सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

बैंक मित्र

इस भाग में सरकार द्वारा शुरू की गई बैंक मित्र सुविधा की जानकारी उपलब्ध है।

बैंक मित्र बनकर आप भी कमा सकते हैं पैसा, हर माह मिलेगी सैलरी

पैसा कमाने की तलाश कर रहे युवाओं के लिए अच्छा ऑफर है। प्रधानमंत्री जनधन योजना से जुड़कर यानी बैंक मित्र बनकर आप पैसा कमा सकते हैं। बैंक मित्र को न्यूनतम 5000 रुपए का फिक्सड वेतन मिलेगा, इसके अलावा खातों में लेन-देन पर अलग से कमीशन भी मिलेगा। साथ ही बैंक मित्र के लिए अलग के एक कर्ज स्कीम भी तैयार की गई है। इसमें उसे कंप्यूटर, वाहन आदि के लिए कर्ज भी बैंक देगा। पुराने वित्तीय समावेशन में उम्मीद के मुताबिक खाते न खुल पाने की एक बड़ी वजह बिजनेस कॉरसपांडेंट का टिकाऊ न होना रहा था। ऐसा इसलिए था, कि उसमें कोई फिक्स वेतन का प्रावधान नहीं था। इस कमी को देखते हुए नई स्कीम प्रधानमंत्री जन-धन योजना में कई अहम बदलाव किए गए हैं।

कौन होते हैं बैंक मित्र

बैंक मित्र में उन लोगों को शामिल किया गया है, जिन्हें प्रधानमंत्री जन-धन योजना के अंतर्गत बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध करवाने का जिम्मा दिया गया है। खास तौर पर यह लोग उन जगहों पर कार्य कर रहें है जिन जगहों पर न तो किसी बैंक की शाखा है और न ही कोई एटीएम। ऐसे में यह लोग आप तक पहुंच कर आपको योजना से सम्बंधित जानकारी से लेकर आपको धन राशी पहुंचाने तक का कार्य करतें है।

बैंक नियुक्त करेंगे 50 हजार बैंक मित्र

बैंक मित्र के लिए बनी स्कीम में जहां उनका न्यूनतम 5000 रुपए वेतन प्रतिमाह फिक्सड किया गया है। वहीं, खाता खोलने और उसमें होने वाले लेन-देन के लिए कमीशन (वैरिएबल) अलग से तय किया गया है। इसके अलावा कंप्यूटर, वाहन आदि को खरीदने के लिए 1.25 लाख रुपए का कर्ज मिलेगा। बैंक मित्र को काम के लिए कंप्यूटर, वाहन आदि की भी जरूरत पड़ेगी। वित्त मंत्रालय के अधिकारी के अनुसार बैंक मित्र की जरूरतों को देखते हुए स्कीम में प्रावधान किया गया है कि वह 1.25 लाख रुपए तक का कर्ज ले सकेगा

कौन बन सकता है बैंक मित्र

इसमें 50 हजार रुपए उपकरण के लिए, 25 हजार रुपए कार्यशील पूंजी और 50 हजार रुपए वाहन का कर्ज मिलेगा। इसके लिए उसे 35 महीने से लेकर 60 महीने तक का कर्ज मिलेगा। कर्ज के लिए 18-60 साल की उम्र के लोग पात्र होंगे। कोई भी व्यस्क व्यक्ति बैंक मित्र बन सकता है। इसके अलावा सेवानिवृत हो चुके बैंक कर्मचारी, शिक्षक, बैंक, सेना के व्यक्ति भी इसके लिए पात्र होंगे। साथ ही केमिस्ट शॉप, किराना शॉप, पेट्रोल पंप, स्वयं सहायता समूह, पीसीओ, कॉमन सर्विस सेंटर आदि भी बैंक मित्र बन सकेंगे। सरकार की इस नई स्कीम से हजारों लोगों को अप्रत्यक्ष रूप से नौकरी मिलने की संभावना है।

क्या-क्या करेंगे बैंक मित्र

  • प्रधानमंत्री जन-धन योजना के तहत बचत और दूसरी  सुविधाओं के बारे में लोगों को शिक्षित करना और जागरूकता फैलाना।
  • सेविंग्स और लोन सम्बंधित बातों की सलाह देना।
  • ग्राहकों की पहचान करना
  • प्राथमिक जानकारी, आंकडें इक्कठा करना, फॉर्म को संभलके रखना, लोगों द्वारा दी गई जानकारी की जांच करना, और लोगों द्वारा दी गई राशी को संभल कर जमा करवाना।
  • आवेदन और खातों से सम्बंधित फॉर्म भरना।
  • राशी का समय पर भुगतान और जमा करने का कार्य।
  • किसी की तरफ से आया हुआ पैसा सही हांथों तक पहुचना और उसकी रसीद बनाने का काम।
  • खतों और अन्य सुविधाओं से सम्बंधित जानकारी उपलब्ध करवाना।

स्त्रोत: दैनिक समाचारपत्र

3.10983981693

Deepak Feb 09, 2017 09:28 AM

सर, म बी बैंक मिटेर बन न chahta hu

SATENDRA KUMAR Feb 08, 2017 06:54 AM

मैं BANK ऑफ़ इंडिया की SHAKHA लेना चाहता हूँ.हरXोईXXXXXX मो ९०XX९XXXXX ईमेल XXXXX@gmail.com प्लीज हेल्प me

कुंदन kumar Feb 05, 2017 08:34 PM

मैं विकलांग हूँ मुझे अर्जेंट में Naukri चाहिए क्योंकि मैं शादी शुदा हूँ मुझे कहीं भी Naukri नहीं Milta मैं बहुत परेशान हूँ मैं १२ पास हूँ मेरा नंबर ८०८X०८XXX८ प्लीज हेल्प me

दिलीप कुमार गौतम बी.सी santral m.p.gramin बैंक साखा -बड़वारा Feb 05, 2017 10:12 AM

बैंक के तरफ से हमेसा क्यों लापर वही बरती जाते है हमें या समछ मे नही आता हमरारे द्वारा ग्रामीणों के खाते खोले जाते है लेकिन साखा दयोरा उन्हे समय में न तो खाते नंबर उपलब्धद हो पते है न ही हमे सह्यूग मिल पता है हम क्या करे समछ में नहीं आता

देवेंद्र सिंह बी ओ आई Feb 03, 2017 04:28 PM

दोस्तों बजट २०१७ में बैंक मित्रो / प्रधान मंत्री जनधन योजना के लिए कुछ मिला है क्या ......कृपया जिन बैंक मित्रो को जानकारी हो अवगत कराने का कस्ट करे / ऐशा लगता है की २०१७ भी वेतन ५००० के बिना ही निकल जायगा जय हिन्द 94XXX09

Commenting has been disabled.
नेवीगेशन
संबंधित भाषाएँ
Back to top

T612019/04/25 07:10:7.254098 GMT+0530

T622019/04/25 07:10:7.315661 GMT+0530

T632019/04/25 07:10:7.316577 GMT+0530

T642019/04/25 07:10:7.316908 GMT+0530

T12019/04/25 07:10:7.227971 GMT+0530

T22019/04/25 07:10:7.228132 GMT+0530

T32019/04/25 07:10:7.228265 GMT+0530

T42019/04/25 07:10:7.228396 GMT+0530

T52019/04/25 07:10:7.228480 GMT+0530

T62019/04/25 07:10:7.228551 GMT+0530

T72019/04/25 07:10:7.229260 GMT+0530

T82019/04/25 07:10:7.229439 GMT+0530

T92019/04/25 07:10:7.229651 GMT+0530

T102019/04/25 07:10:7.229871 GMT+0530

T112019/04/25 07:10:7.229915 GMT+0530

T122019/04/25 07:10:7.230002 GMT+0530