सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

ई-हस्ताक्षर

इस भाग में डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के भाग के रुप में शुरु किये जा रहे ई-हस्ताक्षर कार्यक्रम की जानकारी दी गई है।

कल्पना कीजिए कि हमें बैंक में खाता खोलने के लिए या पैन कार्ड पाने के लिए न पेन की आवश्यकता हो और न ही आवेदन प्रपत्रों को भरने की। इन प्रपत्रों पर आवेदक के हस्ताक्षर की आवश्यकता के कारण इसे ऑनलाइन करने में एक बड़ी बाधा थी। लेकिन अब इलेक्ट्रॉनिक हस्ताक्षर के द्वारा हस्तलिखित हस्ताक्षर की आवश्यकता बदलना संभव है। यह नए हस्ताक्षर इलेक्ट्रॉनिक रूप में दस्तावेजों में संलग्न किए जा सकते हैं। सी-डैक की ई-हस्ताक्षर नामक सेवा, इन प्रयासों को और सरल बनाएगी क्योंकि अब नागरिकों को स्वयं हस्ताक्षर करने की आवश्यकता नहीं होगी और वह इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से संभव हो सकेगी।

डिजिटल हस्ताक्षर क्या है?

वर्तमान में, नागरिक द्वारा जमा किए जाने वाले कई सारे आवेदनों या प्रपत्रों पर भौतिक हस्ताक्षर की आवश्यकता होती है। डिजिटल हस्ताक्षर पारंपरिक कागज-आधारित हस्ताक्षर को लेता है और इसे इलेक्ट्रॉनिक "फिंगरप्रिंट" में बदल देता है। यह "फिंगरप्रिंट" या कूट संदेश दस्तावेज़ और हस्ताक्षरकर्ता दोनों के लिए अद्वितीय है और उन्हें एक साथ ला देता है। संक्षेप में कहें तो डिजिटल हस्ताक्षर का वही कार्य है जो हस्तलिखित हस्ताक्षर का। डिजिटल हस्ताक्षर के कुछ मुख्य विशेषताओं में गैर-प्रत्याख्यान, समग्रता और प्रामाणिकता है। सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम 2000 असममित क्रिप्टो सिस्टम पर आधारित डिजिटल हस्ताक्षर करने के लिए आवश्यक कानूनी वैधता प्रदान करता है।

ई-हस्ताक्षर सेवा- उद्देश्य एवं चुनौतियां

ऑनलाइन प्रामाणिक रिकॉर्ड और दस्तावेजों की उपयोगकर्ता द्वारा माँग पर उनके लिए उपलब्ध की जा रही विविध आईसीटी सेवाओं के साथ युग्मित आईसीटी उपकरणों का बड़े पैमाने पर उपयोग। डिजिटल हस्ताक्षर प्रमाणपत्र और ई-हस्ताक्षर दस्तावेज प्राप्त करने की वर्तमान विधियाँ बोझिल हैं।

भारत सरकार अपने द्वारा जारी गजट अधिसूचना में एक ऐसी विधि की घोषणा की है जिसमें प्रमाणन प्राधिकारी को आधार आईडी रखने वाले नागरिकों के लिए ई-हस्ताक्षर सेवा मुहैया कराने की सुविधा है।ई-हस्ताक्षर सेवा का उद्देश्य कानूनी रूप से मान्य और नागरिकों को सुरक्षित रूप से अपने दस्तावेजों पर तत्काल हस्ताक्षर करने के लिए ऑन-लाइन मंच प्रदान करना है। इसमें शामिल दो प्रमुख चुनौतियाँ हैं- क) उपयोगकर्ता का प्रमाणीकरण तथा ख) हस्ताक्षर करने व जाँचने का विश्वसनीय तरीका। पहली चुनौती से पार पाने के लिए ‘आधार कार्ड’ आधारित ऑनलाइन आथेन्टिकेशन प्रणाली को अपनाया गया है तथा उपयोगकर्ता दस्तावेज पर सुरक्षित रूप से हस्ताक्षर के लिए तथा विश्वसनीयता बनाए रखने के लिए पब्लिक की इंफ्रास्ट्रक्चर (PKI) का उपयोग किया गया है।
सुविधा
आधार आईडी रखने वाले नागरिक अपने दस्तावेजों को डिजिटल रूप से हस्ताक्षरित करने के लिए ई-हस्ताक्षर सेवा में अपने दस्तावेजों को अपलोड करने में सक्षम होंगे। दस्तावेज को अपलोड करने के बाद इसमें आधार सेवा के उपयोग से उपयोगकर्ता का सत्यापन किया जाएगा और उपयोगकर्ता तथा दस्तावेज पर हस्ताक्षर के लिए एक जोड़ी की (पब्लिक की और एक निजी की) जनरेट की जाएगी। तत्पश्चात उपयोगकर्ता को डिजिटल रूप से हस्ताक्षरित दस्तावेज और डिजिटल हस्ताक्षर प्रमाणपत्र प्रदान किया जाएगा।
सी-डैक अपने ई-हस्ताक्षर पहल के माध्यम से वैध आधार आईडी तथा पंजीकृत मोबाइल नंबर रखने वाले नागरिकों को ऑनलाइन अपने दस्तावेजों पर डिजिटल हस्ताक्षर करने में सक्षम बनाता है।

सी-डैक की ऑन-लाइन डिजिटल हस्ताक्षर सेवा

  • ई-हस्ताक्षर भारतीय आईटी अधिनियम 2000 तथा इससे संबंधित अन्य नियमों और विनियमों के तहत कानूनी रूप से मान्य और नागरिकों को सुरक्षित रूप से अपने दस्तावेजों पर तत्काल हस्ताक्षर करने के लिए ऑन-लाइन मंच प्रदान करता है।
  • सी-डैक अपने ई-हस्ताक्षर पहल के माध्यम से वैध आधार आईडी और पंजीकृत मोबाइल नंबर वाले नागरिकों को अपने ऑन-लाइन दस्तावेजों पर डिजिटल हस्ताक्षर करने की सुविधा देता है।
  • आवेदकों को ई-हस्ताक्षर सेवा के माध्यम से सी-डैक में स्थापित सीए द्वारा दिया गया डिजिटल प्रमाणपत्र, हस्ताक्षर के लिए केवल एक ही बार उपयोग किया जाएगा तथा यह "आधार-ई-केवाईसी-ओटीपी (Aadhaar-eKYC-OTP)" सेवा के अंतर्गत दिया जाएगा।
  • सी-डैक ऑनलाइन ई-आथेन्टिकेशन और आधारकेवाईसी (AadhaareKYC) सेवा के लिए भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) की सेवा का उपयोग करता है।
  • सी-डैक प्रमाणन प्राधिकारी नियंत्रक (CCA) के तहत सर्टिफाइंग एथोरिटी की भूमिका में डिजिटल हस्ताक्षर प्रमाणपत्र (DSE) एवं ई-हस्ताक्षर देने वाली एक महत्वपूर्ण संस्था है।

ई-हस्ताक्षर सेवा के लाभ

१.सुरक्षित ऑनलाइन सेवा
ई-हस्ताक्षर सेवा आईटी अधिनियम के अनुसार प्रमाणन प्राधिकारी नियंत्रक (CCA) द्वारा लाइसेंसी सर्टिफाइंग एथोरिटी (CA) द्वारा दी जाती है। सी-डैक इस प्रकार से सीए की भूमिका निभाता है तथा संपूर्ण हस्ताक्षर प्रक्रिया की सुरक्षा को सुनिश्चित कराता है।

२.भौतिक सत्यापन की आवश्यकता नहीं
पारंपरिक सीए के लिए प्रत्यक्ष सत्यापन की आवश्यकता होती है और इसमें लोगों को असुविधा होती है। इसके विपरीत ई-हस्ताक्षर ‘आधार कार्ड’ की ई-आथेंटिकेशन प्रणाली के माध्यम से एक ऑनलाइन एवं आसान सेवा मुहैया करता है।

३.हार्डवेयर टोकन की आवश्यकता नहीं
ई-हस्ताक्षर एक ऑनलाइन सेवा है और इसके लिए अब किसी पारंपरिक हार्डवेयर टोकन की कोई आवश्यकता नहीं है।

४.प्रमाणित करने के लिए एक से अधिक तरीके
ई-हस्ताक्षर सेवा वन-टाइम-पासवर्ड (ओटीपी जो आधार डेटाबेस में पंजीकृत मोबाइल पर भेजा जाता है) या बॉयोमैट्रिक (फिंगरप्रिंट या आँख की पुतली का स्कैन) जैसे उपयुक्त तरीकों के आधार पर सत्यापन करती है। वर्तमान में ओटीपी आधारित सत्यापन के लिए ई-हस्ताक्षर सेवा उपलब्ध है।
६.गोपनीयता
ई-हस्ताक्षर सेवा पूरे दस्तावेज के बजाय दस्तावेज के केवल सार (hash) को इस्तेमाल करती है जिससे कि दस्तावेजों की गोपनीयता सुनिश्चित होती है।

ई- साइन


कैसे करें ई- साइन? डिजिटल इंडिया के इस भाग में जानें देखिए इस विडियो में

स्त्रोत: सीडैक

3.06741573034

ईश्वर लाल गुर्जर Oct 31, 2018 12:58 PM

सर डिजिटल बनना हे आवेदन केशे करे ९९XXXXXXXX ईमेल ईद लालीश्वरXXX@जीमेल.कॉम

मुरलीधर पलिया Nov 21, 2016 07:29 PM

सर मेरा नाम मुरलीधर पलिया /सुरजाराम गांव चान्दारुण ते. डेगाना जिला नागोर (राज.) में नया बोटिंग कार्ड बनाना चाहता हु

मुरलीधर paliya Nov 20, 2016 06:41 AM

सर मेरा नाम मुरलीधर पलिया / सुरजाराम जन्म दि. ११-०४-१९९८ निवासी चान्दारुण ते. डेगाना जिला नागोर (राज.) पिन न. ३४१५०३ मोबाइल न. ८६X६XXXXX६ सर में नेरा बोटिग कार्ड बनवाना हे आप बोटिंग कार्ड बना do सर मैं पैन कार्ड बनवाया है दी . ११/०३ /२०१६ को जो अभी तक नही बना हे आप

अन्नीलाल बंजारा Oct 24, 2016 03:35 PM

महोदय में अपने csc के नाम से डिजिटल हस्ताक्षर बनाना चाहत हु कृपया मुझे साल्हे दे मो न ९७७XX७X७९Xहे

श्वेता परिहार Sep 18, 2016 01:19 AM

महोदय , मैं अपने csc के नाम से डिजिटल हस्ताक्षर बनबाना चाहती हूँ कृपया मुझे उचित सलाह दे या संपर्क करे मो ० ९४XXX९XXXX है ई मेल - bms .group .orai @जीमेल.com

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
संबंधित भाषाएँ
Back to top

T612019/10/23 10:50:22.582642 GMT+0530

T622019/10/23 10:50:22.595174 GMT+0530

T632019/10/23 10:50:22.595888 GMT+0530

T642019/10/23 10:50:22.596185 GMT+0530

T12019/10/23 10:50:22.557593 GMT+0530

T22019/10/23 10:50:22.557763 GMT+0530

T32019/10/23 10:50:22.557915 GMT+0530

T42019/10/23 10:50:22.558068 GMT+0530

T52019/10/23 10:50:22.558158 GMT+0530

T62019/10/23 10:50:22.558231 GMT+0530

T72019/10/23 10:50:22.558952 GMT+0530

T82019/10/23 10:50:22.559147 GMT+0530

T92019/10/23 10:50:22.559356 GMT+0530

T102019/10/23 10:50:22.559581 GMT+0530

T112019/10/23 10:50:22.559628 GMT+0530

T122019/10/23 10:50:22.559732 GMT+0530