सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

होम (घर) / समाज कल्याण / महिला और बाल विकास / प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना
शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना

इस पृष्ठ में प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की जानकारी दी गयी है I

भूमिका

भारत सरकार ने मातृत्व सहयोग योजना के नाम को बदलकर इसे प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (पीएमएमवीवाई) का नाम दिया है। इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं को पहले जीवित जन्म के लिए 6000 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। कई अन्य केंद्रीय सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के समान सरकार ने इस योजना के नाम में भी प्रधानमंत्री शब्द शामिल किया है।

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने इस योजना को और अधिक आकर्षक बनाने के लिए प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (पीएमएमवीवाई) का नया नाम दिया है। महिला और बाल कल्याण विभाग के अनुसार पहले की गर्भावस्था सहायता योजना इतनी सफल नहीं थी, यहां तक कि बहुत से लोग इसके बारे में जानते भी नहीं थे।

केंद्रीय सरकार द्वारा बहुचर्चित प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना को देश के राज्यों/जिलों में लागू कर दिया गया है। इस मातृ वंदना योजना के तहत केंद्र द्वारा देश में इसका लाभ पात्र महिलाओं को प्रदान किया जाएगा। इस योजना का उद्देश्य देश की गर्भवती महिलाओं को आर्थिक सहायता प्रदान करना है।

इस योजना के तहत केंद्र सरकार पहली बार गर्भवती होने पर प्रत्येक के खाते में पोषण के लिए पांच हजार रुपये प्रदान करेगी। इस योजना में सभी आय वर्ग की गर्भवती महिलाओं को पात्र बनाया जाएगा। इस महिला योजना का लाभ देश के सभी जिले में यह योजना 01 जनवरी 2017 से ही लागू मानी जाएगी। यानि 31 अक्टूबर 2017 के पहले व एक जनवरी 2017 के बीच जिन गर्भवतियों की डिलीवरी हो चुकी है, उनको भी इस योजना का लाभ मिलेगा।

प्रधान मंत्री मातृ वंदना योजना (पीएमएमवीवाई) का उद्देश्य

हालांकि, गर्भावस्था सहायता योजना कई तरीकों से गर्भवती महिलाओं को मदद करेगी लेकिन इस योजना के दो मुख्य उद्देश्य हैं

  1. काम करने वाली महिलाओं की मजदूरी के नुकसान की भरपाई करने के लिए मुआवजा देना और उनके उचित आराम और पोषण को सुनिश्चित करना।
  2. गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के स्वास्थ्य में सुधार और नकदी प्रोत्साहन के माध्यम से अधीन-पोषण के प्रभाव को कम करना।

पीएम मातृ वंदना योजना की मुख्य बातें

  1. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा पीएम मातृ वंदना योजना को जनवरी, 2017 में शुरू किया था। इसके तहत गर्भवतियों को पौष्टिक आहार के लिए सीधे उनके खाते में उक्त सहायता राशि भेजी जाएगी।
  2. इस योजना पर सीधे प्रधानमंत्री व राज्यों के मुख्यमंत्री निगरानी रखेंगे।
  3. प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन दोनों योजनाओं से पहली बार गर्भवती होने वाली ग्रामीण महिला के खाते में कुल 6400 रुपये व शहरी गर्भवती के खाते में कुल 6000 रुपये पहुंचेंगे।
  1. इस प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के द्वारा पात्र गर्भवती महिलाओं को पहली किस्त में एक हजार रुपये गर्भ के 150 दिनों के अंदर, दूसरी किस्त में 2000 रुपये 180 दिनों के अंदर व तीसरी किस्त में 2000 प्रसव के बाद व शिशु के प्रथम टीकाकरण चक्र पूरा होने पर मिलेंगे।
  2. इन योजनाओ का लाभ लेने के लिए अपने नजदीक स्वास्थ्य केंद्र पर गर्भवतियों को अपना आधार व खाता नंबर देना होगा।

प्रधान मंत्री मातृ वंदना योजना के लाभ

इस योजना से गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं को पहले जीवित बच्चे के जन्म के दौरान फायदा होगा। योजना की लाभ राशि DBT के माध्यम से लाभार्थी के बैंक खाते में सीधे भेज दी जाएगी। रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार निम्नलिखित किश्तों में राशि का भुगतान करेगी।

पहली किस्त

1000 रुपए गर्भावस्था के पंजीकरण के समय

दूसरी किस्त

यदि लाभार्थी छह महीने की गर्भावस्था के बाद कम से कम एक प्रसवपूर्व जांच कर लेते हैं तो 2,000 रुपए मिलेंगे।

तीसरी किस्त

जब बच्चे का जन्म पंजीकृत हो जाता है और बच्चे को BCG, OPV, DPT और हेपेटाइटिस-B सहित पहले टीके का चक्र शुरू होता है।

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (पीएमएमवीवाई) निम्न श्रेणी के गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए लागू नहीं होगी।

1. जो केंद्रीय या राज्य सरकार या किसी सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम के साथ नियमित रोजगार में हैं।

2. जो किसी अन्य योजना या कानून के तहत समान लाभ प्राप्तकर्ता हैं।

इस योजना का कार्यान्वयन जनवरी 2017 और मार्च 2020 के बीच होगा और इसका कुल बजट 12,661 करोड़ रुपये होगा। इस योजना के 12,661 करोड़ कुल रुपए में से 7,932 करोड़ रुपये केंद्र सरकार द्वारा वहन किए जाएंगे जबकि शेष राशि संबंधित राज्य सरकारों द्वारा वहन की जाएगी।

 

दिशानिर्देश प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना को जानने के लिए इस लिंक पर जाएँ

स्रोत: महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, भारत सरकार

3.06896551724

Naveen Kumar r Jul 02, 2018 03:40 AM

My First child was born on 31Oct. 2016. Am I Eligible for any type of Grant

Anita Jun 15, 2018 11:05 PM

Is yojna ka labh sirf pehle bacche k liye hai.... Ya jb dusri bar pregnant hone par bhi is yojna ka labh le sakte hai.... Pls reply....

योगेश गुरव Jun 15, 2018 01:39 PM

मुझे इस योजना से कोईभी मुवाबजा नहीं मिला हे

फिरोज जहा अन्सारी Jun 08, 2018 01:07 AM

इसमे कागज क्या लगने हे। श्रीमान । बहुत अच्छी योजना

रामी बाई Jun 02, 2018 12:37 PM

शासन कोई भी योज़ना निकाले हमें बस इतना पेनप्लेट में लिख देना चाहिंए की क्या क्या के कागज लगेगा और वह कागज कहा से प्राप्त होगा तो और समज में आये

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
संबंधित भाषाएँ
Has Vikaspedia helped you?
Share your experiences with us !!!
To continue to home page click here
Back to top

T612018/07/21 01:28:59.017677 GMT+0530

T622018/07/21 01:28:59.034702 GMT+0530

T632018/07/21 01:28:59.035340 GMT+0530

T642018/07/21 01:28:59.035605 GMT+0530

T12018/07/21 01:28:58.994767 GMT+0530

T22018/07/21 01:28:58.994964 GMT+0530

T32018/07/21 01:28:58.995107 GMT+0530

T42018/07/21 01:28:58.995257 GMT+0530

T52018/07/21 01:28:58.995344 GMT+0530

T62018/07/21 01:28:58.995448 GMT+0530

T72018/07/21 01:28:58.996111 GMT+0530

T82018/07/21 01:28:58.996305 GMT+0530

T92018/07/21 01:28:58.996543 GMT+0530

T102018/07/21 01:28:58.996751 GMT+0530

T112018/07/21 01:28:58.996795 GMT+0530

T122018/07/21 01:28:58.996885 GMT+0530