सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / स्वास्थ्य
शेयर

स्वास्थ्य

  • health1

    मातृत्व एवं शिशु स्वास्थ्य पर जागरुकता

    भारत मातृ-मृत्यु अनुपात को कम करने की प्रतिबद्धता के साथ प्रजनन स्वास्थ्य सुविधाओं तक सभी की पहुँच बनाने का प्रयास कर रहा है। मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य पर सरकार द्वारा लागू किये गये विभिन्न स्वास्थ्य कार्यक्रमों के लिए जागरुकता और उनकी उपयोगिता सुनिश्चित करना एक बड़ी जिम्मेदारी और मौलिक महत्व का कार्य है।

  • health2

    देशी चिकित्सा प्रणाली

    लोगों को देशी चिकित्सा प्रणाली के उपयोग पर महत्वपूर्ण जानकारी के प्रसार की जरूरत है। आयुर्वेद, योग, प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, सिद्ध और होम्योपैथी (आयुष) से संबंधित उपयोगी जानकारी, संसाधन सामग्री और उसके उपयोग को बढ़ावा देने के लिए विकासपीडिया अपनी सूचनाओं और बहुउपयोगी उत्पादों के माध्यम से अपना महत्वपूर्ण योगदान देने में प्रयासरत है।

  • health3

    मानसिक स्वास्थ्य पर जागरुकता – समय की आवश्यकता

    विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार वर्ष 2020 तक अवसाद विश्व का दूसरी सबसे बड़ी बीमारी बनकर विश्वव्यापी समस्या बनकर उभरेगी। जीवन स्तर में को बनाये रखने में सामाजिक और आर्थिक लागत बढ़ने के साथ मानसिक स्वास्थ्य का स्तर गिरने से मानसिक स्वास्थ्य और मानसिक बीमारी के इलाज के बारे में जागरूकता की जरुरत महसूस की गई है।

महिला स्वास्थ्य

महिला स्वास्थ्य उसकी पूरी जिंदगी के दौरान-यौवन से लेकर रजोनिवृत्ति तक बहुत महत्वपूर्ण है। इस पोर्टल के माध्यम से किशोर बालिका स्वास्थ्य देखभाल, सुरक्षित मातृत्व और अच्छे प्रजनन स्वास्थ्य की देखभाल आदि से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान दी गई है।

बाल स्वास्थ्य

बच्चों का विकास एक जटिल एवं सतत प्रक्रिया है। इसी क्रम में यह भाग बाल स्वास्थ्य से जुड़ीं विभिन्न महत्वपूर्ण जानकारियों को जानने का अवसर देता है।

आयुष

चिकित्सा और होम्योपैथी (भारतीय चिकित्सा पद्धति एवं होम्योपैथी) विभाग मार्च, 1995 में बनाया। वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति के रुप में अपनी पहचान हासिल कर यह विभाग अपनी उपयोगिता से लोकप्रिय होते हुए महत्वपूर्ण स्थान बना रहा है।

पोषाहार

जनसंख्या विस्फोट और भोजन की मांग हमेशा साथ-साथ चलते हैं। यह भाग पोषाहार के विभिन्न पहलुओं पर रोशनी डालते हुए उनकी स्वस्थ्य जीवन में उपयोगिता बताता है।

बीमारियां-लक्षण एवं उपाय

पारंपरिक बीमारियों के अलावा लोगों की कार्यशैली और उनके आस-पास के पर्यावरणों में आ रहे परिवर्तनों से अनेक नवीन बीमारियों के लक्षण चिकित्सकों के लिए चिंता के विषय हैं। यह भाग पारंपरिक बीमारियों के साथ अनेक नवीन बीमारियों के कारकों को स्पष्ट कर जागरुकता लाने का प्रयास करता है।

स्वच्छता और स्वास्थ्य विज्ञान

स्वच्छता की एक समग्र परिभाषा में स्वच्छ पेयजल, तरल और ठोस अपशिष्ट प्रबंधन, पर्यावरण  और व्यक्तिगत स्वच्छता आदि को शामिल किया जाता है जिसका समुदाय/परिवारके स्वास्थ्य अथवा व्यक्ति पर सीधा प्रभाव पड़ सकता है। इस भाग में इसकी जानकारी दी गयी है।

मानसिक स्वास्थ्य

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मानसिक स्वास्थ्य को परिभाषित करते हुए कहा है कि एक व्यक्ति जो अपने या अपनी खुद की क्षमताओं को पहचानता है वह सामान्य जिंदगी के तनाव का अच्छी तरह से सामना कर सकता है। यह भाग मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ीं विभिन्न महत्वपूर्ण जानकारियों को जानने का अवसर देता है।

स्वास्थ्य योजनाएं

12 अप्रैल, 2005 में शुरू किये गए राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन में महिलाओं सहित बच्चों के स्वास्थ्य में सुधार, वंचित समूहों की स्वास्थ्य जरूरतों को पूरा करना और सार्वजनिक स्वास्थ्य को मजबूत और सक्षम बनाने के साथ कुशल स्वास्थ्य सेवा वितरण बढ़ाना आदि लक्ष्य निर्धारित हैं। यह भाग इससे जुड़ीं महत्वपूर्ण जानकारियों को जानने का अवसर देता है।

प्राथमिक चिकित्सा

प्राथमिक चिकित्सा तात्कालिक और अस्थायी देखभाल अथवा दुर्घटना या अचानक बीमारी का शिकार होने की स्थिति में एक प्रशिक्षित चिकित्सक की सेवाएं प्राप्त करने से पहले दी जाती है। इसी क्रम में यह भाग प्राथमिक चिकित्सा से जुड़ीं जानकारियों को प्रस्तुत कर जागरुकता लाने का प्रयास करता है।

जहाँ महिलाओं के लिए डॉक्टर न हो

यह भाग उन स्थितियों से जुड़ीं सभी जानकारियों को देता है जिनमें महिलाओं के लिए किसी डॉक्टर की सुविधा उपलब्ध नहीं हो पाती है। महिलाओं के जीवन में आने वाली इन स्वास्थ्य समस्याओं का उल्लेख एवं उनके उपाय प्रशिक्षित लोगों द्वारा दिए गए हैं।

जीवनशैली के विकार : भारतीय परिदृश्य

आधुनिक विज्ञान ने उन्नत स्वच्छता, टीकाकरण और एंटीबायोटिक्स तथा चिकित्सकीय सुविधाओं के माध्यम से अनेक संक्रामक बीमारियों से सामान्यत: होने वाले मृत्यु के खतरे को कम कर दिया है। इसी क्रम में यह भाग इस से जुड़ीं विभिन्न महत्वपूर्ण जानकारियों को जानने का अवसर देता है।


Raj Bahadur Morya Nov 11, 2017 08:33 AM

Shri sir ji आज की तारीख में किसान बहुत गरीब बिस्तर से नीचे जी रहे कभी ऐसी ऐसी पैदा होती है कि इनके पास इलाज कराने के लिए पैसे भी नहीं होते इस स्थिति में जब कोई गंभीर बीमारी हो जाती हैं तो सरकारी में तो उनका इलाज जो हो नहीं पाता बिचारे प्राइवेट लेकर भागते हैं अब चाहे उसको इस कंडीशन पर अपनी जमीन गिरवी रखने पर है या कि मैं जेवर गिरवी रखने पर इस चिट्ठी में गरीब किसानों के लिए सरकार क्या कर रही है उनको मतलब यह सही जानकारी किसान तक कैसे पहुंचेगी अभी तक के स्मार्ट कार्ड बन जाते थे अब वह भी नहीं बनना है अगर स्मार्ट कार्ड पहले भी तो तो कहीं प्रधान से लिखवाएं कैसे लिखवाएं लेखपाल से लिखा है वीडियो दिखाएं जब तक इन लोगों के साइड नहीं होते थे वह कार्ड माने नहीं होता इस स्थिति में सरकार क्या कर रही है क्या सही किसान और गरीबों को सरकार इलाज करवा पाएगी धन्यवाद सर जी भूल चूक माफ कीजिएगा

रामकुशल बैगा Nov 01, 2017 01:33 PM

सर मै ग्रामीण क्षेत्र से हूँ यहां पर महिलाएं सेने.पैड का उपयोग नही करती..सर मै इस क्षेत्र मे महिलाओं को सस्ता पैड उपलब्ध कराना चाहता हूँ एवं NGO के मध्य से मै पैड वेन्डीग स्थापित करना चाहता हूँ कहा से संम्पर्क करू...

जलेश कुमार sahu Oct 26, 2017 04:56 AM

O /s रामेश्वरा साहू कवर्धा दर्री पारा मानक नबर 50

युवराज Sxena Oct 22, 2017 07:18 PM

हमारे यहाँ तो आता है लेकिन साम को आएगा कोई देखे न और दो दिन में बेलक कर देते है हमारे कोटेदार जी उनकी बीबी आगनबाड़ी में ह

बबलू सिंह Oct 19, 2017 08:09 PM

हमारे यहाँ जो पोषाहार आता उसे अगनवाडी बेचे देती है

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
Back to top

T612017/12/18 20:17:15.707987 GMT+0530

T622017/12/18 20:17:16.099962 GMT+0530

T632017/12/18 20:17:16.101301 GMT+0530

T642017/12/18 20:17:16.101598 GMT+0530

T12017/12/18 20:17:15.561914 GMT+0530

T22017/12/18 20:17:15.562090 GMT+0530

T32017/12/18 20:17:15.562245 GMT+0530

T42017/12/18 20:17:15.562387 GMT+0530

T52017/12/18 20:17:15.562475 GMT+0530

T62017/12/18 20:17:15.562555 GMT+0530

T72017/12/18 20:17:15.563177 GMT+0530

T82017/12/18 20:17:15.563369 GMT+0530

T92017/12/18 20:17:15.563569 GMT+0530

T102017/12/18 20:17:15.563789 GMT+0530

T112017/12/18 20:17:15.563834 GMT+0530

T122017/12/18 20:17:15.563935 GMT+0530