT+0530