सामग्री पर पहुँचे | Skip to navigation

शेयर
Views
  • अवस्था संपादित करने के स्वीकृत

कृषि बीमा

इस लेख में कृषि बीमा से सम्बन्धित जानकारी दी गई है|

क्या करें?

  • फसल बीमा अपनाकर पाने आप को अनजाने जोखिमों, अनिश्चिताओं, प्रतिकूल मौसम आदि से आर्थिक सुरक्षा प्रदान करें|
  • अपने क्षेत्र में लागू उचित फसल बीमा योजना का लाभ उठायें| इस समय मुख्यतः चार बीमा योजनायें, राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना एन० ए०आई०एस०  (२५ राज्यों/2 संघ शासित क्षेत्रों में), संशोधित राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना (एम०एन०ए० आई०एस०) (21 राज्यों के 50 जिलों में), मौसम आधारित फसल बीमा योजना (डब्ल्यू०बी०सी० आई०एस०)  (21 राज्यों  में), एवं नारियल पम्प बीमा योजना (सी० पी० आई०एस०) (8 राज्यों में) क्रियान्वित की जा रही है|
  • यदि आप अधिसूचित फसलों के लिए फसल ऋण लर रही है तो आप के लिए एन० ए०आई०एस०/ एम०एन०ए० आई०एस०/ डब्ल्यू०बी०सी० आई०एस०/ सी० पी० आई०एस० के अंतर्गत फसल बीमा कवरेज अनिवार्य है ऋण नहीं लेने वालें किसानों कि लिए यह कवरेज स्वैच्छिक है फसल बीमा योजना का लाभ उठाने के लिए पाने निकटतम बैंक शाखा/बीमा कम्पनी से सम्पर्क कर सकते हैं|

क्या पायें?

क्रम. सं

ऋण सुविधा

सहायता का पैमाना

1

संशोधित राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना (एन० ए०आई०एस०)

अधिसूचित खाद्य फसले, तिलहन एवं वार्षिक बागबानी/वाणिज्यिक फसलों के लिए बीमा सुरक्षा

 

 

अधिसूचित फसलों के लिए बीमांकित प्रीमियम दर वसूल की जाती है|

 

 

प्रीमियम के स्तर के आधार पर सभी प्रकार के किसानों को प्रीमियम में 40 से 75% की सब्सिडी प्रदान की जाती है (2 प्रतिशत तक शून्य, 2-5% 40% कम से कम 2% निवल प्रीमियम की शर्त के साथ, 5-10% shart5shart0% कम से कम 3% निवल प्रीमियम की शर्त के साथ, 10-15%-50% कम से कम ५% निवल प्रीमियम की शर्त के साथ, 15% 75% कम से कम 6% निवल प्रीमियम की शर्त के साथ)

 

 

यदि प्रतिकूल मौसम/जलवायु के कारण बुआई नही हो पाती है तो बुआई में रुकावट/रोपाई जोखिम के लिए बीमित राशि का 25% तक का दावा/क्षतिपूर्ति भुगतान किया जाता है|

 

 

यदि अधिसूचित फसल का उत्पादन गारंटीशुदा उपज से कम होता है तो सभी बीमित किसानों को क्षतिपूर्ति के भुगतान उत्पदन में भी हुई कभी के आधार पर किया जाता है|

तथापि संभावित दावें का 25% अग्रिम भुगतान के रूप में तत्काल राहत के लिए किया जायेगा|

2

मौसम आधारित फसल बीमा योजना (डब्ल्यू०बी०सी० आई०एस०)

अधिसूचित खाद्य फासले, तिलहन एवं वार्षिक बागबानी/vanijyवाणिज्यिक फसलों के लिए बीमा सुरक्षा

 

 

अधिसूचित फसलों के लिए बीमांकित प्रीमियम दर, अधिकतम 10 और 8% अधिकतम खरीफ एवं रबी में और 12% प्रीमियम के साथ वाणिज्य और बागवानी फसलों के लिए वसूल की जाती है|

अ.    2%तक शून्य अनुदान

ब. 2 से अधिक 5% तक 25% अनुदान

स. 2 से अधिक 8% तक 40% अनुदान

द. 2 से अधिक 50% तक  अनुदान दी जाती है|

 

 

 

 

यदि मौसम सुचनांक (वर्षा/तापमान/आपेक्षित आर्द्रता/हवा की गति आदि) में अधिसूचित फसल के गारंटीशुदा मौसम सूचकांक से परिवर्तन कमी या वृद्धि होता है, तो अधिसूचित क्षेत्र के सभी किसानों को क्षतिपूर्ति भुगतान अंतर अथवा कमी के समतुल्य किया जाता है|

3

नारियल पाम बीमा योजना

नारियल पाम उत्पादकों के लिए बीमा सुरक्षा

 

 

प्रति पाम प्रीमियम दर का रु० 9:00(4 से 15 वर्ष की आयु सीमा में) से रु० 14:00 (16 से 60 वर्ष की आयु सीमा में )

 

 

दभी श्रेणी के किसानों को प्रीमियम में 50 से 75% की सब्सिडी दी जाती है|

 

 

पाम फसल क्षतिग्रस्त होने के स्थिति में अधिसूचित क्षेत्रों के सभी बीमित किसानों को क्षतिपूर्ति भुगतान आदानों के मूल्य में नुकसान क्षति के समतुल्य देय होता है|

किससे सम्पर्क करें?

जिला कृषि पदाधिकारी, जिला उद्यान पदाधिकारी, परियोजना पदाधिकारी आत्मा|

 

स्रोत: - कृषि एवं गन्ना विकास विभाग, झारखण्ड सरकार

3.02777777778

अपना सुझाव दें

(यदि दी गई विषय सामग्री पर आपके पास कोई सुझाव/टिप्पणी है तो कृपया उसे यहां लिखें ।)

Enter the word
नेवीगेशन
Back to top

T612019/09/21 01:36:51.283885 GMT+0530

T622019/09/21 01:36:51.306255 GMT+0530

T632019/09/21 01:36:51.409414 GMT+0530

T642019/09/21 01:36:51.409942 GMT+0530

T12019/09/21 01:36:51.261040 GMT+0530

T22019/09/21 01:36:51.261225 GMT+0530

T32019/09/21 01:36:51.261382 GMT+0530

T42019/09/21 01:36:51.261525 GMT+0530

T52019/09/21 01:36:51.261613 GMT+0530

T62019/09/21 01:36:51.261684 GMT+0530

T72019/09/21 01:36:51.262472 GMT+0530

T82019/09/21 01:36:51.262665 GMT+0530

T92019/09/21 01:36:51.262898 GMT+0530

T102019/09/21 01:36:51.263120 GMT+0530

T112019/09/21 01:36:51.263166 GMT+0530

T122019/09/21 01:36:51.263265 GMT+0530