सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / ई-शासन / वीएलई के लिए संसाधन / भारतीय भाषा सहायता
शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

भारतीय भाषा सहायता

यह भाग भारतीय भाषा सहायता के अंतर्गत यूनीकोड को सक्षम करने से संबंधित सहायता के बारे में जानकारी देता है।

परिचय

हम यहाँ पर अपने कंप्यूटर सिस्टम में कार्य करने वाले माइक्रोसॉफ्ट विस्टा, विंडोज 2007, विंडोज 2000 भाषा समर्थन को सक्षम और, XP में भारतीय भाषा समर्थन को सक्षम करने के लिए निर्देशित कर रहे हैं। हम यहाँ पर इस बारे में भी बता रहे हैं कि यूनिकोड फॉन्ट कैसे ट्रू टाइप में और ट्रू टाइप किस तरह से यूनीकोड में परिवर्तित किया जा सकता है। यहां पर आप यह भी जान पाएंगे कि वर्ड कैसे पीडीएफ में परिवर्तित होगा और इस तरह प्रगतिपीडिया पोर्टल पर अपनी रुचि की पाठ्य सामग्री को साझा करने में सक्षम होंगे।

मैं कैसे करुं

लैग्वेज सपोर्ट प्रक्रिया

विंडोज विस्टा, विंडोज XP की तरह, लगभग सभी भारतीय भाषाओं के लिए स्क्रिप्ट कीबोर्ड में पहले से ही जुड़ा होता है जिसे आप कंट्रोल पैनल में जा कर सक्रिय कर सकते हैं।

1. प्रारंभ करने के लिए स्ट्रार्ट पर जाएं → कंट्रोल पैनल  
2. यदि आप नॉर्मल व्यू में है  तो नीचे से सिलेक्ट करें 〈Change keyboards or other input methods〉→〈Clock, Language and Region〉.
3. आप क्लासिक व्यू में हैं, तो 〈Regional and Language Options〉 का चयन करें.
4. यह पहले से टैब का चयन नहीं किया गया है तो सिलेक्ट करें 〈Keyboards and Languages〉
5. बटन का 〈Change keyboards...〉 चयन करें.
6. सूची से आप इच्छित भाषा (ओं) को चुनें और '+' का निशान का उपयोग कर अन्य भाषाओं को लिस्ट में प्राप्त करें और अपनी पसंदीदा भाषा के कीबोर्ड को चुनें
7. किसी परिवर्तन से बचने के लिए 〈OK〉 और 〈OK〉 को चुनें

विंडोज 7 के लिए इंडिक समर्थन को सक्रिय करें

देखें http://www.bhashaindia.com विंडोज 7 में इंडिक सर्पोर्ट को सक्रिय करनें के बारें में ज्यादा जानने के लिए

type in Hindi without the Internet


बिना इंटरनेट के हिंदी में कैसे करें टाइप, देखिये इस विडियो में

कंप्यूटर के लिए लैंग्वेज सपोर्ट को सक्षम करें

Microsoft Vista के लिए Indic सपोर्ट को सक्षम बनाना

इन चरणों का अनुपालन करें: Start >> Control Panel >> Regional and Language Option

चरण-01: “Location” विकल्प पर क्लिक करें

चरण-02: ड्रॉप डाउन बॉक्स से “India” का चयन करें

चरण-03: “OK” बटन पर क्लिक करें

चरण-04: “Keyboards and Language” बटन पर क्लिक करें

चरण-05: “Change Keyboard” बटन पर क्लिक करें

चरण-06: “Add” बटन पर क्लिक करें

चरण-07: “Hindi or any Indian language” से भाषा का चयन करें

चरण-08: “हिंदी” विकल्प की बाईं ओर स्थित + के चिह्न पर क्लिक करें

चरण-09: की-बोर्ड विकल्प की बाईं ओर स्थित + चिह्न पर क्लिक करें

चरण-10: “Devnagari Hindi (Inscript)” तथा “Hindi Traditional” दोनों विकल्पों को चेक करें (बॉक्स पर क्लिक कर)

चरण-11: “OK” बटन पर क्लिक करें और “Apply” बटन पर क्लिक करें

चरण-12: नीचे के टास्क-बार (नीचे दाएं) में “EN” दिखाई पड़ेगा।

चरण-13: यदि यह विकल्प दिखाई न दे तो कृपया अपने कंप्यूटर को रीस्टार्ट करें।

चरण-14: “EN” विकल्प दाईं ओर नीचे टास्क-बार में दिखाई पड़ेगा

चरण-15: वर्ड पेज खोलें

चरण-16: “Alt + Shift” की द्वारा भाषा को बदलें।

चरण-17: हिंदी या अन्य भाषा में टाइप करना शुरु करें। यह इंस्क्रिप्ट की-बोर्ड को सपोर्ट करेगा।

चरण-18: यदि आप “फॉनेटिक की-बोर्ड” का प्रयोग करना चाहते हैं, तो निम्नलिखित प्रक्रिया का अनुपालन करें

फॉनेटिक की-बोर्ड के सपोर्ट के लिए IME डाउनलोड करें

चरण-1: वेबपेज www.bhashaindia.com पर क्लिक करें।

चरण-2: “डाउनलोड” मेन्यू पर क्लिक करें (बाईं ओर स्थित “For End Users” शीर्षक के नीचे)

चरण-3: “Indic IME” पर क्लिक करें

चरण-4: डाउनलोड करने के लिए Indic IME विकल्प के अंतर्गत “Indic IME-1 (Hindi)” पर क्लिक करें

चरण-5: फाइल को डेस्कटॉप पर सुरक्षित करें तथा इसे अनज़िप करें

चरण-6: “Setup” पर डबल क्लिक करें

चरण-07: इन्स्टॉलेशन समाप्त करने के बाद बेहतर होगा कि आप अपने कंप्यूटर को रीस्टार्ट करें।

चरण-08: इस प्रक्रिया का अनुपालन करें Start >> Control Panel >> Regional and Language Option >> “Keyboards and Language >> Change Keyboard >> Hindi Traditional >> Add >> Hindi >> बॉक्स देखें “Hindi Indic IME 1 [V 5.1]” >> Apply >> Ok

चरण-09: वर्ड डॉक्युमेंट खोलें तथा “Alt + Shift” विकल्प के जरिए भाषा का विकल्प बदलें।

चरण-10: “Keyboard” के चित्र पर क्लिक करें तथा “Hindi Transliteration/Hindi Indic IME” का चयन कर फॉनेटिक प्रकार से टाइप करना शुरु करें

Windows 2000 के लिए Indic के सपोर्ट को सक्षम बनाना

इस चरणों का अनुपालन करें: Start >> Setting/Control Panel >> Regional and Language option

चरण-01: “General” बटन पर क्लिक करें

चरण-02: नीचे स्थित ड्रॉप डाउन बॉक्स से “Language setting for the system” शीर्षक के अंतर्गत “Indic” विकल्प को देखें

चरण-03: “Indic” विकल्प को देखने के बाद कुछ फाइल कॉपी करने के लिए “Windows 2000 Professional CD-ROM” को इंसर्ट करने का एक विकल्प आएगा। अतः फाइल को कॉपी करने के लिए CD डालें।

चरण-04: “OK” बटन पर क्लिक करें

पुनः इन चरणों का अनुपालन करें: Start >> Setting/Control Panel >> Regional and Language option

चरण-05: “Input Locales” बटन पर क्लिक करें

चरण-06: “Input language” शीर्षक के अंतर्गत उपलब्ध ड्रॉप डाउन बॉक्स से भाषा का चयन करें।

चरण-07: “OK” बटन पर क्लिक करें।

चरण-08: इसके बाद टास्क-बार (नीचे दाईं ओर) में “EN” दिखाई पड़ेगा।

चरण-09: यदि यह विकल्प न दिखाई पड़े तो अपने कंप्यूटर को रीस्टार्ट करें

चरण-10: कंप्यूटर के पुनः चालू होने के बाद “EN” विकल्प टास्क-बार की दाईं ओर नीचे दिखाई पड़ेगा।

चरण-11: वर्ड पेज खोलें

चरण-12: “Alt and Shift” बटन के जरिए भाषा को बदलें। यदि आपने हिंदी को सक्षम किया है तो “HI” दिखाई पड़ेगा।

चरण-13: हिंदी या अन्य भाषाओं में टाइपिंग करना आरंभ करें। यह इंस्क्रिप्स्ट की-बोर्ड को सपोर्ट प्रदान करेगा।

चरण-14: यदि आप “फॉनेटिक की-बोर्ड” का प्रयोग करना चाहते हैं तो नीचे दी गई प्रक्रिया का अनुपालन करें।

फॉनेटिक की-बोर्ड का प्रयोग करने के लिए IME को डाउनलोड करें

चरण-1: वेबपेज www.bhashaindia.com पर क्लिक करें।

चरण-2: “डाउनलोड” मेन्यू पर क्लिक करें (बाईं ओर स्थित “For End Users” शीर्षक के नीचे)

चरण-3: “Indic IME” पर क्लिक करें

चरण-4: डाउनलोड करने के लिए Indic IME विकल्प के अंतर्गत “Indic IME-1 (Hindi)” पर क्लिक करें

चरण-5: फाइल को डेस्कटॉप पर सेव करें तथा इसे अनज़िप करें

चरण-6: “Setup” पर डबल क्लिक करें

चरण-07: इन्स्टॉलेशन समाप्त करने के बाद बेहतर होगा कि आप अपने कंप्यूटर को रीस्टार्ट करें।

चरण-08: इन प्रक्रिया का अनुपालन करें: Start >> Setting/Control Panel >> Regional and Language Option >> “Input Languages >> ड्रॉप डाउन बॉक्स में “Keyboard layout/IME” शीर्षक के अंतर्गत >> चुनें “Hindi Indic IME 1 [V 5.1]”

फिर Ok >> Apply करें।

चरण-09: वर्ड डॉक्युमेंट खोलें तथा “Alt + Shift” द्वारा भाषा का विकल्प बदलें।

चरण-10: “Keyboard” के चित्र पर क्लिक करें तथा “Hindi Transliteration” का चयन कर फॉनेटिक प्रकार से टाइप करना शुरु करें

XP के लिए Indic सपोर्ट को सक्षम बनाना

इन चरणों का अनुपालन करें: Start >> Control Panel >> Regional and Language option

चरण-01: “Regional Options” पर क्लिक करें।

चरण-02: “Location” शीर्षक के अंतर्गत ड्रॉप डाउन बॉक्स से “India” का चयन करें।

चरण-03: “OK” बटन पर क्लिक करें।

पुनः इन चरणों का अनुपालन करें: Start >> Control Panel >> Regional and Language option

चरण-04: “Languages” बटन पर क्लिक करें।

चरण-05: “Supplemental language support” के नीचे दिए दोनों बॉक्सों को चेक करें (बॉक्स पर क्लिक कर) (बॉक्सों को देखने के बाद, कुछ फाइलों को कॉपी करने के लिए “Service Pack-2” CD डालने का एक विकल्प आएगा)

चरण-06: “OK” बटन पर क्लिक करें।

चरण-07: “Languages” बटन पर क्लिक करें।

चरण-08: “Details” बटन पर क्लिक करें।

चरण-09: “Installed services” शीर्षक के नीचे दिए “Add” बटन पर क्लिक करें।

चरण-10: “Input Language” शीर्षक के नीचे दिए गए ड्रॉप डाउन बॉक्स में से भाषा का चयन करें, अर्थात Hindi चुनें।

चरण-10: “OK” बटन पर क्लिक करने के बाद “Apply” बटन पर क्लिक करें।

चरण-11: टास्क-बार (दाईं ओर नीचे) में “EN” विकल्प दिखाई पड़ेगा।

चरण-12: यदि यह विकल्प न दिखे तो कृपया अपना कंप्यूटर रीस्टार्ट करें।

चरण-13: कंप्यूटर के पुनः चालू होने के बाद “EN” विकल्प टास्क-बार की दाईं ओर दिखाई पड़ेगा।

चरण-12: वर्ड पेज खोलें

चरण-13: “Alt and Shift” बटन के जरिए भाषा को बदलें। यदि आपने हिंदी को सक्षम किया है तो “HI” दिखेगा।

चरण-14: हिंदी या अन्य भाषाओं में टाइप करना शुरु करें। यह इंस्क्रिप्ट की-बोर्ड को सपोर्ट करेगा।

चरण-15: यदि आप “फॉनेटिक की-बोर्ड” का प्रयोग करना चाहते हैं तो निम्न प्रक्रिया का अनुपालन करें।

फॉनेटिक की-बोर्ड का प्रयोग करने के लिए IME को डाउनलोड करें

चरण-1: वेबपेज www.bhashaindia.com पर क्लिक करें।

चरण-2: “डाउनलोड” मेन्यू पर क्लिक करें (बाईं ओर स्थित “For End Users” शीर्षक के नीचे)

चरण-3: “Indic IME” पर क्लिक करें

चरण-4: डाउनलोड करने के लिए Indic IME विकल्प के अंतर्गत “Indic IME-1 (Hindi)” पर क्लिक करें

चरण-5: फाइल को डेस्कटॉप पर सेव करें तथा इसे अनज़िप करें

चरण-6: “Setup” पर डबल क्लिक करें

चरण-07: इन्स्टॉलेशन समाप्त करने के बाद बेहतर होगा कि आप अपने कंप्यूटर को रीस्टार्ट करें।

चरण-08: इन प्रक्रिया का अनुपालन करें: Start >> Setting/Control Panel >> Regional and Language Option >> “Input Languages >> ड्रॉप डाउन बॉक्स में “Keyboard layout/IME” शीर्षक के अंतर्गत >> चुनें “Hindi Indic IME 1 [V 5.1]”

फिर Ok >> Apply करें।

चरण-09: वर्ड डॉक्युमेंट खोलें तथा “Alt + Shift” विकल्प के साथ भाषा का विकल्प बदलें।

चरण-10: “Keyboard” के चित्र पर क्लिक करें तथा “Hindi Transliteration” का चयन कर फॉनेटिक प्रकार से टाइप करना शुरु करें

यूनिकोड फॉन्ट को ट्रू टाइप में बदलना

यूनिकोड फॉन्ट को ट्रू टाइप फॉन्ट में बदलने के लिए टीबीआईएल व डॉटनेट फ्रेमवर्क 3.5 एसपी1 की जरूरत होती है। निम्न दोनों सेट-अप आप भाषा इंडिया से डाउनलोड कर सकते हैं-

  1. टीबीआईएल कनवर्टर 3.0
  2. .नेट फ्रेमवर्क 3.5 एसपी1

दोनों सेट-अप को अपने कंप्यूटर पर इंस्टॉल करने के लिए निम्न प्रक्रियाओं का पालन करें:

चरण-1: .Net Framework 3.5 SP1 पर क्लिक कर इसे डाउनलोड करें और अपने डेस्कटॉप पर सेव करें,

चरण-2: इसके बाद TBIL Converter 3.0 पर क्लिक कर उसे डाउनलोड करें, जो फॉन्ट टूल्स मेनु के अंतर्गत उपलब्ध है। डाउनलोड करने के बाद उसे डेस्कटॉप पर सुरक्षित कर लें,

चरण-3: सबसे पहले .NET Framework Version 3.5 SP1 को इंस्टॉल करें,

चरण-4: इसके बाद TBIL सेटअप को इंस्टॉल करें (इसके लिए सेटअप इमेज पर डबल क्लिक करें और प्रक्रिया का अनुपालन करें।)

चरण-5: इसके बाद डेस्कटॉप पर एक आयकन दिखाई पड़ेगा।

चरण-6: फ़ॉन्ट कनवर्ट करने के लिए उसपर डबल क्लिक करें और इन चरणों का पालन करें >> Check the Doc Files box >> Go >> Source Language (Hindi) >> Source format (Unicode) >> Source font (Mangal) >> Target language (Hindi) >> Target format (Ascii) >> Target font (Kruti dev 010 >> Next >> Browse >> Convert >> OK >> Exit >> Yes

चरण-7: फॉन्ट कनवर्ट होने के बाद फाइल उस स्थान पर सुरक्षित हो जाएगा जहाँ सोर्स फाइल रखी गई थी,

चरण-8: फॉन्ट कनवर्ट होने के बाद संभव हो कि उसमें कुछ अक्षर गायब हों जिसे आपको सुधारना होगा।

वर्ड डॉक्युमेंट को पीडीएफ में बदलना

केवल XP, Windows 2000 व इससे निम्न श्रेणी वाले ऑपरेटिंग सिस्टम वाले प्रयोक्ताओं हेतु

पीडीएफ क्रियेटर के लिए बहुत सारे टूल उपलब्ध हैं जिनका उपयोग आप अपनी सुविधानुसार कर सकते हैं। इसमें PDF 995 भी एक पीडीएफ क्रियेटर है।

PDF 995 के बारे में

PDF 995 एक पीडीएफ क्रियेटर है जो वर्ड डॉक्युमेंट/एक्सेल शीट/ पीपीटी इत्यादि को पीडीएफ में बदलता है। पीडीएफ में रूपांतरित करने से फायदा यह होता है कि वर्ड डोक्युमेंट में बनाये डिजाइन बदलने की संभावना समाप्त हो जाती है,

सेट-अप को डाउनलोड करने के लिए तथा डॉक्युमेंट को पीडीएफ में बदलने के लिए निम्न प्रक्रिया अपनायें:

चरण-1: PDF 995 डाउनलोड करने के लिए http://www.pdf995.com/download.html पर जायें।

चरण-2: PDF 995 Printer Driver (Version 9.2) तथा Free Converter • Version 1.3 डाउनलोड करें। यह दोनों Pdf995 2-Step Download मेनु के अंतर्गत उपलब्ध है।

चरण-3: डाउनलोड करने के बाद दोनों सेट-अप को अपने डेस्क टॉप पर सुरक्षित कर लें।

चरण-4: दोनों प्रोग्राम को एक-एक कर इंस्टॉल करें। यदि जरूरी हो तो अपने सिस्टम को री-स्टार्ट करें,

चरण-5: कोई वर्ड डॉक्युमेंट/एक्सेल शीट या पीपीटी खोलें,

चरण-6: फाइल को पीडीएफ में कनवर्ट करने के लिए इन प्रक्रियाओँ का पालन करें- File >> Print >> PDF Creator >> OK >> Save

विण्डोज 2007 प्रयोक्ताः वर्ड डॉक्युमेंट को पीडीएफ में बदलने की विधि

चरण-1: वर्ड डॉक्युमेंट या एक्सेल शीट खोलें,

चरण-2: आपके स्क्रीन के ऊपर-मध्य में स्थित PDF बटन पर क्लिक करें,

चरण-3: “Save as PDF” बटन पर क्लिक करें।

स्त्रोत

भाषाइंडिया

3.0

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
Back to top