सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / सफल उदाहरण / पंचायत को आत्मनिर्भर करने की पहल
शेयर

पंचायत को आत्मनिर्भर करने की पहल

पशुपालन और किचन गार्डन की महत्ता को बढ़ावा|

डोरोथिया दयामनी एक्का, आरा पंचायत, नामकुम प्रखण्ड रांची की मुखिया है जो विधि स्नातक की डिग्री लेकर रांची बार कौंसिल में पंजीयन कराने के बाद रांची विश्वविधालय से एलएलएम की पढाई भी कर रही है| अपने पंचायत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए उन्होंने पशुपालन और किचेन गार्डन जैसे क्षेत्रों पर जोर दिया है |

दयामनी बताती है की आत्मनिर्भरता के लिए पंचायत के हर एक वार्ड में विदेशी उन्नत नस्ल का एक-एक बकरा दिया गया ताकि क्षेत्र में बकरियों की नस्ल सुधारी जा सके और बकरी उत्पादन में तेजी आये | बकरी पालन में ब्रीड चेंज की इस कोशिश का साफ असर दिख रहा है | अब तो दूसरी जगह के लोग आकार बकरे को मांग कर ले जाते हैं ताकि उन्हें भी इसका लाभ मिले|

इसी तरह मुर्गी पालन को बढ़ावा देने के लिए ब्रायलर मुर्गी के 450 चूजे बांटे गये | उन्होंने आगे बताया की विकासपीडिया पोर्टल पर उपलब्ध पशुपालन और सब्ज़ियों की खेती के बारे में अधिक जानकारी भी बहुत मददगार साबित हुई है|


Back to top

T612019/10/16 05:34:6.331884 GMT+0530

T622019/10/16 05:34:6.332511 GMT+0530

T632019/10/16 05:34:6.333074 GMT+0530

T642019/10/16 05:34:6.333413 GMT+0530

T12019/10/16 05:34:6.309058 GMT+0530

T22019/10/16 05:34:6.309233 GMT+0530

T32019/10/16 05:34:6.309389 GMT+0530

T42019/10/16 05:34:6.309527 GMT+0530

T52019/10/16 05:34:6.309614 GMT+0530

T62019/10/16 05:34:6.309702 GMT+0530

T72019/10/16 05:34:6.310338 GMT+0530

T82019/10/16 05:34:6.310515 GMT+0530

T92019/10/16 05:34:6.310735 GMT+0530

T102019/10/16 05:34:6.310960 GMT+0530

T112019/10/16 05:34:6.311008 GMT+0530

T122019/10/16 05:34:6.311124 GMT+0530